Tag Archive | "ajeybharat.com"

जल्द ही दर्शकों के बीच होगी फिल्म ‘पहल


अजेयभारत.कॉम /सुनील निषाद/एकलव्य फिल्मस् एण्ड टेलीविजन प्रोडक्शन हाउस मुम्बई के बैनर तले बन रही फिल्म पहल की शूटिंग अब पूरी हो गयी है। जल्द ही सिनेमाघरों में दर्शको के बीच होगी। पहल एक सामाजिक फिल्म है इस फिल्म के माध्यम से समाज में व्याप्त बुराईयों पर करारा प्रहार है। फिल्म पहल की शूटिंग उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जनपद में हुई है।
 
अभिनेता राजशेखर साहनी और अभिनेत्री प्रियंका रघुवंशी अभिनीत यह फिल्म अगस्त के अन्त तक रिलीज कर दी जाएगी। इस फिल्म की खासियत यह भी है कि इस फिल्म के गाने भी बहुत अच्छे हैं। और इस फिल्म के दो गाने हिमाचल प्रदेश के नदी और पहाड़ों की वादियों में शूट किये गए हैं। अभिनेता राजशेखर साहनी की यह पहली फिल्म है राजशेखर महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय वर्धा मुम्बई से आर्ट ऑफ परफार्मेंस की पढ़ाई की है।
 
और इसी दौरान उन्होंने कई नुक्कड़ नाटक भी किये हैं। लेकिन भीष्म साहनी के नाटक हानुश से राजशेखर साहनी बहुत प्रसिद्ध हो गए। राजशेखर साहनी ने बताया कि शूटिंग के समय सभी लोग एक साथ एक ही गाड़ी में बैठकर शूटिंग स्थल पर जाते थे और उस काफी हंसी मजाक भी हुआ करता था। टीम के साथ बिताये गये पल हमेशा याद रहेंगे क्योंकि पूरी टीम का प्यार और सहयोग हमेशा मिलता रहता था। और इस फिल्म के अधिकांश कलाकार नवोदित हैं जिन्होंने फिल्म की दुनिया में अपना पहला कदम रखा है। टीम में सबसे बड़ा चीज अनुशासन होता है तथा पूरी टीम एक अनुशासन के साथ ही काम करती थी।
 
मैं सभी दर्शकों से यही कहना चाहूंगा कि आप सभी लोग हमारी फिल्म 'पहल' को जरूर देखिए। सामाजिक फिल्म होने के बावजूद भी फिल्म में मनोरंजन दृश्य भी देखने मिलेंगे। फिल्म में कई अन्य सहायक कलाकार भी हैं जिन्होंने बहुत अच्छा अभिनय किया है।

Posted in ENTERTAINMENTComments (0)

Sandeep Maheshwari ये Quotes आपकी ज़िंदगी बदल सकते हैं..


Sandeep Maheshwari Quotes in Hindi
संदीप माहेश्वरी के Quotes आपकी ज़िदगी बदल सकते हैं

Sandeep maheshwari Sandeep Maheshwari Wiki : क्या आप संदीप माहेश्वरी को जानते हैं ? अगर नही जानते तो आज जान जाइए.. Q कि ये एक ऐसा शख्स हैं जो आपकी ज़िंदगी बदल सकता हैं। कहने को तो “संदीप” एक आम-सा नाम हैं, और आप संदीप नाम के बहुत से लोगो को जानते होंगे.. लेकिन आज हम जिस संदीप के बारे में बताने जा रहे हैं वो स्पेशल हैं ..Q कि इस Sandeep ने न सिर्फ अपनी life चेंज की हैं बल्कि seminaar करके लाखों-करोड़ो लोगो को एक बेहतर ज़िंदगी जीने के लिए inspire किया हैं. आइए जानते हैं ऐसे Quotes जो आपकी ज़िंदगी बदल सकते हैं..

1. अगर मेरे जैसा लड़का जो दब्बू था.. जो शर्माता था.. वो अगर स्टेज पर आकर बोल सकता हैं तो दुनिया का कोई भी आदमी कुछ भी कर सकता हैं।

2. ज़िन्दगी में कभी भी कुछ करना हैं तो सच बोल दो, घुमा-फिरा कर बात मत करो।

3. जो मन करे वही करो.. Q कि यह दिन दोबारा नही आने वाला।

4. आज मैं जो कुछ भी हूँ, अपनी failures की वज़ह से हूँ।

5. सफलता Experience से आती हैं और Experience.. Bad experience से।

6. जो लोग अपनी सोच नही नही बदल सकते वो जिंदगी में कुछ नही बदल सकते।

7. तुम अपने दिमाग को कंट्रोल कर लो, नहीं तो फिर यह तुम्हें कंट्रोल करेगा।

8. किसी भी काम में अगर आप अपना 100% देंगे तो आप सफल हो जाएंगे।

9. पैसा उतना ही ज़रूरी हैं जितना कार में पेट्रोल, न कम, न ज्यादा।

10. जिस व्यक्ति ने अपनी आदतें बदल लीं उसका कल अपने आप बदल जाएगा, और जिसने नहीं बदलीं, उसके साथ कल भी वही होगा जो आज तक होता आया हैं।

11. अगर आप उस इंसान की तलाश कर रहे हैं जो आपकी ज़िन्दगी बदलेगा, तो आईने में देख लें।

12. अगर आप महानता हासिल करना चाहते हैं तो इजाजत लेना बंद किजिए।

13. गलतियां इस बात का सबूत हैं कि आप कम से कम प्रयास तो कर रहे हैं।

14. एक ‘इच्छा’ कुछ नहीं बदलती, एक ‘निर्णय’ कुछ बदलता हैं, लेकिन एक ‘निश्चय’ सब कुछ बदल देता हैं।

15. सफलता हमेशा अकेले में गले लगाती हैं.. लेकिन असफलता हमेशा सबके सामने तमाचा मारेगी.. यही जीवन हैं।

16. चाहे तालियां गूँजें या फीकी पड़ जाएँ, अंतर क्या हैं ? इससे मतलब नहीं है कि आप सफल होते हैं या असफल. बस काम करिये, कोई काम छोटा या बड़ा नहीं होता।

17. मैं सिर्फ good luck को मानता हूँ, bad luck नाम की इस दुनिया में कोई चीज नहीं, क्योंकि जो होता हैं अच्छे के लिए होता हैं। इसका मतलब हमारे साथ कुछ बुरा भी हो रहा हैं तो बुरा लग रहा हैं बुरा हैं नहीं, आज बुरा लग रहा हैं आगे आने वाले टाइम पर पता चलता हैं कि वो भी अच्छे के लिए हुआ हैं।

18. वो क्या सोचेगा…ये मत सोचो…वो भी यही सोच रहा हैं. एक समय लोग मुझसे कहते थे.. ये ले दस रुपये और मेरी photo खींच दे.. अगर मैं यही सोचता कि लोग क्या कहेंगे तो मैं आज यहाँ नहीं होता.. “दुनिया का सबसे बड़ा रोग क्या कहेंगे लोग”।

19. सीखो सबसे, परन्‍तु follow किसी को मत करो।

20. अगर आपके पास ज़रूरत से ज़्यादा हैं तो उसे उनसे बाँटिये जिन्हें इसकी सबसे ज़्यादा ज़रूरत हैं।

21. मैं इस वजह से successful नहीं हूँ कि कुछ लोगों को लगता हैं कि मैं successful हूँ.. मैं इस वजह से successful हूँ Q कि मुझे लगता हैं कि मैं successful हूँ..

Posted in EDUCATION, INDIAComments (0)

टाइटैनिक’ जहाज से जुड़े 35 ग़ज़ब रोचक तथ्य


Amazing Facts about Titanic History in Hindi – टाइटैनिक जहाज दुर्घटना की स्टोरी व रोचक तथ्य

टाइटैनिक

टाइटैनिक जहाज में जनता का शुरू से ही जबरदस्त इंटरेस्ट रहा है. टाइटैनिक पर, वो सबकुछ था जितना उस वक्‍त एक पैसे वाला व्‍यक्ति कल्‍पना कर सकता था. इसमें लोगो का इंटरेस्ट हो भी क्यूँ ना… इंसान ने ये चीज ही ऐसी बनाई थी. आज हम बात करेंगे उस टाइटैनिक की जिसे कभी न डूबने वाला जहाज कहा जाता था.

1. जब टाइटैनिक बनकर तैयार हुआ तब यह दुनिया की सबसे बड़ी चलने वाली चीज थी. यह 882 फीट यानि फुटबाॅल के 3 मैदान जितना लंबा और 17 माले की बिल्डिंग जितना ऊँचा था. यदि इसे सीधा खड़ा कर दिया जाता तो यह उस समय की हर इमारत से ऊँचा होता.

2. Titanic जहाज का पूरा नाम था ‘RMS Titanic’ (RMS stands for Royal Mail Ship). इसे बनाने वाली कंपनी का नाम था ‘White Star Line’.

3. टाइटैनिक जहाज नार्थ आयर्लैंड के बेलफास्ट में 31 march, 1909 को तीन हजार लोगो की टीम ने बनाना शुरू किया था. 26 महीनों बाद 31 may, 1911 को यह बनकर तैयार हुआ. इसे बनाते समय 246 लोगों को चोट लगी और 2 लोगों की मौत हुई. 31 मई, 1911 को जब यह पूरा बनकर तैयार हुआ तब इसे देखने के लिए 1 लाख लोग आए थे.

4. 1912 में टाइटैनिक बनाने वाले, कुशल कारीगरों को एक हफ्ते के 10 डाॅलर व अकुशल कारीगरों को एक हफ्ते के 5 डाॅलर मिलते थे.

5. 10 April, 1912 को टाइटैनिक इंग्लैंड के साउथम्पटन से न्यूयार्क की तरफ अपनी पहली और आखिरी यात्रा के लिए रवाना हुआ. यह रास्ते में दो जगह रूका. Cherbourg, northern France में और Cobh, Ireland में. सफर के चौथे दिन यह उत्तरी अटलांटिक सागर में एक हिमपर्वत से टकरा गया. तब यह जमीन से 640 किलोमीटर दूर था.

titanic history in hindi6. इतिहास में Titanic अकेला ऐसा जहाज हैं जो Icebarg (हिमखंड) के टकराने से डूबा. 14 April, 1912 की रात 11 बजकर 40 मिनट पर टाइटैनिक उत्तरी अटलांटिक सागर में बर्फ के एक बड़े से टुकड़े से टकराया था. (आप ऊपर Iceberg की और जहाँ से जहाज की टक्कर हुई थी वो फोटो देख सकते हो लाल सर्कल वाली जगह से जहाज में टक्कर के बाद पानी भरना शुरू हुआ था). टक्कर के 2 घंटे 40 मिनट बाद यह पूरी तरह डूब चुका था. इसके डूबने की गति 16 किलोमीटर प्रति घंटा थी और इसे समुंद्र की आखिरी सत्तह तक पहुंचने में मात्र 15 मिनट लगी.

7. जब आफिसर्स को आइसबर्ग दिखाई दिया तब उनके पास action लेने के लिए महज 37 second बचे थे. Iceberg दिखते ही 1st officer ‘Murdoch’ ने जहाज को left मोड़ने का और इंजन रूम को इंजन रिवर्स चलाने का आर्डर दिया और जहाज को left मोड़ भी दिया गया था लेकिन ये उस आइसबर्ग से बचने के लिए काफी नही था. यदि 30 second और पहले पता लग जाता तो शायद टाइटैनिक को बचाया जा सकता था.

8. Iceberg थोड़ा पहले भी दिखाई दे जाता लेकिन टाइटैनिक के क्रू मेंबर के पास दूरबीन नही थी. ये एक लाॅकर में रखी थी जिसकी चाबी गुम हो गई थी.

9. जब Titanic ने emergency signal भेजे, तब Californian नाम का जहाज उसके सबसे नजदीक था. लेकिन टाइटैनिक का wireless operator लगभग खराब हो चुका था. ऐसा माना जाता है कि यदि कैलीफोर्नियन का रिप्लाई आ जाता तो ओर ज्यादा जान बचाई जा सकती थी.

10. जहाज के धीरे-धीरे डूबने की खबर मिलने के बावजूद भी इसके म्यूजिशियन आखिरी साँस तक गाना बजाते रहे ताकि वो और कुछ समय बाद मरने वाले लोग अपने आखिरी पलों को खुशी से बिता सके.

11. टाइटैनिक जहाज पर डूबने वालो में सबसे ज्यादा पुरूष थे. क्योंकि इस मुश्किल की घड़ी में कुछ समझदार लोग निकलकर आगे आए और लोगो को किश्तियों में बैठाते समय ‘महिला और बच्चे पहले’ ये प्रोटोकाॅल फाॅलो किया गया. जहाज पर मौजूद नौ कुत्तों में से दो कुत्ते भी जिंदा बचा लिए गए थे.

12. लाइफबोट, 1st class की टिकट लेने वाले लोगों के सबसे नजदीक थी. इसलिए 1st class के 60%, 2nd class के 42% और 3rd class के सिर्फ 25% यात्री जिंदा बच पाए.

13. Titanic को 64 lifeboats (छोटी किश्तियाँ) ले जाने के लिए डिजाइन किया गया था. लेकिन 20 लाइफबोट ही ले जाई गई ये सभी लोगों को बचाने के लिए काफी नही थी लेकिन यदि सभी लाइफबोट पूरी तरह से भरी जाती तो 1178 लोगो की जान बचाई जा सकती थी, जबकि 706 ही बच पाए. कारण ये रहा, कि कुछ किश्तियाँ थोड़े से लोग ही लेकर भाग गए. जैसे:- लाइफबोट 1 में 40 लोग आ सकते थे लेकिन सात क्रू मेंबर और पाँच पैसेंजर इसे लेकर भाग गए. वैसे ही लाइफबोट 7 में 65 लोग आ सकते थे लेकिन इसे भी 24 लोग ही लेकर चल दिए.

14. जिस जगह पर टाइटैनिक डूबा था, वहाँ पानी का तापमान -2°C था. जिसमें कोई भी व्यक्ति 15 मिनट से ज्यादा जिंदा नही रह पाया.

15. एक अनुमान के अनुसार जहाज पर 2,222 लोग सवार थे. जिनमें से 1314 यात्री और 908 क्रू मेंबर थे. इनमें से 1500 से ज्यादा आदमी डूब गए और 706 बच गए, अभी तक इनमें से 337 लोगो की ही लाशें मिल पाई है.

16. Titanic के यात्रियों के पास कैश, ज्वैलरी समेत 60 लाख डाॅलर का सामान था.

17. 13 नवविवाहित जोड़े टाइटैनिक पर हनीमून मनाने के लिए आए थे.

18. टाइटैनिक के बोर्ड पर हर दिन ‘Atlantic Daily Bulletin’ समाचार पत्र प्रकाशित होता था. इसमें न्यूज, विज्ञापन, स्टाॅक की कीमतें, घोड़ों की रेस के परिणाम से लेकर दिन के मेन्यू तक सब कुछ छपता था.

19. Titanic में लगी सीटी को 16 किलोमीटर दूर तक सुना जा सकता था.

20. टाइटेनिक पर यात्रियों और स्‍टॉफ को खाने के लिये 39,000 किलो मीट, 40 हजार अंडे, 40 टन आलू, 1,590 किलो प्‍याज, 36,000 सेब मौजूद थें. जहाज पर हर रोज 63,000 लीटर पानी की खपत्त होती थी.

21. Full load होने के बाद Titanic का वजन 46,326 टन था (करीब 4 करोड़ 63 लाख 26 हजार किलो). इतने वजन के बावजूद भी यह 42 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ सकता था.

22. टाइटैनिक पर एक दिन में 600 टन यानि 6 लाख किलो कोयला जलाया जाता था. 176 आदमी अपने हाथों से ये कोयला भठ्ठी में डालते थे. हर 24 घंटे में 1 लाख किलो राख समुंद्र में बहाई जाती थी.

23. जहाज का इंजन 46,000 हार्स पाॅवर की ऊर्जा पैदा करता था. यह boeing 777 विमान के इंजन की आधी है.

24. Titanic की चार चिमनियां थी, इनमें से सिर्फ तीन से धुआं निकलता था. चौथी चिमनी नकली थी ये जहाज को ओर मजबूत व खूबसूरत दिखाने के लिए लगाई गई थी.

25. दिन 1 Sept. 1985, आखिर डूबने के 73 साल बाद Titanic का मलबा ढूंढ ही लिया गया. यह समुंद्र में 12,600 फीट की गहराई पर मिला.

titanic in hindi

26. अपने आखिरी पलों में टाइटैनिक के बीच से टूटकर दो टुकड़े हो गए थे. ये दोनों टुकड़े आज भी समुंद्र में पड़े है और इनके बीच की दूरी 600 मीटर है. वैज्ञानिक अभी तक स्पष्ट रूप से नही बता पाए कि जहाज के दो टुकड़े क्यूँ हुए थे.

27. जिस Iceberg की वजह से Titanic डूबा, वह 10,000 साल पहले ग्रीनलैंड के एक गलेशियर से अलग होकर आया था. यह 100 फीट ऊँचा था. टक्कर के दो हफ्ते बाद यह भी नष्ट हो गया क्योंकि इसको भी काफी नुकसान पहुंचा था.

28. टाइटैनिक के डूबने के साथ इंग्लैंड की अर्थव्यवस्था को भी गहरा झटका लगा था. क्योंकि इसमें सफर करने वाले सबसे ज्यादा अमीर आदमी इंग्लैंड के थे, ‘John Jacob Astor IV’ जो जहाज पर सबसे अमीर आदमी था वह भी इंग्लैंड का ही था. उस समय इसकी कुल संपत्ति $85 million थी.

29. 1997 में एक मूवी आई थी “Titanic”, जिसका बज़ट ‘Titanic जहाज’ से भी ज्यादा था. जहाज को बनाने में 75 लाख डाॅलर (करीब 48 करोड़ रूपए), जबकि मूवी को बनाने में 20 करोड़ डाॅलर (करीब 12 अरब रूपए) का खर्च आया था. यह फिल्म कमाई के मामले में world में 2nd नंबर पर है (1st पर Avatar). इसने 2 अरब डाॅलर की कमाई की. इतने पैसों से आज 5 टाइटैनिक बनाए जा सकते है.

30. Titanic फिल्म ने 11 Oscars अवार्ड जीतें, लेकिन acting के लिए इनमें से एक भी नही है.

31. ‘Millvina Dean’ टाइटैनिक दुर्घटना में बचने वाली आखिरी जिंदा इंसान थी. ये भी 31 may, 2009 को 97 साल की उम्र में मर गई. यह टाइटैनिक पर सबसे छोटी थी और इसकी उम्र 2 महीने थी.

32. Titanic क्रैश होने के बाद जो जापानी बच गए थे उनके परिवार को जापान के लोग आज भी कायर कहते हैं Q कि वो उनके पूर्वज अन्य लोगो के साथ नही मरे.

33. टाइटैनिक के टट्टीघर का पोट भी निकल आए तो लाखो में बिकता है. 31 march, 2012 को टाइटैनिक के फर्स्ट क्लास का मेन्यू 62 लाख में बिका.

34. टाइटैनिक में कुछ लोग ऐसे भी थे, जो इसमें सफर नही करना चाहते थे. दरअसल कोयले की कमी के कारण इसकी कंपनी व्हाइट स्टार लाइन ने ओशिएनिक और एड्रियाटिक नाम के दो जहाजो की यात्रा रद्द करनी पड़ी थी और इन दोनों जहाजों के यात्रियों को टाइटैनिक में शिफ्ट कर दिया गया था.

35. Titanic जहाज की टिकट का रेट कितना था ? 1st class, 2nd class, 3rd class के लिए क्या-क्या फैसिलिटी थी ?

Ans. Titanic में 1st class में सफर करने के लिए उस समय 4,350 डॉलर (करीब 2 लाख 70 हजार रुपए) चुकाने पड़ते थे. 2nd class के लिए 60 डॉलर (करीब 4 हजार रुपए) और 3rd class के लिए 30 डॉलर (करीब दो हजार रुपए) की रकम चुकानी पड़ती थी. 1st class यात्रियों के लिए 20,000 बीयर की बोतलें, 1,500 शराब की बोतलें व 8,000 सिगार थे. जहाज पर 2 library थी, एक फर्स्ट क्लास के लिए व एक सेकेंड क्लास के लिए. इतने बड़े जहाज पर केवल 6 toilets थी. 3rd class के 700 यात्रियों के लिए केवल 2 बाथरूम थी और 3rd class के यात्रियों को हर समय इंजन की तेज आवाज सुनाई देती थी.

Posted in WORLDComments (0)

तोंद कम हो जाएगी अगर नाश्‍ते में खाएंगे ये स्‍नैक


कई बार सुबह के समय आपको सबसे ज्यादा भूख परेशान करती है और ऐसे में आपको भूख के अलावा और कुछ नहीं सूझता। ऑफिस में होने पर खाना खाने के लिए आपको लंच टाइम का इंतज़ार करना ही पड़ता है। ऐसे में आप एक बार से ज्यादा लंच करने के बारे में सोच भी नहीं सकते खासतौर से जब आप वजन घटाने के लिए डाइट पर हों।

ऐसे में आप सुबह के समय वजन घटाने के लिए कोई स्‍वास्‍थ्‍यवर्द्धक स्‍नैक्‍स ले सकते हैं। ब्रेकफास्ट से लंच के बीच घंटों का अंतराल होता है और इसी समय में सबसे ज्यादा भूख लगती है। इस समय आपको कुछ गलत खाने की बजाय हैल्दी स्नैक्स लेने चाहिए।

अब आप सोच रहे होंगें कि भला हैल्दी स्नैक्स में क्या खाया जा सकता है। तो चलिए आपकी इस मुश्किल को दूर करते हुए आज हम आपको बताते हैं कि ब्रेकफास्ट से लंच के बीच लगने वाली भूख को हैल्दी स्नैक्स से कैसे दूर किया जा सकता है।

लंच से पहले भूख लगने पर आप ओवरईटिंग कर सकते हैं जिससे सिर्फ आपका वजन ही बढ़ेगा। वहीं लंच के बाद शाम तक कुछ न खाने की स्थिति में आपको शरीर कुपोषण का शिकार हो सकता है। इसके चलते आपका शरीर उस कैलोरी को खर्च करने लगता है जो उसे बचाकर रखना चाहिए। नाश्ते और लंच के बीच में हैल्दी स्नैक खाने से आपमें भरपूर एनर्जी बनी रहती है।

इसलिए लंच से पहले अपनी भूख को शांत करने के लिए आप ये हैल्दी स्नैक्स जरूर ट्राई करें। इन स्नैक्स ये आपके वजन में भी कमी आएगी। तो चलिए फिर जानते हैं इन हैल्दी स्नैक्स के बारे में।

 
 
 1. ग्रैनोला बार्स
 

VIDEO : Weight Loss Tips | Sleep more to eat less | सो कर घटाए वज़न

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

1. ग्रैनोला बार्स

 

 

ग्रैनोला बार्स में शुगर और कैलोरी की मात्रा काफी कम होती है। इसमें फाइबर के सात तरह के अनाज, 6 प्रकार के प्रोटीन, पांच तरह की शुगर होती है इसलिए वजन घटाने के लिए ये परफैक्ट स्नैक है।

 

 

 

 

 
2. चीज़ और एप्पल स्लाइस

 

 

2. चीज़ और एप्पल स्लाइस

 

 

ब्रेकफास्ट और लंच के बीच हैल्दी स्नैक में चीज़ सबसे बैस्ट ऑप्शन होता है। इसमें चार तरह के फाइबर और 70 कैलोरी होती है। साथ ही सेब से आपको फाइबर भी मिलता है। अगर आप वजन घटा रहे हैं या डाइट पर हैं तो ये स्नैक आपके लिए ही बना है।

 

 

 

 

3. भुने हुए छोले

 

 

3. भुने हुए छोले

 

 

एक कटोरी भुने हुए छोलों में आठ ग्राम प्रोटीन और 6 ग्राम फाइबर होता है। आप इस स्नैक को अपनी टेबल पर रखकर आराम से खा सकते हैं।

 

 

 

 

 
4. स्ट्रॉेबेरी और ग्रीक योगर्ट

 

 

4. स्ट्रॉेबेरी और ग्रीक योगर्ट

 

 

स्ट्रॉेबेरी और ग्रीक योगर्ट आपको एनर्जी से भर देता है। इस स्नैक में 20 ग्राम प्रोटीन होता है जिससे आपका पेट जल्दी भर जाता है। वहीं स्ट्रॉबेरी से प्रचुर मात्रा में प्रोटीन मिलता है।

 

 

 

 

 
5. पिस्ता

 

 

5. पिस्ता

 

 

पिस्ता में 6 ग्राम प्रोटीन और तीन ग्राम फाइबर होता है। ये स्नैक आपकी भूख को शांत करता है। साथ ही वजन घटाने के लिए ये सबसे सही स्नैक है।

 

 

 

 

 
6. उबले अंडे और आटा ब्रेड

 

 

6. उबले अंडे और आटा ब्रेड

 

 

अगर आपको ऑफिस में बहुत ज्यादा ही भूख लगती है तो आप दो उबले अंडे और आटा ब्रेड भी खा सकते हैं। ब्रेड के साथ अंडे खाने से आपको प्रोटीन, फैट और फाइबर तीनों एकसाथ मिल जाता है।

 

 

 

 

 
7. लो फैट कॉटेज चीज़ और केला

 

 

7. लो फैट कॉटेज चीज़ और केला

 

 

कॉटेज चीज़, प्रोटीन का बेहतर स्रोत है। एक चौथाई कप में दस ग्राम कॉटेज चीज़ होती है। वहीं एक केले में दस ग्राम फाइबर होता है जिससे पेट भरा रहता है। भूख मिटाने का इससे बेहतर हैल्दी तरीका आपको कोई और मिल ही नहीं सकता है।

 

 

 

 

 
8. क्रैकर्स और बादाम का मक्खन

 

 

8. क्रैकर्स और बादाम का मक्खन

 

 

क्रैकर्स में 60 कैलोरी और तीन ग्राम फाइबर होता है। आप इसके ऊपर बादाम का मक्खन या‍नि आल्मंड बटर भी लगा सकते हैं। इससे आपको प्रोटीन और हैल्दी फैट भी मिलता है।

 

 

 

 

 
9. चिकन एंड चीज़ लैटस रैप

 

 

9. चिकन एंड चीज़ लैटस रैप

 

 

अगर आप लो फैट स्नैक खाना चाहते हैं तो आपको चिकन एंड चीज़ लैटस रैप ट्राई करना चाहिए। इसमें 12 ग्राम प्रोटीन होता है। आप इसके ऊपर थोड़े चिया के बीज भी डाल सकते हैं। इससे आपको फाइबर भी मिलेगा। ये भी बैस्ट मॉर्निंग स्नैक है।

 

 

 

 

 

 

 

 

Posted in HEALTHComments (0)

ऐसा क्या हुआ, जो मनी प्लांट को पैसे देने वाला पौधा मानने लगे लोग?


हम में से कुछ के घरों में एक पौधा छोटी बोतल या गमले में रहता है, जिसे लोग अक्सर दूसरों के घरों से चुराकर अपने यहां लगाते हैं. ये पौधा सूरज की रौशनी से दूर रहकर भी लम्बे समय तक ग्रीन और फ्रेश लगता है. सही पकड़े हैं! हम मनी प्लांट की ही बात कर रहे हैं.

मनी प्लांट एक ऐसा पौधा है, जो ज़्यादातर घरों में इस विश्वास के साथ लगाया जाता है, कि ये घर में रुपये-पैसे की कमी नहीं होने देगा और इसको लगाने से घर में सुख, समृद्धि और शांति आएगी. मगर क्या आपको पता है कि मनी प्लांट को समृद्धि से जोड़ने के पीछे की कहानी क्या है? आइए हम बताते हैं.

Source: pinterest

मनी प्लांट से जुड़ी एक प्रचलित लोककथा है. ताइवान में एक ग़रीब किसान था. मेहनत के बावजूद उसकी तरक्की नहीं हो रही थी. इसलिए वो उदास रहने लगा. एक दिन उसे खेत में एक पौधा मिला, जो दिखने में थोड़ा अलग था. किसान उस पौधे को उठाकर घर ले गया और घर के बाहर मिट्टी में रोप दिया. उसने देखा कि पौधा बहुत लचीला है और बिना ज़्यादा देखभाल के भी अपने आप बढ़ता जा रहा है.

Source: blogspot

पौधा, जिस तरह से बिना किसी सहायता के अपने आप ही बढ़ रहा था, किसान को इससे प्रेरणा मिली. पौधे के इस विकास ने उसके दिमाग़ में एक सकारात्मक ऊर्जा भर दी. किसान ने निर्णय लिया कि वो पौधे जैसा ही अपने व्यक्तित्व में लचीलापन लाएगा और अपने लक्ष्य के प्रति समर्पित रहेगा. वो बिना किसी की परवाह किए आगे बढ़ता रहेगा. जल्द ही उस पेड़ में फूल आ गए, तब तक किसान भी अपनी मेहनत से एक सफ़ल व्यवसायी बन चुका था.

लोगों ने किसान की सफ़लता का राज़ उसके घर के बाहर लगे हरे-भरे पौधे को मान लिया और इस तरह धीरे-धीरे लोगों ने उसे समृद्धि से जोड़कर, उसका नाम मनी प्लांट रख दिया.

 

Source: evelynlim

इस कहानी के अलावा भी कई मान्यताएं हैं, जिनके अलग-अलग आधार हैं. फेंगशुई के अनुसार, ये पौधा आसपास की हवा को शुद्ध बनाता है. ये रेडिएशन का प्रभाव कम करता है और ऑक्सीज़न छोड़ता है.

कहानी तो जान गए आप, अब एक बात और समझ लीजिए. किसी चीज़ में आस्था हमें हमेशा बल देती है. मगर ज़िन्दगी में कुछ भी पाने के लिए मेहनत बहुत ज़रूरी है. हो सकता है मनी प्लांट आपकी समृद्धि को लम्बे समय तक क़ायम रखे, मगर समृद्धि बढ़ाने के लिए मेहनत आपको ही करनी पड़ेगी.

लखनऊ के शायर मलिकज़ादा जावेद का एक शेर है:

'जिन्हें भरोसा नहीं होता अपनी मेहनत पर, मनी प्लांट घरों में वही लगाते हैं.'

Posted in DHARMComments (0)

प्रधान मंत्री मोदी के सपनों को साकार करने पूर्व से तैयार-व्यास


दमोह/ajeybharat.com/प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी के सपनों को साकार करने बैंक पूर्व से तैयार है हम वह सारी सुविधाओं को ग्राहकों को उपलब्ध कराने के लिये कटिबद्ध हैं जो वर्तमान समय में आवश्यक हैं यह बात सेन्ट्रल आॅफ इंडिया के फील्ड जनरल मैनेजर अजय व्यास ने उपस्थितों को संबोधित करते हुये कही। श्री व्यास स्थानीय होटल में आयोजित रिटेल के्रडिट केम्प में बोल रहे थे।

उन्होने कहा कि 105 बर्ष पुरानी यह संस्था है जिसकी स्थापना सर सोरावजी पोचखानवाला ने की थी। जब सारा देश आजादी की लडाई लड रहा था तब श्री पोचखानवाला आर्थिक आजादी की लडाई लड रहे थे। उन्होने मात्र 26 बर्ष की उम्र में सेन्ट्रल बैंक की स्थापना की थी जिसमें पूंजी,पूजीपति एवं कर्मचारी सारे भारतीय थे। श्री व्यास ने कहा कि दुनिया में हमारा 272 वां एवं देश में तीसरे चैथे स्थान पर हैं। 5 करोड ग्राहक बैंक के पास हैं जो कि हमारी विभिन्न योजनाओं का लाभ ले रहे हैं। कम ब्याज पर सरलता से ़़ऋण उपलब्ध कराना हमारी प्राथमिकता में सम्मिलित है। जन्म से लेकर जीवन के अंतिम क्षण तक बैंक आप सभी के साथ है। कार्यक्रम का शुभारंभ मंचासीन अतिथि फील्ड जनरल मैनेजर अजय व्यास,क्षेत्रीय प्र्रबंधक शीशराम तुन्दवाल,कार्यक्रम अध्यक्ष श्री मेहता एवं दमोह के बरिष्ठ प्रबंधक सुनील जैन ने मां वीणा पाणी एवं सर सोरावजी पोचखानवाला के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलन एवं पुष्प माल अर्पित कर किया।

मंचासीन अतिथियों का पुष्पगुच्छ एवं शाल श्रीफल के साथ स्वागत एवं मान वंदना प्रबंधक श्री जैन ने किया। प्रथम वक्ता के रूप में क्षेत्रीय प्रबंधक श्री तुन्दवाल ने बैंक की विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी देते हुये आम जनमानस से बैंक से जुडने का आग्रह किया। वहीं श्री मेहता ने भी बैंक के लगातार ग्राहकों के साथ सहयोगात्मक कार्य के लिये प्रशंसा की।

उन्होने ने कहा कि प्रबंधक श्री जैन के सकारात्मक सहयोग के कारण आज बैंक में लगातार नये ग्राहक बडी संख्या में जुड रहे हैं। इस अवसर पर बैंक के सहयोगी एवं स्टाफ के लोगों को भी सम्मानित किया गया। वहीं आवास एवं शिक्षा ऋण की स्वीकृति पत्र भी हितग्राहियों को वितरित किये गये। कार्यक्रम का आभार बरिष्ठ प्रबंधक सुनील जैन एवं मंच का सफल संचालन प्रबंधक राजभाषा महेन्द्र जैन ने किया। इस अवसर पर बडी संख्या में गणमान्य नागरिकों की उपस्थिति रही।

Posted in INDIAComments (0)

इस जगह पर जाने से लड़कियां बन जाती हैं PORN STAR!


नई दिल्ली। हमेशा कई लोग अलग-अलग जगहों पर पार्टी करने के लिए जाते हैं काम की थकान और खुद को रिफ्रेश करने के लिए। लेकिन एक ऐसी भी जगह है जहां के लिए हम आपसे कहें कि अगली बार पार्टी के लिए नई जगह पर जाने से पहले एक बार जरूर सोचना। 

स्पेन में एक ऐसी जगह है जहां लोग तो आते हैं पार्टी करने लेकिन उनकी आबरू और भविष्य दोनों खतरे में पड़ जाते है। क्योंकि दुनिया में एक जगह ऐसी भी है जहां जाने से लड़कियां पॉर्न स्टार बनती जा रही हैं। आपको यकीन नहीं हो रहा है ना लेकिन ये सच है। 

यहां आने वाली हर एक खूबसूरत और हॉट लड़कियों पर पॉर्न फिल्म प्रोड्यूसर की नजर रहती है। जवान लोग अक्सर इस आईलैंड पर छुट्टियां बिताने आते हैं। स्पेन के आईलैंड माजोर्का में स्थित प्रसिद्ध हॉलीडे रिसॉर्ट मैग्लफ में आने वाली ब्रिटिश महिलाओं को पॉर्न फिल्म मेकर अपना शिकार बना रहे हैं। 

डच, पूर्वी यूरोप और जर्मनी के कई पॉर्न फिल्म प्रोड्यूसर्स यहां स्थित बार के बाहर घूमते देखे गए हैं। महिलाओं को पॉर्न में काम करने के लिए यह लोग उनके पकड़े जाने का डर भी दूर कर देते हैं। वह बताते हैं कि उनकी यह पॉर्न फिल्म सिर्फ सब्सक्रिप्शन वाली विदेशी साइटों पर ही डाली जाएंगी। ये प्रोड्यूसर्स महिलाओं को कैमरे के आगे एक शारीरिक सम्बंद वाले सीन करने के लिए 500 पौंड की रकम भी देते हैं।

Posted in LIFE STYLE, WORLDComments (0)


advert