Categorized | INDIA

महेंद्रगढ़ जिले के बसपा कार्यकर्ताओं द्वारा नारनौल स्थित नई कचहरी मैदान में बसपा प्रमुख मायावती का 62वां जन्म दिन बड़ी धूमधाम से मनाया गया।

महेंद्रगढ़ जिले के बसपा कार्यकर्ताओं द्वारा नारनौल स्थित नई कचहरी मैदान में बसपा प्रमुख मायावती का 62वां जन्म दिन बड़ी धूमधाम से मनाया गया।

सर्वसमाज के सम्मान व स्वाभिमान की प्रतीक बसपा सुप्रीमो के जन्म दिन पर कार्यक्रम के मुख्यातिथि डॉo कृपाराम पुनिया – पूर्व आईएएस अधिकारी व पूर्व मंत्री हरियाणा सरकार ने केक काटकर खुशियां मनाई और शुभकामनाएं दी, उन्होंने अपने संबोधन में बहन कुo मायावती को दलितों, पिछड़ों व शोषित लोगों के हकों के लिए लड़ने वाली जिंदा देवी बताया, उन्होंने कहा कि आज बाबा साहेब डॉo भीमराव आंबेडकर के द्वारा लिखा गया दुनिया का सर्वश्रेष्ठ भारतीय संविधान कुछ मनुवादी ताकतों की कुत्सित मंशा के चलते संकट में है, उन्होंने समस्त बहुजन समाज से अपने व्यक्तिगत हितों औऱ स्वार्थों को त्याग कर संविधान की रक्षार्थ बसपा के नीले झंडे के नीचे एकजुट होने का आह्वान किया।


जन्म दिवस को जनकल्याण कारी दिवस के रूप में मनाने के कारण इस मौके पर वंचित तबके के 200 जरूरतमंद लोगों को कम्बल भी वितरित किये गए।
जिले भर से आये पार्टी कार्यकर्ताओं ने पार्टी झंडे लगी सैंकड़ों बाइकों के काफिले के साथ शहर के मुख्य बाजार से मंच स्थल तक 'बाबा साहेब अमर रहे', 'माo कांसीराम अमर रहे' के गगनभेदी नारों के साथ फूलमालाओं से मुख्यातिथि और उनके साथ आये अन्य आगन्तुकों का जोरदार स्वागत किया।
आयोजन के विशिष्ट अतिथि जिला प्रभारी अशोक दास नारनौलिया, पार्टी जिला अध्यक्षा सुनीता वर्मा तथा मंचासीन राष्ट्रपति अवार्डी पूर्व सरपंच रोशनी देवी तथा आज ही पार्टी को ज्वाइन करने वाले नीरपुर से प्रदीप यादव ने भी सभा को संबोधित किया।


अटेली से पार्टी प्रत्याशी रही सुनीता वर्मा ने कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सभी आगन्तुकों और आर्थिक सहयोगकर्ताओं का भी मंच से आभार व्यक्त किया, उन्होंने कहा कि बसपा विधानसभा चुनाव के लिए पूरी तरहं से तैयार है, और कार्यकर्ताओं से भी तय समय से पहले जल्द चुनाव होने का संकेत देते हुए बहुजन समाजहित में पार्टी के लिए चुनावी कमान संभालने का आह्वान किया, वर्मा ने कहा कि इस बार बसपा प्रदेश की सत्ता में अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज कराएगी।
जनसभा में वक्ताओं ने भिमाकोरे गांव हिंसा प्रकरण और सुप्रीम कोर्ट के चार जजों द्वारा देश के हालात तथा लोकतन्त्र के लिए खतरा बताने वाले दिए गए बयानों के मुद्दे भी उठाये।


इस अवसर पर मिशनरी सिंगर हवासिंह बौद्ध, सिवानी से रामनिवास खिच्ची, नांगल चौधरी विधानसभा अध्यक्ष विक्रम चौधरी, अटेली से प्रमोद कटारिया, आशा पुनिया, के.डी. सूंठवाल, नीरज अम्बेडकर, राहुल बौद्ध, प्रधान रतिराम दोस्तपुर, पंकज डाडैया, संदीप यादव, माडूराम सरपंच, दलबीर हवलदार, कपिल देव बाछौदिया, घमन सिंह मण्डलाना, डॉo रामेश्वर दयाल, बीएल गोठवाल, कृष्ण, दलीप नांगलचौधरी, कांसीराम सेका, फौजी धनखड़, बुधराम चौधरी, सुमित मेहरा मिर्जापुर, रविन्द्र बौद्ध, सचिन ककराला, लालसिंह प्रिंसिपल, सतपाल चोटीवाला, सुमन बौद्ध, रामसिंह नम्बरदार, मनोज लहरोडिया, सुनील पुनिया पूर्व एक्सईन रिटायर्ड सहित सैकड़ों पार्टी कार्यकर्ता मौजूद थे

This post was written by:

- who has written 1534 posts on Ajey Bharat.


Contact the author

advert