Archive | EDUCATION

Free Guest Posting websites – Digitalized Web

Guest posting/Guest blogging is not just about getting backlinks. It is an opportunity to target new audience, increase subscribers, grow your online audience and build relationships with other niche influencers.

Guest blogging can benefit you if you do it right. It’s a game not everyone can play, but to play well and win, you would need to know few things and follow certain steps.

The first thing you should do is to determine the purpose of your guest blog. Why do you want to publish your content on other sites? As I said earlier, for a backlink or getting more followers. This should not take much time but is more important.

The second most important step is to find guest posting opportunities. Not every site on the internet accept guest posts but a few of them do. Everyone wants to publish content on top guest blogging sites but very few of them get through successfully.

Most of the guest bloggers intend to write for getting backlinks. To do this right, you would need to take care of few things. To publish your post on high authority sites, you would have to write high quality content. Otherwise, targeting multiple less authority sites would be the ultimate goal.

To help you get out of the research process I have listed below a big list of sites that accept guest posts. Before reaching out for guest posting, make sure your site has quality content, otherwise you would be looking to reduce bounce rate.

Instant Approval List of free Guest Blogging Sites 2017

Importance of Guest Blogging in SEO

Blog is an attractive source for brand or service promotions which mostly use business persons and marketing experts to introduce something for the specific community. Why blogs are important and what have blogs importance for SEP expert? This is very important and informative acknowledgment for newbies to learn the importance of blogs for SEO. Search Engine Optimization (SEO) is now has become a giant and have lots of attractions for business communities to earn profit from it. SEO helps to optimize your blog contents over social media and on search engines as well. People create blogs to express their services, skills, specialties, and brand awareness for peoples. Blog posting is impressive for SEO and provides strong and authentic sources get traffic response. The Benefits of blogging for business and marketing are a lot and professional blogger uses special tricks and techniques to make quality blogs. A quality blog always attracts communities due to uniqueness and interesting material that match with public interest.

Use Quality Material and Creative Stuff for Blogs

Blogging helps to generate traffic and provide them their search relevant results. Blogs provides sources of back links and the quick response from the public. Blogging helps to create a chain and a network cycle of social media and helps owners to get fast traffic from social media contributions. Role of social media in blog development is very important which cannot be ignored during creating of a quality blog. Blogs provides great acknowledgment of products and services to the people and in response the blog owner catch the traffic by introducing quality and unique staff according to the requirements and the tastes of the people. Up gradation should be made in blogs to retain traffic and to bring more and more traffic by launching innovation ideas and interest oriented techniques. Use unique and creative SEO marketing techniques to promote blogs and regularly update your blogs to engage traffic for long time.The following are the most popular and widely used blog posting websites of this year 2016 for all types of bloggers

To help you get out of the research process I have listed below a big list of sites that accept guest posts. Before reaching out for guest posting, make sure your site has quality content, otherwise you would be looking to reduce bounce rate.

# Blog Title DA Contact Category
1 Digitalized Web Free Submit Business
1 Forbes 97 Submit Business
2 Tech Gadgets 97 Submit Technology
3 The Guardian 96 Submit Entertainment, finance, business, sports
4 Mashable 94 Submit Social media, technology, business, entertainment
5 Business Insider 93 Contribute News, business, sports, etc
6 Tech Crunch 93 Submit Technology, finance
7 Politico Magazine 93 Submit Politics
8 eLearn Magazine 92 Submit Education, reviews
9 Moz 91 Submit SEO, marketing, blogging
10 Fast Company 91 Submit Business, finance, technology
11 Entrepreneur 90 Contribute Marketing, social media, business, finance, news
12 Search Engine Land 90 Submit SEO, marketing
13 Inc Magazine 90 Submit Finance
14 Hubspot 89 Submit Marketing
15 Venture Beat 89 Submit Technology
16 Smashing Magazine 89 Submit Web design
17 A List Apart 88 Submit Web design, content
18 Psychology Today 88 Submit Psychology, self improvement
19 Copyblogger 87 Submit Blogging, marketing
20 Read Write 86 Submit Technology
21 Creative Bloq 85 Submit Blogging, web design
22 Health Line 85 Submit Fitness, health
23 Investopedia 85 Submit Finance
24 Social Media Examiner 84 Submit Social media
25 Content Marketing Institute 84 Submit Content marketing
26 Site Point 83 Submit Web design, technology
27 Kissmetrics 82 Submit Web Analytics, case studies, landing page optimization
28 GetResponse 82 Submit Marketing, productivity, platform, automation
29 The Kitchen 82 Submit Food
30 Small Business Trends 82 Submit Business
31 Edutopia 81 Submit Education
32 Marketing Land 81 Submit Marketing, SEO
33 Life Hack 81 Submit Self improvement
34 Open Democracy 80 Submit Politics
35 Social Media Today 79 Submit Business, social media, marketing
36 Sonic Bids 79 Submit Music
37 Web Designer Depot 78 Submit Web design
38 CoSchedule 77 Submit Content marketing, blogging, social media
39 MarketingProfs 77 Submit Marketing
40 Benchmark 77 Submit Marketing, social media, SEO
41 Travel Blog 77 Submit Travel
42 Manning 76 Submit Technology
43 OutBrain 76 Submit Blogging, marketing
44 Pole Position Marketing 75 Submit Digital marketing, marketing, analytics, SEO, social media, web design
 45 Convince & Convert 75 Submit Social media, online marketing
46 Greatist 75 Submit Health, relationships
47 Oil Price 75 Submit Finance
48 Hello BC 75 Submit Camping
49 Hongkiat 74 Submit Web design, technology
50 Digital Photography School 74 Submit Photography
51 Colossal 73 Submit Photography
52 Digital Inspiration 73 Submit Web design, blogging, technology
53 Cafe Mom 72 Submit Family
54 Daily Blog Tips 72 Submit Blogging, marketing
55 Above the law 71 Submit Law
56 Hostel Bookers 71 Submit Travel
57 Go Abroad 70 Submit Travel
58 Get Rich Slowly 70 Submit Finance
59 Contact Music 70 Submit Music
60 Thesitegirls 69 Submit Blogging, social media
61 Money Crashers 69 Submit Finance
62 One Green Planet 65 Submit Environment
63 Advanced Web Ranking 64 Submit Marketing, SEO
64 B2Bmarketing 63 Submit Blogging, marketing
65 Pick The Brain 63 Submit Self improvement
66 The Blog Herald 63 Submit Marketing, blogging
67 Bigger Pockets 63 Submit Finance
68 Search Engine People 62 Submit SEO, social media
69 Design Shack 62 Submit Web design
70 Money Saving Mom 62 Submit Finance
71 Post planner 61 Submit Social media
72 Killer Startups 61 Submit Entrepreneur
73 Socialnomics 60 Submit Business, social media
74 The Bark 60 Submit Pets
75 Instant Shift 60 Submit Web design
76 Mailjet 60 Submit Email marketing
77 Curbly 59 Submit Home design
78 TheplanetD 59 Submit Travel
79 TechWyse 58 Submit SEO, social media, marketing
80 Escape Artist 57 Submit Real estate
81 Travel Supermarket 57 Submit Travel
82 Shout Me Loud 56 Submit SEO, marketing
83 Inspiration Feed 56 Submit Web design, SEO, social media
84 Modest Money 54 Submit Finance
85 Men With Pens 53 Submit Business
86 eDreams 53 Submit Travel
87 Kikolani 53 Submit Blogging, marketing
88 Addicted 2 Success 52 Submit Entrepreneurship
89 Well-BeingSecrets 52 Submit Well-being
90 Brain Blog 51 Submit Health
91 Marketing Tech News 51 Submit Marketing
92 Crazy Leaf Design 51 Submit Web design
93 Sociable Blog 51 Submit Social media, marketing, growth hacking
94 Craftbits 51 Submit Craft
95 Craft Gossip 51 Submit Craft
96 Hinge Marketing 51 Submit Marketing
97 Incomediary 51 Submit Make money online
98 Inc 42 50 Submit Blogging, marketing
99 Love My Dress 50 Submit Wedding
100 Viral Blog 50 Submit Social media, technology
101 Video Brewery 50 Submit Video
102 Traffic Generation Cafe 49 Submit Traffic generation strategies
103 Today’s Mama 49 Submit Food, lifestyle
104 Basic Blog Tips 49 Submit Blogging
105 Growmap 48 Submit Marketing, SEO
  Famous Bloggers 48 Submit Blogging, social media, SEO
106 Blog Engage 48 Submit Blogging
107 Ecopreneurist 48 Submit Entrepreneur
108 AppendTo 47 Submit Programming, education
 109 Opportunities Planet 47 Submit SEO, social media, blogging
110 The Work at Home Woman 47 Submit Social media, blogging, business
111 Tutora 47 Submit Education
112 Fine Craft Guild 45 Submit Home, craft
113 Work in Sports 45 Submit Sports
114 Global Grasshopper 45 Submit Travel
115 SEO Hacker 44 Submit Marketing, SEO
116 Smart Hustle 44 Submit Entrepreneur
117 PR Couture 43 Submit Fashion
118 Mirasee 42 Submit Marketing, business growths
119 Off the Post 42 Submit Sports
120 Birds on the Blog 41 Submit Blogging
121 Sports Networker 41 Submit Sports
122 Beating Broke 41 Submit Finance
123 Money Mini Blog 41 Submit Finance
124 iBlogzone 40 Submit SEO, marketing, blogging
125 Brand Driven Digital 40 Submit Social media, marketing
126 Making Different 40 Submit Blogging, technology
127 Hellbound Bloggers 39 Submit Blogging, social media, technology
128 Mookychick 38 Submit Home
129 Internet of Things News 38 Submit Technology
130 Dealer Marketing 37 Submit Marketing
131 Outdoorzy 37 Submit Hunting
132 Lift for Life 36 Submit Fitness
133 Six Suitcase Travel 36 Submit Travel
134 Sports Then & Now 36 Submit Sports
135 Ms tech 36 Submit Technology
 136 Be a Better Blogger 36 Submit Blogging
137 In The Know 35 Submit Travel
138 We Are Holidays 34 Submit Travel
139 High Def Geek 34 Submit Technology
140 Techlila 34 Submit Technology
141 The Finance Wand 33 Submit Finance
142 FitAthletic 32 Submit Fitness
143 Vector Central 32 Submit Home
144 iTech Code 32 Submit Blogging, SEO, social media
145 Entrepreneurship Life 31 Submit Entrepreneur
146 Tech Patio 31 Submit Marketing, SEO, technology
147 One Fitness 30 Submit Fitness
148 Hello Vancity 30 Submit Fashion
149 Entrepreneur Mom Now 30 Submit Entrepreneur
150 TQS Magazine 29 Submit Fashion
151 Lake View Studios 26 Submit Web design, online marketing
152 Elise Dopson Blog 27 Submit Productivity, Entrepreneurship, Marketing, Blogging
153 Travel Tamed 25 Submit Travel

 

Posted in BUSINESS, EDUCATION, WORLDComments (0)

सफाई कर्मी की लडकी राष्ट्रीय हाॅकी में चयन होने प्राचार्य का रोडा

डा.एल.एन.वैष्णव
दमोह/भले ही भारत सरकार के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी खेलो इंडिया के नाम से देश भर में छिपी हुई खिलाडियों की खेल प्रतिभाओं को आगे लाने के प्रयास में लगे हों विश्व पटल पर भारत के खिलाडियों के खेल का जौहर दिखलाने का संकल्प ले प्रस्तुति देने प्रोत्साहित करने में लगे हों। मध्यप्रदेश सरकार के मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चैहान लगातार खेलों और खिलाडियों को प्रोत्साहित करने में लगे हों सरकारें करोडों रूपयों का बजट खेल में उपलब्ध करा रही हो। परन्तु कुछ नकारा अधिकारियों के चलते उभरती खेल प्रतिभाओं के मार्ग में रोडा अटकाने से भारत सरकार एवं मध्यप्रदेश सरकार की योजनाओं एवं उद्ेश्यों में पलिता लगते देखा जा सकता है? जी हां हम आपको एैसे ही एक वाक्ये से अवगत कराने जा रहे हैं जिसमें एक उभरती हाॅकी की नवोदित खिलाडी की राह में कांटे डालने के प्रयास किये गये?वह भी एक दलित वर्ग की छात्रा के साथ उसी के विद्यालय के प्राचार्य ने जिस प्रकार लापरवाही की तथा मध्यप्रदेश शासन के संबधित विभाग एवं जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के आदेश को भी बलाये ताक पर रखने का पूरा प्रयास किया गया है अगर यह कहा जाये तो शायद कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। विदित हो कि शालेय हाॅकी टूर्नामेंट के लिये दमोह नगर के निजी विद्यालय ओजस्वनी के छात्र कुणाल दास वैष्णव एवं उत्कृष्ठ विद्यालय दमोह की एक छात्रा रागनी बाल्मिकी का मध्यप्रदेश की हाॅकी टीम में राष्द्रीय स्तर की पंजाब के जालंधर होने वाली हाॅकी प्रतियोगिता के लिये किया गया था। दोनों खिलाडियों को उमरिया केंप तक पहुंचाने के लिये म.प्र.शासन के संबधित विभाग द्वारा पत्र
 
लोक.शि.संचानालय/क/शा.शि/बी/राष्ट्रीय/26/2017.18/321/ दिनांक 25 जनवरी 2018 के द्वारा संबधित जिलों के जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया था कि संबधित खिलाडियों को प्रदेश के उमरिया में केम्प तक पहंुचाने की व्यवस्था करें। वहीं उक्त पत्र के परिपालन में जिला शिक्षा अधिकारी दमोह द्वारा पत्र क्रं/ क्रीडा/2018/427 दिनांक 30 जनवरी 2018 को खिलाडियों को उमरिया पहुंचाने की पूरी व्यवस्था करने के लिये लिखा गया था। महत्वपूर्ण बात यह है कि निजि विद्यालय ओजस्वनी द्वारा जहां आदेश का पालन किया गया तो वहीं शासकीय उत्कृष्ठ विद्यालय के प्राचार्य द्वारा इसमें घोर लापरवाही दिखलाने का पूरा प्रयास किया गया जिसके चलते वह होनहार छात्रा केंप में जाने के लिये भटकती रही।
 
छात्रा रागनी बाल्मिकी के अनुसार प्राचार्य के.के.पांडे का कहना है कि उनके पास कोई फंड नहीं होता है न ही कोई पैसे मिलते हैं न ही हमारे पास कोई शिक्षक पहंुचाने के लिये है। अगर स्वयं जाना है तो जाओ हमारी कोई जबाबदारी नहीं है। बतलादें कि दमोह से उमरिया का किराया एक्सप्रेस टेªन से मात्र सत्तर रूपये एवं आरक्षण सहित एक सौ चालीस रूपया लगता है। रागनी बाल्मिकी के अनुसार वह लगातार कई दिनों तक प्राचार्य के पास गयी तो कभी फंड,शिक्षक,पत्र प्राप्त न होने जैसे बहाने बनाते रहे। विदित हो कि रागनी बाल्मिकी एक सफाई कर्मी की पुत्री है उसके माता,पिता एवं भाई सफाई कामगार हैं। विदित हो कि रागनी एवं कुणाल दमोह के हाॅकी फीडर सेंटर में कोच रियाजुद्दीन से प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। जिन्होने दमोह का दम ग्वालियर में आयोजित राज्य स्तरीय शालेय प्रतियोगिता में दिखलाया था जहां इनका चयन प्रदेश की टीम में राष्ट्रीय प्रतियोगिता के लिये किया गया था। विदित हो कि छात्रा को केंप तक जाने की व्यवस्था चयनित छात्र कुणाल दास वैष्णव ने की जिसके कारण होनहार खिलाडी केंप पहुंची।
 
प्राचार्य का गैर जिम्मेदाराना बयान-
उत्कृष्ठ विद्यालय के प्राचार्य के.के.पांडे से जब उक्त संबध में जानकारी चाही तो उनका कहना है कि हमारे यहां से कोई नहीं गया है। हमने जिला शिक्षा अधिकारी को बतला दिया था कि हमारी कोई व्यवस्था नहीं है आप जानो कोई आपके यहां से जाये तो पहंुचा दो। पूछंने पर कि क्या रागनी केंप गयी है वह कहते हैं गयी होगी हमें नहीं पता है सुना है वह पहुंच गयी है। पूंछने पर पहुंचने की जानकारी मिलने का माध्यम क्या है प्राचार्य पंाडे कहते हैं कि शिक्षक एैसी चर्चा कर रहे थे तो हमने सुना है। पूंछने पर अभी वह कहां है कहते हैं हम यह थोडे पता करते रहेंगे कि कहां है। पूंछने पर प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी खेलो इंडिया के तहत खेल प्रतिभाओं को निखारने का काम कर रहे हैं। मुख्य मंत्री शिवराज सिंह खेलो को प्रोत्साहित कर रहे हैं और आप एक छात्रा को जो कि दमोह और आपके विद्यालय का नाम राष्ट्रीय स्तर पर रोशन करने जा रही हो को भेजने के लिये शासन प्रशासन के आदेशों को बलाये ताक पर रख रहे हैं? इसलिये तो नहीं कि वह एक दलित छात्रा है अपने को फंसता देख कहते हैं कि छात्रायें सभी बराबर हैं।
 
बतलादें कि मध्यप्रदेश शासन के संबधित विभाग द्वारा खिलाडियों को खेलने के लिये तथा परीक्षाओं में बाद में सम्मिलित होने तक आदेश क्रमांक /शाशि./बी.खेलोइंडिया/36/2017-18/346दिनांक1/2/2018 द्वारा संबधित जिलों को भेज दिया था। जिससे सरकार की मंशा खिलाडियों एवं खेल को प्रोत्साहन देने की स्पष्ट्र दिखलायी दे रही है। जबकि योजना में पलीता लगाने की उत्कृष्ठ विद्यालय के प्रार्चाय की उक्त लापरवाही से भी स्पष्ट दिखती है?सूत्र बतलादें कि प्रदेश के कद्वार मंत्री के पुत्र से नजदीकी होने का दम प्राचार्य भरते रहते हैं मामले में कितनी सच्चाई है इस बात को लेकर भी चर्चाओं का बाजार गर्म बतलाया जाता है।
 
इनका कहना है-
-संबधित विद्यालयों के प्राचार्य को लिखित रूप से लोक शिक्षण संचानालय भोपाल के आदेशानुसार निर्देश भेजे गये थे। जिसकी पावती है जहां तक फंड का सबाल है तो सिर्फ केंप तक भेजने की व्यवस्था करनी थी जबकि उसके आगे तो प्रदेश सरकार द्वारा सारी व्यवस्था की है। प्राचार्य द्वारा इस संबध में लापरवाही की है।
डी.आर.राय (जिला क्रीडा अधिकारी)
-उत्कृष्ठ विद्यालय के प्राचार्य द्वारा जो किया है वह घोर आपत्ति जनक है मेरी संज्ञान में मामला आया है कारण बताओ नोटिस जारी करने के बाद नियम अनुसार कार्यवाही अवश्य होगी।
अजब सिंह (जिला शिक्षा अधिकारी)
-उत्कृष्ठ विद्यालय द्वारा ओछी मानसिकता के चलते दलित वर्ग की छात्रा के मार्ग में रोडा अटकाने का प्रयास किया है। में इसकी निंदा करता हंू । प्रदेश सरकार एवं संबधित विभाग में शिकायत करते हुये कार्यवाही की मांग करूंगा।
बी.डी.बाबरा (जिला अध्यक्ष अहिरवार समाज एवं जिला अध्यक्ष अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ भाजपा)
 
 

Posted in EDUCATION, INDIA, SPORTSComments (0)

आयुष इंडोनेशिया रवाना


डीग  डीग के आयुष कुमार विद्यार्थी पुत्र राजीव कुमार विद्यार्थी  इंडोनेशिया की पेतालीस दिन की यात्रा पर रवाना हो गये I आयुष का चयन ए. आई. ई. एस. ई .सी. (एसोसिएशन ऑफ स्टूडेंट इन इकानाँमिक्स एण्ड कार्मशियल साइंस )द्वारा चयन किया गया था। ए. आई ई एस ई सी के डायरेक्टर विभोर के अनुसार तृतीय वर्ष इलेक्ट्रोनिक  एण्ड कम्यूनिकेशन पूर्णिमा कालेज आफ इंजिनिरिंग के छात्र आयुष विद्यार्थी इन्टरनेशनल. इंटर्नशिप के दौरान अनेक देशों से आये स्टूडेंट्स व एनजीओ के साथ विभिन्न प्रोजेक्ट पर कार्य करेगें ।

इस दौरान वे विभिन  कल्चरल प्रोग्राम और सैमीनार में भाग लेंगें व अपने कालेज का केम्पस एम्वेस्डर वतौर प्रतिनिधित्व करेगें। आयुष तीन मार्च को वापिस जयपुर आयेगें। आयुष ने  प्रारंभिक शिक्षा एम.पी.एस.सी सैं.स्कूल अजमेर व विकास स्कूल डीग से सीनियर की थी

Posted in EDUCATIONComments (0)

Aadhaar नंबर को मोबाइल फोन से आईवीआर के ज़रिए ऐसे करें लिंक

सरकार ने सिम कार्ड को आधार नंबर से जोड़ने की प्रक्रिया की आखिरी तारीख ज़रूर टाल दी है, लेकिन वैरिफिकेशन तो अब भी ज़ारी है। अच्छी खबर यह है कि मंगलवार को यह प्रक्रिया आसान बना दी गई। अब सभी टेलीकॉम सब्सक्राइबर सिर्फ एक नंबर पर कॉल करके अपने सभी मोबाइल नंबर को आधार से वैरिफाई कर सकते हैं, चाहे नेटवर्क कोई भी हो। यह खबर राहत की सांस लेकर आई है, क्योंकि अब तक ग्राहक अपने मोबाइल नंबर को आधार नंबर से जोड़ने के लिए टेलीकॉम कंपनियों के ऑफलाइन स्टोर में जाने के लिए मजबूर थे। अब ग्राहक आईवीआर सेवा का इस्तेमाल करके अपने घर से ही मोबाइल नंबर को आधार से जोड़ सकते हैं।

अपने मोबाइल फोन को आधार से ऐसे करें लिंक
अगर आप अपने फोन नंबर को आधार से वैरिफाई करना चाहते हैं तो प्रक्रिया बेहद ही आसान है। बस आपके पास आधार नंबर होना चाहिए। आपके पास Airtel, Idea, Jio, Vodafone या किसी अन्य ऑपरेटर में से किसी का भी नंबर हो, आपको अपने मोबाइल नंबर से सिर्फ टोल फ्री नंबर 14546 पर कॉल करना है। इसके बाद रीवैरिफिकेशन के लिए आईवीआर के निर्देशों का पालन करना है।

1. जब आप 14546 पर कॉल करेंगे, आपसे आपकी नागरिकता के बारे में पूछा जाएगा। क्या आप भारतीय हैं या एनआरआई। आप सही विकल्प चुनें।
2. इसके बाद आप 1 दबाकर अपने फोन नंबर को आधार से लिंक करने को मंज़ूरी देंगे।
3. अब आपको अपना आधार नंबर देना होगा और इसकी पुष्टि के लिए 1 दबाना होगा।
4. ऐसा करने के बाद आपके मोबाइल फोन पर वनटाइम पासवर्ड आएगा।
5. अब आपको अपना फोन नंबर डालना होगा।
6. यहां पर आप टेलीकॉम ऑपरेटर को यूआईडीएआई के डेटा बेस से आपका नाम, फोटो और जन्म की तारीख का ब्योरा लेने को मंजूरी देंगे।
7. इसके बाद आईवीआर में आपके नंबर के आखिरी चार आंकड़ों को बताया जाएगा, ताकि यह पुष्टि हो सके कि आपने सही नंबर दिया है।
8. अगर आपका नंबर सही है, तो अब एसएमएस के ज़रिए आए ओटीपी को इस्तेमाल करना है।
9. आधार-मोबाइल नंबर वैरिफिकेशन प्रक्रिया पूरी करने के लिए आपको 1 दबाना होगा।
10. अगर आपके पास कोई और नंबर भी है तो आप उसे भी 2 दबाकर लिंक कर सकते हैं। इसके बाद आईवीआर सिस्टम के निर्देशों का पालन करना होगा। इस दौरान अपने दूसरे मोबाइल फोन को आसपास ही रखें, क्योंकि उस नंबर पर भी ओटीपी आएगा।

आधार और मोबाइल नंबर को लिंक करने की प्रक्रिया के दौरान जो ओटीपी भेजा जाता है, वो 30 मिनट के लिए मान्य होता है। इसका मतलब है कि किसी कारणवश अगर कॉल ड्रॉप भी हो जाता है, तो आप दोबारा कॉल करके लिंक करने की प्रक्रिया के दौरान उस ओटीपी का इस्तेमाल कर सकते हैं। आईवीआर सिस्टम में कहा जा रहा है कि मोबाइल नंबर को आधार से जोड़ने की आखिरी तारीख 6 फरवरी है। वहीं, कॉरपोरेट प्लान के सब्सक्राइबर को अपने नंबर को आधार से लिंक करने की ज़रूरत नहीं है।

अभी तक एयरटेल, आइडिया और वोडाफोन ने इस आईवीआर सेवा की शुरुआत कर दी है। वहीं, जियो नंबर से कॉल करने पर आईवीआर ने हमें ग्राहक सेवा केंद्र अधिकारी से कनेक्ट करने की कोशिश की। लेकिन हर बार कॉल अपने आप ही बंद हो गया।

नवंबर महीने के आखिर में टेलीकॉम कंपनियों ने आधार और मोबाइल नंबर को ऑनलाइन जोड़ने के लिए वेबसाइट लाने की बात कही थी। हालांकि, अभी तक ऐसी कोई वेबसाइट नहीं आई है। डिजिटल इंडिया के ट्विटर अकाउंट द्वारा एक ट्वीट में इस्तेमाल की गई तस्वीर को देखकर यही लगता है कि यूज़र एमआधार ऐप के ज़रिए अपने मोबाइल नंबर को आधार से लिंक कर पाएंगे। यह ऐप अभी सिर्फ एंड्रॉयड प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है।
 

Posted in BUSINESS, EDUCATIONComments (0)

How To Update Your EPF KYC Details In UAN Online?

The UAN is a big step in shifting EPFO services to online and making it more efficient and user friendly for both Employer and Employee in India.

Now you can able to easily check your employee provident fund balance, can submit your online claim and even transfer your old PF amount to new PF account online.

Visit the UAN portal – https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/ using your UAN credentials.

In this post, we will see how to update your KYC details in UAN portal. The KYC (Know your Customer) consists of identification of the person and his place of residence.

The EPFO has issued a mandate to update your KYC details online through UAN account. The KYC documents are Aadhaar Card, PAN Card, Bank Account details, Driver’s license, Passport, Election, ration card and National Population Register.

The proper KYC helps to process your transfer or withdrawal of PF money faster. Even your bank account details are must to claim your PF corpus.

How to update your EPF KYC Details in UAN online?

Simple steps to upload your KYC documents on the EPF UAN online:

Step 1: Visit the UAN portal – https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/ using your UAN credentials.

Step 2: Once the main page is displayed on your screen, click on “Manage” on the top bar. From the drop down list, click on ‘KYC’.

How to update your EPF KYC Details in UAN online?

Step 3: Once the KYC page is displayed, select the KYC information you wish to update from the list.

Step 4: Once you update the KYC detail, the status of your KYC will show as pending until it is approved by the current employer.

Once your employer has approved your KYC document, you will receive an SMS confirming the same.

Do remember that online claim process is available only to those who have Aadhaar linked in UAN. Also, if you have been an EPF member for less than 5 continuous years, the maturity corpus is taxable hence you will also need to furnish PAN as KYC.

Posted in BUSINESS, EDUCATIONComments (0)

EPF UAN Name Correction online,How to update your Personal details in UAN?

As per the EPFO’s latest notifications, seeding of Aadhaar to your EPF UAN is mandatory to avail the online services like EPF transfer, online full EPF withdrawal or EPF advance withdrawal.

However, most of the EPF subscribers have been facing data mismatch issues (between EPF UAN data Vs Aadhaar data) while linking the two. In such a scenario, the EPF member (employee) has to get his/her personal data (like Name, Date of Birth or Gender) corrected in Aadhaar card (or) UAN interface.

If your data is correct in Aadhaar and you would like to get your EPF UAN name updated/changed, the current procedure is a bit lengthy one.

Currently, if an employee wants to correct his/her basic details against UAN, employee and employer are required to submit a joint-request to the concerned EPFO field office.

In order to reduce the paper work, the EPFO has now launched a new facility, where-in an employee can now submit an online request for EPF UAN name correction.EPFO latest notification on UAN EPF account name correction process online procedure pic

EPF UAN Name correction | New online procedure

Below is the new procedure to get your personal data against UAN corrected;

  • Kindly visit EPFO’s Unified Member Portal.
  • Login to UAN interface with your credentials.
  • Click on ‘Manage’ menu tab and then on ‘Modify Basic Details‘ link.Modify basic details personal data name date of birth gender in EPF account UAN interface pics
  • You can provide the correct details as per Aadhaar (System will verify the details entered with UIDAI- Aadhaar Data). If you have not not yet seeded your Aadhaar to UAN, can still provide it here. In this screen, you can correct your Name, Date of Birth or gender details. Click on ‘update details’.EPF UAN name correction request online as per Aadhaar Date of birth gender details update in EPF account
  • On clicking “Update Details” on previous screen, system will compare the requested changes with similar fields received from Aadhaar (UIDAI).
  • After successful verification, your request will be automatically submitted to your employer for further approval. Your employer will then have to transmit it to the EPFO field office online. The EPF staff will then process the requested corrections.
  • The EPF ‘Dealing Assistant’ can put the request either for Approval or Rejection by selecting the appropriate option, with proper remarks.
  • Until your employer submits it to the EPFO, you have the option to withdraw the request. You can access this option under : Manage -> Modify Basic Details -> Pending Requests -> Delete Request.delete name correction online request in UAN interface

If you have already verified your Aadhaar number in member portal (i.e., your personal data in Aadhaar matches against UAN data) then you can not edit/update Name, DoB & Gender details. In case, you try to edit your personal details, you will receive a message as ‘Aadhaar is already verified, your details are not editable.’EPF UAN Name Date of birth gender details correction update change not editable error aadhaar member portal

 

As of now, the EPFO has not yet provided any turn-around time for processing EPF UAN name correction requests. Also, as this is a new online facility, you may face some technical issues in submitting the online request(s).

Posted in BUSINESS, EDUCATIONComments (0)

MRP से ज़्यादा पैसे मांगने पर आप क़ानूनी कार्रवाई कर सकते हैं?

रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में मेहनत से कमाए हुए हर एक पैसे से हम अपनी और अपने परिवार की बहुत सारी ज़रूरतें और कुछ ख़्वाहिशें पूरी करने में लगे रहते हैं. पर आप जो सामान खरीदते हैं, क्या उनका आपसे सही मूल्य मांगा जा रहा है ? कहीं आप ज़्यादा पैसे तो नहीं दे रहे ? क्या आप उन चीज़ों पर पैसे कम करा सकते हैं ? इन सब सवालों का जवाब MRP के इर्द-गिर्द घूमता है.

MRP क्या है ?

MRP का मतलब होता है Maximum Retail Price. ये टर्म Packaged Products के लिए इस्तेमाल होता है और ये वो राशि होती है, जो सरकार द्वारा तय की जाती है. इसमें उत्पादन की लागत, बिचौलियों का लाभ और सभी कर पहले से ही शामिल होते हैं. Weights and Measures (Packaged Commodities) Rules के अनुसार, वज़न, मात्रा, निर्माता का नाम और पता जैसे कई जानकारियों के साथ MRP भी लिखना अनिवार्य है.

अगर कोई MRP से ज़्यादा पैसे मांगे ?

न सिर्फ़ पैक पर छपे MRP से ज़्यादा दाम पर सामान बेचना एक क़ानूनी अपराध है, बल्कि आपको MRP पर मोल-भाव करने का भी पूरा हक़ है. यदि कोई दुकानदार MRP से ज़्यादा पैसे मांगता है, तो आप उसके ख़िलाफ़ कोर्ट में शिकायत कर सकते हैं. आम तौर पर लोग इस हद तक जाते नहीं, लेकिन ये किया जा सकता है. Basunivesh ने इस आकृति के माध्यम से बहुत ही सरल तरीके से MRP को समझाया है:


क्या विक्रेताओं के लिए MRP पर छूट देना आसान है ?

अगर आप Big Bazaar, Vishal Mega Mart जैसे किसी बड़े विक्रेता से शॉपिंग करते हैं, तो अक्सर MRP पर डिस्काउंट मिल जाता है. दरअसल ऐसे बड़े ब्रैंड्स बल्क ऑर्डर दे कर सीधा कम्पनी से सामान खरीदते हैं. Third Party Distributors न होने की वजह से, प्रॉफ़िट मार्जिन काफ़ी बढ़ जाता है और इसलिए MRP से कम दाम पर सामान बेचना इनके लिए आसान हो जाता है.

वहीं दूसरी तरफ़ इन बड़े विक्रेताओं की तुलना में अगर मोहल्ले वाले किराना स्टोर जैसे किसी छोटे व्यपारी की बात करें, तो उनके लिए सामान पर छूट देना असंभव है. बल्क में आर्डर न होने की वजह से उन्हें हर आइटम की लागत ज़्यादा पड़ती है और इसलिए ज़्यादातर दुकानदार MRP से कम में सामान नहीं बेचते हैं.

क्या कभी किसी ग्राहक को शिकायत करने पर इंसाफ़ मिला है?

एक बार नहीं. कई बार. The Hindu की एक रिपोर्ट के अनुसार, आंध्र प्रदेश के बंजारा हिल्स में स्थित सर्वि फ़ूड कोर्ट ने जब बीस रुपये की MRP वाली पानी की बोतल चालीस रुपये में एक ग्राहक Ch. Kondaiah को बेची, तो इसके ख़िलाफ़ उन्होंने डिस्ट्रिक्ट फ़ोरम में शिकायत दर्ज कराई. होटल ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि ग्राहक ने होटल का Ambience का भी लाभ उठाया था और क़ानून के हिसाब से मेन्यु में लिखे गए भाव न सिर्फ जायज़ है, बल्कि ग्राहक को भुगतान करना लाज़मी है. इसके जवाब में कोर्ट ने साफ़ कर दिया कि होटल को पूरा हक़ है कि वो अपने मेनू कार्ड में अपने बनाये हुए खाने का कोई भी रेट तय कर सकते हैं लेकिन Packaged Products के लिए वो छपे MRP से ज़्यादा चार्ज नहीं कर सकते. अपना फ़ैसला सुनाते हुए District Consumer Disputes Redressal Forum-II ने सर्वि होटल को आदेश दिया कि वो ग्राहक को बीस हज़ार रुपये का भुगतान करें. साथ ही अतिरिक्त लिए बीस रुपये लौटाएं और ख़र्चे के नाम पर पांच हज़ार रुपये भी दें. 

ध्यान रहे

 

क्योंकि MRP से पूरे देश की अर्थव्यवस्था पर सीधे-सीधे प्रभाव पढ़ता है, इसलिए आये दिन इससे जुड़े क़ानून की चर्चा होती रहती है और समय-समय पर न सिर्फ़ ग्राहक, बल्कि विक्रेताओं के हक़ को ध्यान में रखते हुए बदलाव भी लाया जाता है. हाल ही में Economic Times में आयी इस ख़बर के अनुसार, उच्चतम न्यायालय ने Federation of Hotel and Restaurant Associations of India के द्वारा दायर की गयी एक याचिका का समर्थन करते हुए, होटल और रेस्टोरेंट को Packed Products को MRP से ऊपर बेचने की अनुमति दे दी है.

शिकायत कैसे करें ?

अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए आप डिस्ट्रिक्ट, स्टेट या नेशनल Consumer Court जा सकते हैं. किस कोर्ट में आपको जाना होगा, ये सामान की क़ीमत पर निर्भर करता है, जो 'Basunivesh (with hyperlink) कुछ ऐसे समझाते हैं.


आप अपने शहर में स्थित कोर्ट का पूरा पता और फ़ोन नंबर NCDRC की वेबसाइट पर देख सकते हैं.

एक शिक्षित नागरिक की तरह आपको अपने अधिकारों की पूरी जानकारी होनी चाहिए. इस पोस्ट को शेयर करके ग़ज़बपोस्ट की इस कोशिश 'साड्डा हक़' में हमारा साथ दीजिये. यदि कोई ऐसा विषय हो, जिसके बारे में आप जानना चाहते हों, या आपको लगता हो कि बाक़ी लोग अनजान हैं और उनके लिए जानकारी लाभदायक होगी, तो हमें ज़रूर बताइये. हम उस मुद्दे को अपने आने वाले लेख में उठाने की कोशिश करेंगे.

Posted in EDUCATION, INDIAComments (0)

वाईएमसीए यूनिवर्सिटी में दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन एवं फिल्म फेस्टिवल आज से शुरू

फरीदाबाद /10 नवंबर,2017 ; वाईएमसीए यूनिवर्सिटी में दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन एवं फिल्म फेस्टिवल आज से शुरू हो रहा है।  दो दिन तक चलने वाले इस फिल्म फेस्टिवल में लघु फिल्म, डॉक्यूमेंटरी, आर्टिकल, रिसर्च पेपर प्रस्तुत किये जायेंगे। जिसमें देशभर की ख्यातिप्राप्त मीडिया शख्शियत मौजूद रहेंगी।  विश्व संवाद केंद्र एवं वाईएमसीए यूनिवर्सिटी फरीदाबाद के संयुक्त आयोजन में देशभर से 300 प्रतिभागी भाग ले रहे हैं। 

Posted in EDUCATIONComments (0)

अगर आपकी दवाई पर भी है ये निशान तो संभल जाएँ, मिनिस्ट्री ऑफ़ हेल्थ ने ज़ारी किया है ये सन्देश !

आज के जीवन में शायद ही कोई ऐसा इंसान होगा जो दवाई ना लेता हो, अंतर सिर्फ इतना है कि कुछ लोग डॉक्टर की सलाह से दवाई लेते हैं तो कुछ लोग बिना किसी से पूछे यानी अपनी डॉक्टरी के अनुसार दवाई ले लेते हैं. अब हम आपको एक ऐसी खबर बताने वाले हैं जिसे पढ़ने के बाद आप कोई भी दवाई लेने से पहले दस बार सोचेंगे.

source

 

दरअसल मिनिस्ट्री ऑफ़ हेल्थ ने खुद एक ट्वीट करते हुए ये कहा है कि अगर आप वो दवाई जिनके पीछे लाल लकीर है उन्हें बिना डॉक्टर की सलाह के लेते हैं तो सावधान हो जाएँ. ऐसी दवाई डॉक्टर से बिना पूछें ना लें.

source

 

आपको बता दें लाल निशान का मतलब है कि आपको दवाई डॉक्टर से ही पूछकर लेनी है और कोर्स पूरा करना है.

 

 

तो आपको हम भी यही सलाह देते हैं कि किसी भी दवाई को बिना डॉक्टर की सलाह के ना लें.

क्या आप जानते है दवाई के पत्ते पर क्यों होती है खाली जगह ?

क्या आप लोग जानते है कि दवाई के पत्तों में खाली जगह क्यों होती हैं ? वो गोली के आकार की खाली जगहें जिसमे दवाइयां नहीं होती.

source
source

आप को भी लगता होगा की जब इसमें दवाइयां नहीं होती तो इन खाली जगह को बनाते क्यों हैं l आईये आपको इसके बारे में कुछ जानकारियां देते हैं l

यह खाली स्पेसेस गोलियों के साथ जुड़े होते हैं, इनकी मदद से दवाइयां आपस में नहीं मिलती और केमिकल दुश्र्प्रभाव होने से बचता हैं l

Capture-1

यह दवाइयों को बचाए रखने के लिए होते हैं l दवाइयों को लाने में और ले जानें में कोई नुक्सान ना हो इसलिए भी यह खाली जगहें बनी होती हैं l  यह दवाइयों के लिए Cushioning effect की तरह हैं इससे दवाइयां ख़राब नहीं होती हैं l

 

ऐसे में पत्ते के पीछे प्रिंट की जाने वाली ( तारीख, एक्सपायरी ) आदि को छापने के लिए जगह की ज़रूरत होती हैं इसलिए खाली जगहें बनाईं जाती हैं l

इसके अलावा दवाइयों के पत्तों को काटते समय दवाई को नुक्सान से बचाने के लिए और सही डोज दिखाने के लिए यह खाली जगहें बनाईं जाती हैं l

अब आपको दुबारा दवाई के पत्तों में खाली जगहें को देखकर फिर से यह नहीं सोचना पड़ेगा की यह खाली जगहें क्यों होती हैं l

Posted in EDUCATION, HEALTHComments (0)

6 tips to writing the perfect job description

Recently, I outlined what it takes to hire and retain the best talent. It is all about the culture, the job description and the initial screen.

The culture is the most important piece to the puzzle. It determines the style of person that will be successful in your organization. Once you define the culture, you need to do something that will attract them. The job description will give you a tool to do just that, if it is written well.

I’d like to provide you with six tips that will make your job description stand out against all the other out there.

1. Stand out.

The first piece to standing out against everyone else’s ad is to, well, stand out. You need to catch the candidate’s eye. Once you have defined your culture, think about the type of candidate that you want to attract. What appeals to them? Write some direct questions that will appeal to your target audience. For example, if you are looking for an employee that cares about the planet, use a question like, “Do you want to work for a growing company that wants to make the planet a better place?” This introduction is vitally important. It needs to immediately catch your target audience’s eye and explain the qualities that your company has.

2. What is required for the job and what qualities do would you like to see?

There are always certain qualities the successful person must bring to the table. For example, if you are looking for a Director of Human Resources, it might require them to have licensure. But what qualities do you prefer to see in someone? Keep this list short. If you have too many preferred qualities, you might turn away a very good candidate. No one is going to match every single preferred quality that you want. Be open to keeping that list small.

3. Brevity is your friend.

You never want to go over 800 words in a job description. And you never want to be under 400 words. A successful job description should have up to five required competencies as well as the basics: education, licensure, experience and managerial experience.

4. Make the post sound like your company or organization.

The personality and culture of the company need to be infused in the job description. If you are a fun-loving company, then use words that show that. If you are the Centers for Disease Control, you probably don’t want to sound quite as fun. This will help the candidate get an idea of the company they are applying to. Another important piece to this is that when writing it, do not use “we” but instead use “you.” People love to think of things in terms of themselves.

5. Court the candidate.

You are not the only job your candidate is applying to. You might want to think that way, but it would be prideful to believe that. You need to stand out from the crowd if you plan on getting a date with the candidate. Pictures or graphics help set the scene. Make sure you are using proper grammar and spelling. Use bullet points to help break up information and allow an easier transition on the candidate’s eyes.

6. Keep it simple.

The application process needs to be easy for the candidate. If there is an online app and assessment process then make sure the process is simple. I can’t even tell you how many times I’ve had a client have such a cumbersome application process that 90 percent of the candidates don’t make it through. After a month or so, that client will reach out to me and upgrade the status to “urgent” because they are not getting enough qualified candidates. When the app/assessment process is too difficult, then you will not get the candidates you expect.

Once the culture and job description is written, prepare to have candidates that you are excited about coming to you. Next week, we’ll look at the initial phone screen so that you can make sure that you get only the best candidates in front of you.

Posted in EDUCATIONComments (0)

How to read a WhatsApp message without the sender knowing

If you dislike the idea of read receipts you can disable the option all together through the app’s settings – but this works both ways. If you don't want people to see when you've read their message, you won't be able to see when they've read yours.

Launch WhatsApp and tap the three dots icon at the top right of the screen, then choose Settings, Account, Privacy. Within this menu you’ll see the option ‘Read receipts’, which can be disabled by unchecking the box beside it. Also see: How to avoid WhatsApp viruses, scams and hoaxes.

How to read a WhatsApp message without the sender knowing: Aeroplane Mode 

If you want to keep read receipts enabled, but don’t want a sender to know that you’ve read their message, there’s another trick that can temporarily prevent the two blue ticks appearing. Also see: How to install WhatsApp on a tablet.

When you receive a WhatsApp message the notification will appear on the lock screen (if you aren't using the phone) and in the pull-down notification bar. Before you open the message, enable Aeroplane or Flight mode on your phone, which will kill your Wi-Fi and mobile data connection. WhatsApp won't be able to connect to its servers to tell the sender you have read that message. 

Once you have read the message exit the conversation and, in the Chats view, tap and hold on the conversation to access various options. Choose Mark as unread, then turn on your data connection.

Note, however, that we found this method gave inconsistent results across devices, and would recommend you instead turn off read receipts (as we detailed above), or look to our next tip.

 

Posted in EDUCATIONComments (0)

रेवाड़ी की रहने वाली साक्षी सिंघल ने लिखी इबारत बनी सीए

Ajeybharat/Rewari/रेवाड़ी की रहने वाली साक्षी सिंघल ने सीए की परीक्षा पास कर नगरवासियों का नाम रोशन किया है। यह कामयाबी साक्षी सिंघल ने महज 22 वर्ष की उम्र में हासिल की है।बुधवार को साक्षी सिंघल को उनके पिता पवन सिंघल समेत अनेक लोगों ने मिठाई खिलाकर बधाई दी। साक्षी सिंघल रेवाड़ी के प्रतिष्ठित  परिवार से जुड़ी हैं और कड़ी मेहनत के बल पर उन्होंने 18 जुलाई 2017 को सीए की परीक्षा पास की थी।  

मेहनत से पूरा किया मुश्किल सफर
सीए बनना आज के दौर में अधिकतर युवाओं का सपना होता है। लेकिन यह मुकाम हासिल करने के लिए जो मेहनत और वक्त लगता है, वह कई युवाओं को सफर अधूरा छोड़ने पर ही मजबूर कर देता है।रेवाड़ी की साक्षी सिंघल ने यह भी साबित किया कि मेहनत का कोई विकल्प नहीं।

साक्षी सिंघल ने बताया कि आज महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पुरुषों से पीछे नही हैं। कड़ी मेहनत और लगन से हर मुश्किल को आसान बनाया जा सकता है। वह अपनी इस कामयाबी का श्रेय अपने पिता पवन सिंघल  और अपनी माता को देना चाहती हैं। साक्षी सिंघल की इस कामयाबी पर उनके परिवार में भी खुशी का माहौल है। अजेयभारत परिवार की तरफ से भी साक्षी सिंघल को हार्दिक शुभकामनाएं 

Posted in EDUCATION, INDIAComments (0)

स्कूली बच्चों व शिक्षकों ने किया पौधारोपण

Ajeybharat/Gurugram/राजकीय माध्यमिक विद्यालय फाजिलपुर झाड़सा गुरुग्राम में वन महोत्सव के दौरान  पौधारोपण अभियान चलाया गया। इस अवसर पर स्टाफ सदस्यों ने बच्चों ने पौधे लगाए।

विद्यार्थियों ने पिछले वर्ष रोपित किए गए पौधों की वर्ष भर देखभाल भी की थी जिसके सुखद परिणाम आने के
चलते बच्चों ने पौधारोपण को लेकर अत्यधिक उत्साह था। मुख्य अध्यापिका महेंद्र यादव ने पौधे बच्चों को वितरित किए और अपने-अपने घर पर लगाने का आह्वान किया। विद्यार्थियों को वनों का महत्व बताते हुए कहा कि ‘‘वन है तो जीवन है’’ हमें हर वर्ष अपने रहने के स्थान
के आस-पास पौधारोपण करना चाहिए तथा अपने परिचितों को भी इस बारे में जागरूक करना चाहिए। साथ ही भारत मुटरेजा ने बच्चों से अधिक से अधिक पौधे लगाकर उनकी देखभाल करने का आह्वान किया। इस मौके पर राकेश कुमार, श्रीमती पूनम कुमारी आदि स्टाफ सदस्य उपस्थित थे।


Posted in EDUCATIONComments (0)

कुछ चीजों के English meaning जिन्हें पढ़कर आप Ajeybharat के फैन बन जाओगे

  • जब हम किसी को दिमाग में नंगा करते है तो उसे ‘Apodyopsis’ कहते है.
  • बूँदो से बचने के लिए जब कही पर आश्रय मिलता है तो उसे ‘Ombrifuge’ कहते है.
  • मन में एक सवाल उठा और आपने तुरंत अंदर ही अंदर खुद को उसका जवाब दे दिया तो उसे ‘Sermocination’ कहते है.
  • पत्तों से टकराकर जब हवा शोर करती है तो उसे ‘Psithurism’ कहते है.
  • अपने ही बाल खुद काटने को ‘Self-tonsorialism’ कहते है.
  • आइसक्रीम या कुछ ज्यादा ठंडा खाने पर जो सिर में दर्द होता है तो उसे ‘Sphenopalatine ganglioneuralgia’ कहते है.
  • किसी समझौते या डील के बाद जब दो आदमी हाथ मिलाते है तो उसे ‘Famgrapsing’ कहते है.
  • नया अंडरवियर पहनने के बाद जो uncomfortable feeling आती है उसे ‘Shivviness’ कहते है.
  • दूर तक चलने के बाद टांगो में जो दर्द महसूस किया जाता है उसे ‘Hansper’ कहते है.
  • जिससे चूतड़ो पर ज्यादा बाल होते है उसे ‘Dasypygal’ कहते है. और सुंदर कूल्हों को ‘Callipygian’ कहते है.
  • गाली देने के बाद मन को जो संतुष्टि मिलती है उसे ‘Lalochezia’ कहते है.
  • केले को छिलने पर उसके अंदर जो लंबी-सी पतली-सी लकीरें उतरती है तो उसे ‘Phloem bundles’ कहते है.
  • आपकी नाक के बिल्कुल नीचे होंठो पर जो दो लकीरों की नाली सी बनी हुई है उसे ‘Philtrum’ कहते है.
  • इंजेक्शन लगने या कुछ चुभने पर जो फीलिंग आती है उसे ‘Paresthesia’ कहते है.
  • ऐसी लिखाई जो पढ़ी नही जाती, जैसे: डाॅकटरो की लिखाई. तो उसे ‘Griffonage’ कहते है.
  • पेंसिल के पीछे जो धातु वाला भाग होता है उसे ‘Ferrule’ कहते है.
  • मोमबत्ती के जले हुए और यूज किए हुए भाग को ‘Snaste’ कहते है.
  • जूतों की डोर के सिरे पर जो प्लास्टिक होती है उसे ‘Aglet’ कहते है.
  • हमारी दोनो आइब्रो के बीच जो जगह होती है उसे ‘Glabella’ कहते है.
  • Tommorow के बाद जो अगला दिन आता है उसे “Overmorrow” कहते है.

Posted in EDUCATIONComments (0)

YMCA यूनिवर्सिटी में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया, पर्यावरण संरक्षण का लिया संकल्प

अजेयभारत.कॉम /फरीदाबाद/वाईएमसीए यूनिवर्सिटी में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया, पर्यावरण संरक्षण का संकल्प लेकर पौधे वितरित किए गए. सराय ख्वाजा स्कूल की छात्राओं ने योगा के विभिन्न आसन क्रियाएं और आत्म रक्षा का प्रदर्शन किया।

Celebration-of-International-Yoga-day-in-YMCA-University-Faridabad


वाईएमसीए यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार डॉ संजय कुमार शर्मा ने दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। दो घंटे तक चले योग उत्सव में विभिन्न योग क्रियाएं कराई गई जिसमें यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर, टीचिंग नॉन टीचिंग स्टाफ, महिलाओं, विद्यार्थियों एवं बच्चों ने भाग लिया। योग समापन के उपरांत सभी को पौधे वितरित किये गए।

Celebration-of-International-Yoga-day-in-YMCA-University-Faridabad

Posted in EDUCATION, INDIAComments (0)

Sandeep Maheshwari ये Quotes आपकी ज़िंदगी बदल सकते हैं..

Sandeep Maheshwari Quotes in Hindi
संदीप माहेश्वरी के Quotes आपकी ज़िदगी बदल सकते हैं

Sandeep maheshwari Sandeep Maheshwari Wiki : क्या आप संदीप माहेश्वरी को जानते हैं ? अगर नही जानते तो आज जान जाइए.. Q कि ये एक ऐसा शख्स हैं जो आपकी ज़िंदगी बदल सकता हैं। कहने को तो “संदीप” एक आम-सा नाम हैं, और आप संदीप नाम के बहुत से लोगो को जानते होंगे.. लेकिन आज हम जिस संदीप के बारे में बताने जा रहे हैं वो स्पेशल हैं ..Q कि इस Sandeep ने न सिर्फ अपनी life चेंज की हैं बल्कि seminaar करके लाखों-करोड़ो लोगो को एक बेहतर ज़िंदगी जीने के लिए inspire किया हैं. आइए जानते हैं ऐसे Quotes जो आपकी ज़िंदगी बदल सकते हैं..

1. अगर मेरे जैसा लड़का जो दब्बू था.. जो शर्माता था.. वो अगर स्टेज पर आकर बोल सकता हैं तो दुनिया का कोई भी आदमी कुछ भी कर सकता हैं।

2. ज़िन्दगी में कभी भी कुछ करना हैं तो सच बोल दो, घुमा-फिरा कर बात मत करो।

3. जो मन करे वही करो.. Q कि यह दिन दोबारा नही आने वाला।

4. आज मैं जो कुछ भी हूँ, अपनी failures की वज़ह से हूँ।

5. सफलता Experience से आती हैं और Experience.. Bad experience से।

6. जो लोग अपनी सोच नही नही बदल सकते वो जिंदगी में कुछ नही बदल सकते।

7. तुम अपने दिमाग को कंट्रोल कर लो, नहीं तो फिर यह तुम्हें कंट्रोल करेगा।

8. किसी भी काम में अगर आप अपना 100% देंगे तो आप सफल हो जाएंगे।

9. पैसा उतना ही ज़रूरी हैं जितना कार में पेट्रोल, न कम, न ज्यादा।

10. जिस व्यक्ति ने अपनी आदतें बदल लीं उसका कल अपने आप बदल जाएगा, और जिसने नहीं बदलीं, उसके साथ कल भी वही होगा जो आज तक होता आया हैं।

11. अगर आप उस इंसान की तलाश कर रहे हैं जो आपकी ज़िन्दगी बदलेगा, तो आईने में देख लें।

12. अगर आप महानता हासिल करना चाहते हैं तो इजाजत लेना बंद किजिए।

13. गलतियां इस बात का सबूत हैं कि आप कम से कम प्रयास तो कर रहे हैं।

14. एक ‘इच्छा’ कुछ नहीं बदलती, एक ‘निर्णय’ कुछ बदलता हैं, लेकिन एक ‘निश्चय’ सब कुछ बदल देता हैं।

15. सफलता हमेशा अकेले में गले लगाती हैं.. लेकिन असफलता हमेशा सबके सामने तमाचा मारेगी.. यही जीवन हैं।

16. चाहे तालियां गूँजें या फीकी पड़ जाएँ, अंतर क्या हैं ? इससे मतलब नहीं है कि आप सफल होते हैं या असफल. बस काम करिये, कोई काम छोटा या बड़ा नहीं होता।

17. मैं सिर्फ good luck को मानता हूँ, bad luck नाम की इस दुनिया में कोई चीज नहीं, क्योंकि जो होता हैं अच्छे के लिए होता हैं। इसका मतलब हमारे साथ कुछ बुरा भी हो रहा हैं तो बुरा लग रहा हैं बुरा हैं नहीं, आज बुरा लग रहा हैं आगे आने वाले टाइम पर पता चलता हैं कि वो भी अच्छे के लिए हुआ हैं।

18. वो क्या सोचेगा…ये मत सोचो…वो भी यही सोच रहा हैं. एक समय लोग मुझसे कहते थे.. ये ले दस रुपये और मेरी photo खींच दे.. अगर मैं यही सोचता कि लोग क्या कहेंगे तो मैं आज यहाँ नहीं होता.. “दुनिया का सबसे बड़ा रोग क्या कहेंगे लोग”।

19. सीखो सबसे, परन्‍तु follow किसी को मत करो।

20. अगर आपके पास ज़रूरत से ज़्यादा हैं तो उसे उनसे बाँटिये जिन्हें इसकी सबसे ज़्यादा ज़रूरत हैं।

21. मैं इस वजह से successful नहीं हूँ कि कुछ लोगों को लगता हैं कि मैं successful हूँ.. मैं इस वजह से successful हूँ Q कि मुझे लगता हैं कि मैं successful हूँ..

Posted in EDUCATION, INDIAComments (0)

Sex Worker की बेटी ने न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी की स्कॉलरशिप जीत कर पलट दी क़िस्मत की बाज़ी

जिन मुश्किलों और संघर्षों का ज़िम्मेदार हम अकसर क़िस्मत या ईश्वर को ठहरा देते हैं, कुछ लोग उन्हीं मुश्किलों से लड़कर आगे निकल जाते हैं और क़िस्मत को भी मात दे देते हैं. शायद यही ख़्याल आएगा आपको इस लड़की की कहानी जानकर.

न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी की स्कॉलरशिप जीतने वाली 19 साल की अश्विनी ने अपनी ज़िन्दगी में बहुत से उतार-चढ़ाव देखे हैं. फ़ेसबुक पेज Humans of Bombay पर इस लड़की की कहानी शेयर की गई. मगर इस मुस्कुराते चेहरे के पीछे जितना दर्द और संघर्ष छिपा है, उसको कोई तस्वीर नहीं बयां कर सकती.

Source: Topyaps

अश्विनी की मां एक सेक्स वर्कर थीं. उन्होंने महज़ 8 साल की उम्र में अश्विनी को ख़ुद से दूर एक एनजीओ में भेज दिया. यहां से शुरू हुआ अश्विनी का सफ़र, आज न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी तक पहुंच गया.

Humans of Bombay के पेज पर अश्विनी ने लिखा,

'मैं ज़िन्दगी भर भागती रही. मैं जब 5 साल की थी तो अपनी मां से डरकर भाग गई, जो कि एक सेक्स वर्कर थीं. वो लिपस्टिक जैसी छोटी सी चीज़ भी गुम हो जाने पर भी मुझे बुरी तरह पीट देती थीं.
शुरूआती दिनों में उनके साथ की मेरी कुछ यादें हैं. मैं अपने दोस्तों के साथ बिल्डिंग में छुपा-छुपी खेल रही थी और ग़लती से पीछे खड़ी Bikes से टकरा गई. वो सब गिरती चली गईं. चौकीदार ने हमें बिल्डिंग में बंद कर दिया और मां से शिकायत कर दी. उसके बाद मेरी मां चिल्लाते हुए झाड़ू लेकर मेरी तरफ़ आई. मैं बहुत तेज़ डर गई और तेज़ी से भाग गई'.

एनजीओ हॉस्टल में ग़लतियों पर पीटा और भूखा रखा जाता था

Source: stringerpress

मां ने अश्विनी को जिस एनजीओ हॉस्टल में भेजा था वहां के नियम इतने कड़े थे कि नियमों को तोड़ने पर अश्विनी को बुरी तरह पीटा जाता और कई दिनों तक भूखा रखा जाता. 10 साल तक उसे गालियां और भूख सहनी पड़ी क्योंकि उसकी मां इस बीच गुज़र चुकी थीं और अब उसका कोई नहीं था. छोटी सी उम्र में ज़िन्दगी की नई शुरुआत करना कठिन था. उसकी कुछ सहेलियां भागकर क्रांति नाम की एक संस्था, जो लड़कियों की देखभाल करती थी, में चली गईं. अश्विनी भी एक दिन वहां चली गई.

'क्रांति' एनजीओ अश्विनी की ज़िन्दगी में सचमुच क्रांति लेकर आया. उसने वहां रहते हुए अलग-अलग Art Forms के बारे में सीखा. उसने पश्चिम बंगाल में थियेटर और हिमाचल में फ़ोटोग्राफ़ी सीखी. इस संस्था के माध्यम से उसने पूरा भारत घूमा. इसके साथ ही उसने गुजरात के एक एनजीओ के साथ और दिल्ली में दलित समुदाय के साथ काम किया. अश्विनी एक आर्ट थेरेपिस्ट बनना चाहती है ताकि उन लोगों की मदद कर सके, जो ख़ुद को अभिव्यक्त नहीं कर सकते.

अश्विनी की मदद को सामने आए लोग 

अपने सपने को पूरा करने के लिए उसने न्यूयार्क यूनिवर्सिटी में अप्लाई किया. उसका आवेदन तो स्वीकार किया ही गया साथ ही उसे स्कॉलरशिप भी मिल गई. स्कॉलरशिप के अंतर्गत अश्विनी की पढ़ाई का पूरा ख़र्च यूनिवर्सिटी वहन करेगी, पर रहने-खाने का ख़र्च उसे ख़ुद ही उठाना होगा.

Source: Ketto

अश्विनी को वहां रहने और खाने के लिए लगभग 10 लाख रुपये चाहिए थे और उसके पास इतनी बड़ी रकम नहीं थी. Humans of Bombay पेज ने अश्विनी की मदद करने के लिए उसकी कहानी शेयर की. उसकी मदद के लिए कई लोग आगे आये और अब तक 11 लाख से ज़्यादा रुपये इकट्ठा हो चुके हैं. आर्थिक मदद के अलावा भी न्यूयॉर्क में रहने वाले कुछ भारतीयों ने अश्विनी को अपने घर पर रुककर पढ़ाई पूरी करने का ऑफ़र दिया है.

अश्विनी की इस कहानी में हर इन्सान के लिए एक प्रेरणा है कि मुश्किलें कभी भी इन्सान के इरादों से बड़ी नहीं हो सकतीं. हौसला हो तो अंधेरी गलियों से निकलकर इन्सान, न सिर्फ़ रौशनी में आ सकता है, बल्कि दुनिया को रौशन भी कर सकता है.

 

Source: topyaps

Posted in EDUCATIONComments (0)

95 प्रतिशत नम्बर लाने वाले ऋषि ने सिर्फ़ परीक्षा ही पास नहीं की, बल्कि कैंसर को भी हराया है

कहते हैं कि लहरों से डर कर नौका पार नहीं होती और कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती. कुछ ऐसे ही हैं रांची के ऋषि. कैंसर पीड़ित इस छात्र ने वो कारनामा कर दिखाया, जिसके बाद हर कोई इन्हें सलाम करने में हिचक नहीं रहा.

इस बार आए 12वीं के रिज़ल्ट में ऋषि ने 95 प्रतिशत नम्बर प्राप्त किये हैं. लेकिन ये नम्बर जिस परिस्थिति में आए हैं वो काबिले तारीफ़ है. साल 2014 में 10वीं की परीक्षा के दौरान ऋषि को हड्डियों का कैंसर हो गया था. इस कारण वो अपनी परिक्षा नहीं दे पाए थे. इलाज़ के दौरान उन्होंने 2015 में अपनी बोर्ड की परीक्षा दी और पास हुए.

Source: HT

ऋषि की हालत का पता इस बात से लगाया जा सकता है कि उन्हें हर तीसरे महीने दिल्ली के एम्स में इलाज़ के लिए आना पड़ता है. ऐसे में उनकी पढ़ाई पर भी गहरा असर पड़ता था. लेकिन इन सब परेशानियों के बीच ऋषि ने कभी भी पढ़ाई को नहीं छोड़ा.

इतना ही नहीं, ऋषि ने अपने इस स्ट्रगल को शब्दों में भी उतारा है. उन्होंने 'Patient-Patient' नाम की एक किताब भी लिखी है, जो ऑनलाइन वेबसाइट पर काफ़ी बिक रही है.

Source: Yourstory

ऋषि को अभी वक़्त लगेगा पूरी तरह से इस बीमारी से उबरने में. लेकिन अपनी इस परेशानी के बावजूद ऋषि ने अपने सपनों का पीछा करना नहीं छोड़ा और आज उनके नम्बर उनकी जीत की कहानी बयां कर रहे हैं.

Posted in EDUCATIONComments (0)

हरियाणा बोर्ड ने 10 वीं कक्षा की गलत मेधा सूची जारी की, दो कर्मचारी निलंबित !

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने सोमवार को 10वीं कक्षा की गलत मेधा सूची जारी कर दी, जिसे लेकर उसे असहज स्थिति का सामना करना पड़ा। हालांकि बाद में इस गलती को सुधार लिया गया। इस संबंध में दो कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है। अधिकारियों के मुताबिक कंप्यूटर से जुड़ी गड़बडी के कारण ऐसा हुआ। इस साल के परीक्षा परिणाम उत्साहजनक नहीं रहे हैं और प्राय: परीक्षा देने वाला हर दूसरा छात्र उतीर्ण नहीं हो सका है। इतनी बड़ी गलती की भनक लगते ही बोर्ड ने दोबारा दो घंटे बाद नई लिस्ट जारी कर पहले की लिस्ट में टॉप रहे बच्चे से माफी मांगी और भविष्य में ऐसी गलती दोबारा ना होने का आश्वासन दिया है।

गौरतलब है कि पहली लिस्ट में फतेहाबाद की मोनिका को 500 में से 493 अंको के साथ पहले नंबर पर, 491 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर भिवानी के रूपेश को तथा 490 अंक पाने पर फतेहाबाद की अंजलि, हिसार के रवि कुमार एवं जींद के रजत को तीसरा टॉपर बताया गया था। बोर्ड ने सुधार के बाद जो नई टॉपर लिस्ट जारी की है उसके बाद सिरसा के युद्धवीर ने 499 अंक लेकर प्रदेश में पहला स्थान पाया है। वहीं 496 अंक लेकर जींद के सुमित  ने दूसरा तथा 495 अंक लेकर जींद की ही सोनम व पलवल के राकेश ने तीसरा स्थान पाया है। इस पूरे मामले के बाद बोर्ड चेयरमैन डॉ. जगबीर सिंह व सचिव अनिल नागर ने दोबारा से नई लिस्ट जारी की। बोर्ड चेयरमैन व सचिव ने बताया कि पहली लिस्ट गलत जारी हुई वो कंप्यूटर द्वारा किसी विषय में 100 अंक लेने वाले बच्चों को डी ग्रेड में डाल दिया जिससे उनके अंक 100 की बजाय 90 काऊंट हो गए। उन्होंने बताया कि ये तकनीकी गलती थी।

चेयरमैन व सचिव ने गलत लिस्ट जारी होने पर पहली लिस्ट में टॉप दर्शाए गए बच्चों से माफी मांग और आश्वासन दिया कि भविष्य में ऐसी गलती नहीं होगी। उन्होंने बताया कि  इस गलती पर जिस कंपनी ने रिजल्ट तैयार किया है उसपर दो लाख रुपए जुर्माना लगाया गया है और रिजल्ट की जांच करने वाले दो कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया गया है। बोर्ड चेयरमैन डॉ. जगबीर सिंह ने बताया कि एक हजार 23 बच्चों ने किसी ना किसी विषय में 100 अंक प्राप्त किए थे, जिनके टॉपर लिस्ट के दौरान 90 काऊंट हो गए थे। बोर्ड सचिव अनिल नागर ने बताया कि जब वो चेयरमैन के साथ बैठकर टॉपर बच्चों के अंक जांच रहे थे तो पूरी गलती का पता चला। उन्होंने बताया कि नई टॉपर लिस्ट के बाद पहली टॉपर लिस्ट के बच्चों के अंको में कोई फैरबदल नहीं हुआ है। भले ही अब बोर्ड प्रशासन माफी मांगे लेकिन बोर्ड की इस लापरवही से पहले लिस्ट के टॉपर रहे बच्चों को मायूसी हाथ लगी है।

Posted in EDUCATIONComments (0)

Fake थी ख़बर किCM योगी आदित्यनाथ ने प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों से आरक्षण को हटा दिया है

कल से आपने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, योगी आदित्यनाथ के उस फ़ैसले की बड़ी वाह-वाही सुनी होगी, जिसके हिसाब से, 'उन्होंने UP के प्राइवेट मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में रेज़र्वेशन को ख़त्म करने का ऑर्डर दिया.' आपकी ख़ुशी पर ज़रा-सा लगाम लगाने की कोशिश कर रहे हैं, असल में योगी ने ऐसा कोई फ़ैसला नहीं लिया और ये ख़बर पूरी तरह से Fake है.

Source: One India

कल शाम से ही वाह-वाही की इस बाढ़ की शुरुआत की, India Today के उस अति-उत्साही आर्टिकल ने, जिसने बिना जांच किये ये न्यूज़ छाप दी. उनकी देखा-देखी कई Desktop Journalists ने बिना News Source की जांच किये, इसे पब्लिश कर दिया. थोड़ी देर में ये ख़बर फैल गयी कि योगी ने मेडिकल कॉलेजों से आरक्षण हटाने का निर्णायक फ़ैसला दे दिया.


पहले न्यूज़ ब्रेक करने की होड़ में इंडिया टुडे ने ये भी कह डाला कि पहले ये फ़ैसला समाजवादी पार्टी की सरकार का था, जिसे योगी Implement कर रहे हैं.

इस Fake न्यूज़ का भांडा-फोड़ किया New Indian Express में, जब उन्होंने Principal Secretary, Medical Education से इस बारे में बयान लिया. उन्होंने ऐसे किसी भी फ़ैसले को झूठ बता दिया.

The Wire में छपे आर्टिकल में ये बात साफ़-साफ़ लिखी हुई है कि इस बाबत 2006 में पॉलिसी बनाई गयी थी, जिसमें अभी तक कोई बदलाव नहीं आया है. ये बात Times of India को दिए Quote में Director General Medical Education, डॉ. वी.के. त्रिपाठी ने कही.

Source: Education Flash

10 मार्च के ऑर्डर के हिसाब से, अखिलेश यादव की सरकार ने मेडिकल और डेंटल के PG कोर्सेज़ के लिए NEET (National Eligibility cum Entrance Test) की मेरिट लिस्ट – 2017 के हिसाब से एक नयी एडमिशन पॉलिसी रिलीज़ की थी. इस ऑर्डर के क्लॉज़ 7 के हिसाब से, प्राइवेट मेडिकल और डेंटल कॉलेज में PG कोर्सेज़ के लिए SC/ST/OBC के लिए किसी भी तरह का आरक्षण नहीं होगा.

इस ख़बर से एक बात तो तय है कि प्रत्रकारिता जिन स्तंभों पर खड़ी हुई थी, आज वो जर्जर हो चुके हैं.

 

Source: The Wire 

Posted in EDUCATIONComments (0)

advert