पुलिस ने ढूंढ ही निकाला चोटी काटने वाला आरोपी

0
145

New Delhi/बीते कई दिनों से देश के कई कोनों से एक खबर आ रही थी जिसने देश की जनता को परेशान कर रखा था. खबर थी महिलाओं की चोटी अपने अप कट जाने की. अबतक जितने मामले सामने आये उनमे कहा गया कि कोई आता है और महिलाओं की चोटी काट ले जाता है. इससे पहले की वो चोटी काटे वो महिलाओं को बेहोश कर देता है, और फिर बेहोशी की हालत में उनके बाल काट कर फुर्र हो जाता है. ऐसे में जब महिलाएं अपनी बेहोशी से जागती हैं तो उनके पास उनकी कटी चोटी के अलावा और कुछ नहीं रहता. इस मामले की जानकारी मिलते ही देश भर की महिलाओं में दहशत थी.

 

source

पुलिस ने किया दावा कि सुलझ गयी है गुत्थी

ऐसी में देश भर में फैली इस खबर के बाद अब दिल्ली पुलिस ने दावा किया है कि राजधानी दिल्ली में चोटी काटने के एक केस को सुलझा लिया गया है. दरअसल इस मामले में आरोपी कोई और नहीं बल्कि पीड़िता के रिश्तेदार ही निकले हैं.

 

source

क्या है मामला ?

दरअसल दिल्ली के दक्षिणपुरी से संजय गांधी झुग्गी में शुक्रवार को 14 साल की एक लड़की ने ये दावा किया कि दोपहर को किसी ने उसकी चोटी काट ली, और उसके कटे हुए बाल उसके ही कपड़े पर ही मिले थे. हालाँकि बच्ची ने इस मामले पर साफ़ कहा था कि उसने किसी को देखा नहीं, बस कोई आया और उसकी चोटी काट डाली.

source

इस मामले की पड़ताल करने वाले दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि जब उन्होंने केस की जांच शुरू की तो एक के एक सारी सच्चाई सामने आती गई. दक्षिण-पूर्व दिल्ली के डीसीपी रोमिल बानिया के मुताबिक, “जब उन लोगों ने तथ्यों की जांच के लिए वहां पर एक पुलिस टीम भेजी, तो शुरुआती जांच में सामने आया कि लड़की का 10 साल का छोटा भाई और 12 साल के उसके एक भतीजे ने शरारत में लड़की चोटी काट दी थी.” बताया जा रहा है कि घटना के वक्त लड़की सो रही थी.

source

इस मामले में जब पुलिस ने लड़की के घरवालों से पूछताछ की तो उन्हें इन बच्चों की बात में कुछ गड़बड़ी नजर आई. यहाँ पुलिस को पहला सुराग मिल चुका था. ऐसे में  पुलिस ने जब जोर देकर बच्चों से पूछताछ की तो सारी सच्चाई सामने आ गई.

source

पुलिस के आगे सच्चाई बताते हुए बच्चों ने क़ुबूला कि उन्होंने शरारतवश अपनी बहन की चोटी काट दी थी. दिल्ली पुलिस ने दावा किया कि लड़की के माता पिता ने लिखित रुप से ये बात पुलिस को बताई इसके बाद केस को बंद कर दिया गया.

source

हालांकि राजधानी के दूसरे चोटी काटने के केस में पुलिस को अब तक सुराग नहीं मिल पाया है. लोग अबतक डरे हुए हैं, और तरह तरह की अंधविश्वास भरी बातें कर रहे हैं. कोई इस चोटी काटने वाली बात को भूत-प्रेत से जोड़ कर देख रहा है तो कोई इसे काला जादू समझ रहा है.

source

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि दिल्ली , हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान में चोटी काटने की लगभग 100 से ज्यादा घटनाएं सामने आ चुकी हैं. इस घटना से लोग इस कदर डर चुके हैं कि लोग इसे प्रेतात्मा की करतूत बता रहे हैं.

source

खुद के घर की महिलाओं और बेटियों को इस हमले से बचाने के लिए लोग अपने घर में नीम की टहनियां लगाने समेत कई टोटके कर रहे हैं. हालांकि दिल्ली पुलिस का कहना है कि ज्यादातर मामले में महिलाएं खुद इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रही हैं. तो कुछ केस में ये पीड़ित महिलाओं के रिश्तेदारों का काम लगता है. हालांकि पुलिस इन केस में अबतक कोई सबूत नहीं दे सकी है..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here