अब हरपथ एप पर टूटी सडक़ की शिकायत का समाधान 15 दिन की बजाय 10 दिन में होगा:डा. राकेश गुप्ता

0
129

गुरुग्राम:

गुरुग्राम जिला की सडक़ों को गड्डामुक्त बनाने के लिए लॉंच किए गए हरपथ एप पर टूटी सडक़ या सडक़ में गड्डे की शिकायत मिलते ही अधिकतम 10 दिन में उस शिकायत का समाधान कर दिया जाएगा।
हरियाणा के मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डा. राकेश गुप्ता की अध्यक्षता में आज आयोजित वीडियों कॉन्फें्रसिंग में यह जानकारी दी गई। इस वीडियो कॉन्फें्रसिंग में गुरुग्राम जिला में नगराधीश मनीषा शर्मा तथा मुख्यमंत्री की सुशासन सहयोगी गुंजन गहलोत उपस्थित थी। डा. गुप्ता ने आज वीडियों कॉन्फें्रसिंग के माध्यम से प्रदेश के सभी जिलों में हरपथ एप, सीएम विन्डों, स्वच्छ मैप एप तथा सोशल मीडिया ग्रीवेंस ट्रैकर योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा की।


हरपथ एप की समीक्षा के दौरान बताया गया कि कोई भी व्यक्ति गुगल प्ले स्टोर से अपने मोबाईल पर हरपथ एप डाउनलोड कर सकता है। यह एप एंडरोएड तथा आईफोन दोनो पर डाउनलोड की जा सकती है। मोबाइल एप की खास बात यह है कि इसमें प्रदेश की सभी सडक़ों की जियो टैंगिंग की गई है। इस मोबाइल एप को डाऊनलोड करने के बाद आप स्वयं को इस पर रजिस्टर करें। इसके उपरंात आप जब भी सडक़ के गड्डे की फोटो खींचकर हरपथ एप में डालें, उस समय आपके मोबाईल पर जीपीएस ऑन रहना चाहिए। इस एप पर आप अपनी शिकायत का स्टेटस भी देख सकते हंै। शिकायत का समाधान होने उपरंात उसके स्टेटस में इसकी सूचना आपको दी जाएगी। इस एप के माध्यम से प्राप्त होने वाली शिकायत को दूर करने के लिए सरकार ने 10 दिन का समय निर्धारित कर रखा है। पहले तीन दिन शिकायत को एक्रोलिज करने के लिए दिए गए हंै तथा अगले सात दिन में शिकायत का समाधान किया जाएगा। पहले इस एप के माध्यम से टूटी सडक़ की शिकायत दूर करने के लिए 15 दिन का समय निर्धारित किया गया था। नगराधीश मनीषा शर्मा हर सप्ताह इस एप के माध्यम से मिलने वाली शिकायतों पर की गई कार्यवाही की समीक्षा करेंगी।

– नगराधीश ने आम जनता से किया आह्वान, अपने शहर को साफ रखने के लिए हरपथ एप डाउनलोड करें।
– सोहना नगरपालिका क्षेत्र में 1400 लोगों ने किया एप डाउनलोड, 56 शिकायतों का हुआ निपटारा।
– कॉलेज व वरिष्ठ माध्यमिक स्कूलों के विद्यार्थियों को बनाया जाएगा कैंपस एंबैस्डर-मनीषा शर्मा।


वीडियों कॉन्फें्रसिंग में स्वच्छ मैप एप की समीक्षा के दौरान नगराधीश ने बताया कि गुरुग्राम जिला की सोहना नगरपालिका के प्रयासों से सोहना क्षेत्र के 1400 लोगों ने इस एप को डाउनलोड किया है। सोहना नगरपालिका क्षेत्र में एप के माध्यम से सडक़ में गड्ढों के बारे में प्राप्त 56 शिकायतों का निपटारा भी किया गया है। नगराधीश ने अतिरिक्त प्रधान सचिव को बताया कि एप के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि विशेषकर कॉलेज, आईटीआई, बस अड्डा, मार्केट एसोसिएशन आदि को बताया जा रहा है कि वे स्वच्छ मैप एप के माध्यम से अपने क्षेत्र को साफ व सुंदर बनाए रखने में नगरपालिकाओं का सहयोग कर सकते हैं। उन्हें यह समझाया गया है कि कहीं भी कूड़ा नजर आए तो वे उसकी फोटो खींचकर स्वच्छ मैप एप पर डाल दें उसके बाद कूड़ा अथवा कचरा उठाने की जिम्मेदारी नगरपालिका अथवा नगर निगम की होगी। मनीषा शर्मा ने यह भी बताया कि गुरुग्राम जिला की चारों नगरपालिका क्षेत्रों में पडऩे वाले कॉलेज, युनिवर्सिटी अथवा वरिष्ठ माध्यमिक स्कूलों के विद्यार्थियों को कैम्पस एम्बस्डर बनाया जाएगा ताकि वे अपने अन्य साथियों को भी अपने शहर को साफ रखने में सहयोग देने के लिए प्रेरित कर सकें ।


सोशल मीडिया ग्रीवेंस टै्रकर से प्राप्त शिकायतों के निपटारें में गुरुग्राम प्रदेश में पहले नंबर पर।
वीडियों कॉन्फें्रसिंग में सोशल मीडिया ग्रीवेंस ट्रैकर की समीक्षा करते हुए डा. राकेश गुप्ता ने गुरुग्राम जिला की सराहना करते हुए कहा कि इस विषय में गुरुग्राम जिला प्रदेश में पहले स्थान पर है। बताया गया कि सोशल मीडिया ग्रीवेंस ट्रैकर के माध्यम से मिलने वाली शिकायतों का एवरेज एक्रोलेजमेंट टाईम जिला गुरुग्राम में 20 मिनट है जोकि पहला स्थान शेयर कर रहे करनाल जिला से कम है। अब गुरुग्राम जिला में सोशल मीडिया से मिलने वाली शिकायत का निपटारा औसतन 31 घंटे 38 मिनट में हो रहा है जबकि पहले निपटारा लगभग 70 घंटों में होता था। इसी के परिणामस्वरूप गुरुग्राम जिला प्रदेश में 22वें रंैक से 17वें रैंक पर आया और अब पहले रैंक पर आ गया है। इस उपलब्धि के लिए डा. गुप्ता ने नगराधीश मनीषा शर्मा को बधाई दी जिनके कार्यभार संभालने के बाद यह सुधार आया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here