नारा लगाने से गोसेवा नही होती हे गौमाता की रक्षा करोंगे वही गौसेवा है- सुश्री दीदी जयमाला वैष्णव

0
511

नीमच :

हर मे तीन बेटे पहला गृहस्थी जीवन में रहे अपने परिवार मे बुढे माता पिता की सेवा करे दुसरा संत बनकर अपने कुल का पतित पावनी मां गंगा से सभी का कल्याण करे तीसरा बेटा देश का सेनिक नोजवान बनकर भारत देश की रक्षा के लिए अपना जीवन बलिदान कर दे मायरे में कहा दुनिया वाले सिर्फ नारा लगाते हैं गो माता की रक्षा करो सेवा करो पर ऐसे रक्षा नही होती हर गर व्यक्ति गो माता को रखकर उसकी सेवा करे हम सुधरे तो युग सुधरेगा हम बदले तो ही दुनिया बदलेगी कृष्ण के परम भक्त ग्वालो की टोली में सबने बहुत झुमते नाचते अपने जीवन को आनंदमय बनाया यह बात श्री मारुती रामायण मंडल के तत्वावधान मे 3 दिवसीय नानी बाई का मायरा की कथा के अंतिम दिन मारुती विराय बालाजी मंदिर ग्वाल टोली मंदिर प्रांगण पर मालवा मेवाड की सुप्रसिद्ध कथा वाचक सुश्री दीदी जयमाला वैष्णव ने उपस्थित जनसमुह के बीच कही 

सुश्री जयमाला वैष्णव ने पुरा पांडाल को भक्तिमय कर यह भजन गाए 

घणी दुर से रे दोड्यो थारी गाडुली के लार गाडी मे बिठाले बाबा जाणो हैं नगर अंजार…. …….थे केवो न बाबाजी सांची थाको सांवलियो कद आसी……… तु कितनी अच्छी है तू कितनी भोली है प्यारी प्यारी है ओ माँ मेरी माँ…………… लाम्बी लाम्बी ढाडी टुटी लाया गाडी आय गया नरसी जी…………. एजी म्हारा नटवर नागरिया भक्ता रे क्यों नहीं आयो रे………….. सांवलियो हैं सेठ म्हारी राधा जी सेठाणी हैं सांवलियो हैं सेठ………. चालो ऐ म्हारी कंवर लाडली कलश बंधावो ऐ बिरो म्हारो आयो ऐ……….. कठे सु आई सुठ कठे सु आयो जीरो कठे सु तो आयो थारो सांवल बिरो……. 3 दिवसीय कथा मे नानी बाई का मायरा लाया गया भगवान की शादी की झाँकी के भक्तजनो मे दर्शन किए 

इस अवसर पर नीमच नगर पालिका अध्यक्ष राकेश जैन पप्पु, सेवा संस्थान एवम भारतीय सुभाष सेना के अध्यक्ष नारायण सोमानी जावद, श्री मारुती रामायण मंडल नीमच के सदस्यगण विनोद बुआर, हरदेव सालवी, महेश भारती, भेरुसिंह कोठारी, छगनलाल मेघवाल ,श्रवण शर्मा राज, नंदकिशोर सालवी, किशन खलीफा, हरगोविंद दिवान, युवा नेता भीम भगत ग्वाला आदी श्री मारुती रामायण मंडल के सदस्यगण, युवाजन व वरिष्ठजन उपस्थित थे  तत्पश्चात एक घंटे तक महाआरती हुई प्रशाद वितरण हुआ इसके साथ ही 3 दिवसीय नानी बाई का मायरो की कथा का समापन एतिहासिक तौर पर सम्पन्न हुआ आभार श्री मारुति रामायण मंडल के सदस्यो ने माना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here