भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे सुजीत स्वामी की जान को खतरा!

0
453

मंडी:

सुजीत स्वामी आईआईटी मंडी, हिमाचल प्रदेश में नवंबर 2016 से जूनियर असिस्टेंट के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने 21 मई 2018 को प्रेस मीटिंग बुलाकर आईआईटी जैसे देश के उच्च शिक्षण संस्थानों में भर्ती, एडमिशन एवं टेंडरिंग में हो रहे भारी घोटालों का सबूतों के साथ पर्दाफाश किया था।

यही नहीं उन्होंने संस्थान के डायरेक्टर जिसे महामहिम राष्ट्रपति की परामर्श के बाद नियुक्त किया जाता है पर गंभीर आरोप पुख्ता सबूतों के साथ लगाए थे। सुजीत ने बताया था कि यहां भाई-भतीजावाद के साथ ही चहेतों को नौकरी देने में मिलजुल कर घपला किया जाता है, कर-दाता के पैसे की बर्बादी होती है, नियमों को ताक पर रखकर सैलरी में 200% तक की बढ़ोतरी की जा रही है। इन्हीं सब खुलासे के बाद से शांत हिमाचल में एक अजीब सा माहौल पनप गया था।

अब आईआईटी मंडी से ही किसी अज्ञात व्यक्ति की तरफ से एक लैटर आया है। जिसमें बताया गया है कि सुजीत स्वामी की जान को खतरा है।आईआईटी के कथित घोटालों पर से पर्दाफाश करने वाले सुजीत स्वामी को आईआईटी मंडी के लिफाफे में मिले पत्र के माध्यम से बताया की आपकी जान को आईआईटी मंडी में खतरा है। इसके अलावा आपको फर्जी केस में भी फंसाए जाने की प्लानिंग चल रही है।

सूजीत स्वामी को मिले पत्र पर अज्ञात व्यक्ति के नाम से आए पत्र में लिखा है कि आईआईटी के लगभग सारे कर्मचारी सुजीत के साथ हैं लेकिन मज़बूरी और नौकरी की डर से वह सामने नहीं आ सकते लेकिन यदि कोई समिति जांच के लिए आती है तो और भी चौकाने वाले खुलासे होंगे ।

5-5 लाख में मिल रही नौकरी-

पत्र में कई चौकाने वाले खुलासे हुए जिसमे बताया गया की आईआईटी के अधिकारी सस्ते सामान को महंगे रेट में खरीदते हैं और टीवी महंगी  गिफ्ट वेंडर से लेते है ,उसके अलावा पत्र में बताया गया है की अभी जो पोस्ट निकाली गई है उस पर चयन होने के लिए पांच-पांच लाख तक की मांग की जा रही है और पहले की नौकरी में भी इसी तरह से पैसे दिए जाते रहे हैं  ।

हनी ट्रैप में फ़साने का भी किया जिक्र-

पत्र में सुजीत को जगह किया की आपको किसी प्रकार के हनी ट्रैप में भी फ़साने की साजिश की जा रही है ताकि आप आगे कार्रवाही न कर पाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here