Categorized | INDIA

भारत विकास परिसर द्वारा लगाया गया बार में रक्तदान शिविर, DC ने किया शुभारम्भ

भारत विकास परिसर द्वारा लगाया गया बार में रक्तदान शिविर, DC ने किया शुभारम्भ

डीसी ने न्यायिक परिसर में किया पौधा रोपण। 
डीसी ने किया वकीलों के चैम्बर व लाईब्रैरी का निरीक्षण। 

Ajeybharat/Jind/डीसी अमित खत्री ने सोमवार को स्थानीय न्यायिक परिसर में पौधा रोपण कर जिला को हरा- भरा बनाने की मुहिम को गति प्रदान की। इस मौके पर जीन्द के एसडीएम अश्वनी मलिक ने भी परिसर में पौधा रोपण कर जिला को हरा- भरा बनाने में जनसाधारण को अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए प्रेरित किया। 
डीसी अमित खत्री ने इस मौके पर वकीलों के चैम्बर का भी अवलोकन किया। उन्होंने खुशी जाहिर की कि वकील समाज के प्रबुद्ध वर्ग में शामिल है। चैम्बर में पूरी शांति व व्यवस्था को देखकर वे वकीलों की कार्य प्रणाली के कायल हो गये। उन्होंने कहा कि यहां 750 के आसपास वकीलों का स्थाई पंजीकरण है। इसके अलावा 200 से अधिक और वकील भी यहां शांतिपूर्ण महौल में काम कर रहे है। उन्होंने कहा कि यह मेरे लिए एक सुखद अनुभव से कम नहीं है। उन्होंने वकीलों की लाईब्रैरी में जाकर व्यवस्था का आकलन किया। उन्होंने विश्वास दिलाया कि लाईबै्ररी के विस्तार की वकीलों की इस मांग पर सहानुभूति पूर्वक कार्यवाही आगे बढ़ाई जायेगी। उन्होंने परिसर में पूर्व की दिशा में वाहन पार्किंग व्यवस्था को देखा। यहां पर सैड बनाने की मांग को न्यायोचित ठहराते हुए उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग से इसकी कार्य योजना तैयार करवाकर उन्हे भिजवाये ताकि आगामी कार्यवाही सिरे चढ़ाई जा सके। 
इसके बाद डीसी ने भारत विकास परिसर के सहयोग से वकीलों के बार रूम में आयोजित स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का रक्तदाताओं को बैज लगाकर तथा स्वामी विवेकानन्द की मुर्ति के सम्मुख दीप प्रज्जवलन कर शिविर का शुभारम्भ किया। उन्होंने बार रूम में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि वकील लोगों को न्याय दिलवाने के साथ- साथ स्वयं सेवी संस्थाओं के साथ मिलकर समाज सेवा का काम भी कर रहे है। निश्चित रूप से वकीलों के इस काम की सराहना की जानी चाहिए। डीसी ने भारत विकास परिसर के पदाधिकारियों के प्रयासों की भी मुक्तकंठ से प्रशंसा की और कहा कि रक्तदान करना सबसे बड़ा पुन्य का काम है। कोई भी स्वस्थ व्यक्ति हर तीन महीने बाद रक्तदान कर सकता है। दान किया गया रक्त किसी भी बुझती हुई जिन्दगी को रोशन कर सकता है। इसलिए रक्तदान का महत्व और भी बढ़ जाता है, क्योंकि मानव रक्त का कोई विकल्प नहीं है। मानव रक्त की भरपाई रक्तदान करके ही पूरी की जा सकती है। उन्होंने रक्तदाताओं को सबसे बड़ा दानी कहा। रक्तदान शिविर में 85 यूनिट रक्त संग्रहण किया गया। 
कार्यक्रम में जिला बार के प्रधान जसबीर कुन्डू ने डीसी के सम्मुख मांग रखी कि यहां उन्हे दस्तावेज लेखक उपलब्ध करवाया जाये। सैड व पेयजल की समुचित व्यवस्था करवाई जाये। बार के प्रधान ने कहा कि कोर्ट परिसर के पूर्व में दिवार के साथ लगती खाली पड़ी जगह पर ग्रीन बैल्ट विकसित की जायेगी। यहां पर सजावटी व छायाकार पौधे लगाये जायेगें। इस पर डीसी अमित खत्री ने सुझाव दिया कि पौधा रोपण करने के बाद ट्री गार्ड अवश्य लगाये जाये। पौधो की परवरिश का जिम्मा भी वकीलों को लेना होगा। उन्होंने कहा कि जीन्द जिला का शोभाग्य है कि यहां डीसी के रूप में तथा एसडीएम के रूप में युवा अधिकारी मिले है। निश्चित रूप से युवा अधिकारी अपनी कार्य प्रणाली से बेहतर तरीके से लोगों की सेवा करेगें। 
भारत विकास परिसर भुतेश्वर शाखा के प्रधान जितेन्द्र नाथ, प्रात्र्ंाीय प्रधान वीपी गुप्ता, पूर्व वीसी अविनाश कुमार चावला, सुशील गुप्ता व अन्य पदाधिकारी इस मौके पर उपस्थित रहे। अविनाश कुमार चावला ने कहा कि भारत विकास परिसर एक विश्व व्यापी संस्था है और हमेशा समाजोंत्थान के कार्यों में तल्लीन रहती है। इस मौके पर रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव राजकपूर सूरा, वरिष्ठ वकील बलराज श्योराण, सुरेश गर्ग, आरसी शर्मा, योगेश गुप्ता, पिल्लूखेड़ा मार्किंट कमेटी के चैयरमेन हवा सिंह देशवाल, पूर्व प्रधान वीरेन्द्र लाठर , बार पदाधिकारी सुरेन्द्र रेढू, पवन कुमार गुप्ता, चन्द्र सिंह सुशील , ईश्वर श्योकन्द, ईश्वर सांगवान, व अन्य गणमान्य व्यक्ति व वकील मौजूद रहे।

Image may contain: 3 people, people smiling, people standing, plant and outdoor

Image may contain: 4 people, people sitting and indoor

Image may contain: 3 people, people standing and outdoor

This post was written by:

- who has written 1481 posts on Ajey Bharat.


Contact the author

advert