जीन्द बाईपास का निर्माण कार्य शुरू, पूर्व सांसद सुरेन्द्र बरवाला ने किया शुभारम्भ

0
27

बाईपास के निर्माण कार्य पर 552 करोड़ रूपये की राशि होगी खर्च। 

Ajeybharat/Jind/ जिला के लोगों की जीन्द बाईपास के निर्माण की 20 साल पुरानी मांग पूरी होने जा रही है। सोमवार को पूर्व सांसद सुरेन्द्र सिंह बरवाला ने जीन्द रोहतक रोड़ पर स्थित अनुपगढ़ गांव के पास इस बाईपास के निर्माण कार्य का नारियल तोड़कर विधिवत रूप से शुभारम्भ किया। इस अवसर पर बीजेपी के कई पदाधिकारी तथा जिला प्रशासन के कई वरिष्ठ अधिकारियों समेत क्षेत्र के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

पूर्व सांसद ने बाईपास के निर्माण कार्य का शुभारम्भ करने के उपरान्त कहा कि जिला के लोग इस बाईपास को बनवाने के लिए वर्षों से मांग कर रहे थे, लेकिन किसी भी सरकार ने इस ओर विशेष ध्यान नहीं दिया। जिसके परिणाम स्वरूप इस बाईपास का निर्माण नहीं हो सका। भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद लोगों की मांग तथा जीन्द जिला की जरूरत को देखते हुए सरकार ने इसका निर्माण कार्य शुरू करवाया। आगामी 2 वर्षों में जीन्द से दात्तासिंगवाला यानि पंजाब सीमा तक इसका निर्माण कार्य पूरा करवा लिया जायेगा। राज्य सरकार द्वारा इस बाईपास के निर्माण के लिए गुजरात की दिनेश चन्द्र अग्रवाल नामक कम्पनी को ठेका अॅलाट किया गया है। राज्य सरकार ने कम्पनी को निर्देश दिये है कि जीन्द बाईपास का निर्माण कार्य आगामी एक वर्ष में ही पूरा करवाना सुनिश्चित करे ताकि जिला के लोगों को बेहतरीन यातायात सुविधाएं उपलब्ध हो सके। हालांकि जीन्द से दात्ता सिंहवाला तक इस सड़क का निर्माण 2 वर्ष में पूरा करवाया जाना है। 


पूर्व सांसद ने बताया कि इस बाईपास के बन जाने से एक तरफ जहां लोगों को बेहतरीन यातायात सुविधा उपलब्ध होगी, वहीं जीन्द शहर से वाहनों का दबाव कम होगा और दुर्घटनाओं पर भी अंकुश लगेगा। उन्होंने बताया कि यह बाईपास चार लेन का होगा। जिसके निर्माण कार्य पर लगभग 552 करोड़ रूपये की राशि खर्च की जायेगी। लगभग 70 किलोमीटर लम्बाई के इस रोड़ पर चार फ्लाईओवर तथा एक आरओबी बनाया जायेगा। इस बाईपास पर बनने वाला आरओबी पिण्डारा रेलवे लाईन के ऊपर से होकर गुजरेगा। वहीं चारों फ्लाईओवरों का निर्माण जनता की सुविधा के अनुरूप बाईपास पर पडऩे वाले नैशनल हॉईवे पर बनाये जायेगें ताकि लोगों को आवाजाही में किसी प्रकार की कोई दिक्कत न हो। 

उन्होंने कहा कि इस बाईपास के बनने से न केवल जिला के लोगों को फायदा मिलेगा, बल्कि देश एवं प्रदेश के जीन्द जिला से होकर गुजरने वाले हर वाहन चालक को सुविधा प्रदान होगी। बाईपास के निर्माण से वाहनों को शहर से होकर गुजरने की जरूरत नहीं होगी। वाहन इस बाईपास के ऊपर से सीधे सफीदों, कैथल तथा अन्य जिलों को जाने वाली सड़कों पर सीधे निकल सकेगें। उन्होंने कहा कि वर्ष 2008 में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने इस बाईपास के निर्माण के लिए आधारशीला रखी थी। लेकिन बाईपास का निर्माण कार्य शुरू नहीं हो सका। बीजेपी की सरकार बनने के बाद इस परियोजना की ओर विशेष ध्यान दिया गया, जिसके फलस्वरूप इस बाईपास पर निर्माण कार्य शुरू हो गया है। सरकार प्रयास रहेगा कि जिला के लोगों की वर्षों पुरानी इस मांग को जल्द पूरा करवाकर जीन्द जिला के लोगों को एक बड़ी सौगात दी जाये। 

एसवाईएल मुद्दे पर भी बोले पूर्व सांसद-: पूर्व सांसद ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार सबका साथ सबका विकास के अपने नारे के साथ काम कर रही है। सरकार द्वारा सभी वर्गों एवं क्षेत्रों का बिना किसी भेदभाव एवं पक्षपात के विकास करवाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विपक्षी पार्टियों के लोग प्रदेश में हो रहे विकास को हजम नहीं कर पा रहे है। विपक्षी पार्टियों के लोग अक्सर मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल को उन्ही कामों को लेकर मांग पत्र देते है जो काम पहले ही धरातल पर शुरू हो चुके होते है। विपक्षी पार्टियों के पास सरकार की आलोचना करने का कोई मुद्दा नहीं है। उन्होंने कहा कि इनेलो द्वारा एसवाईएल को लेकर आज किया जा रहा रोड़ रोको प्रदर्शन मात्र एक दिखावा है। अगर इनेलो चाहती तो वह सत्ता में रहते हुए एसवाईएल को लेकर ठोस कदम उठाती, लेकिन इस विपक्षी पार्टी के नेताओं ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया। 
—————–

Image may contain: 13 people, people smiling, people standing and outdoor

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here