Recents in Beach

header ads

सिर पर फुटबॉल रखकर चलने का विश्व रिकार्ड बनाया !


रमेश सर्राफ धमोरा
झुंझुनू,27 दिसम्बर। सिरपर फुटबॉल रखकरसाढ़े आठ घंटे में 46. 5 किलोमीटर
चलने का विश्व रिकार्ड बनाने वाले गोवा में पोस्टेड नायब सूबेदार
आजादसिंह का उनके पैतृक गांव बड़ागांव में सम्मान में समारोह हुआ। बैंड
बाजों के साथ जुलूस निकाला गया। रिटायर कैप्टन नवलसिंह नानकंवर के बेटे
आजाद ने गीनिज बुक में नाम दर्ज होने और इसके लिए की कोशिश के बारे में
बताया। आजादसिंह के एक भाई अशोकसिंह आर्मी से रिटायर हैं एक अन्य डॉ.
शहजादसिंह तलवारबाजी में कई राष्ट्रीय स्पर्धायें जीत चुके हैं।
आजादसिंह ने बताया कि वो एक दिन स्पोर्ट्स  चैनल देख रहे थे। उसमें
आस्ट्रेलिया का जॉनसन सिर पर बोतल रखकर चल रहा था। उसे देख मैंने भी
अभ्यास शुरू कर दिया। आठ साल लगातार प्रयास किया। सिर पर बोतल रखकर 103
किलोमीटर साइकिल चलाई। 26 जुलाई 2014 को लिम्का बुक में यह रिकार्ड दर्ज
हुआ। तब उन्हें गोवा में ही 127वें डूरंड कप का ब्रांड एंबेसडर बनाया
गया। ब्रिगेडियर विजयसिंह ने उन्हें सिर पर फुटबॉल रखकर पैदल चलने के लिए
प्रेरित किया। चार महीने लगातार प्रेक्टिस करके यह मुकाम हासिल कर लिया।
पणजी गोवा में 16 दिसंबर 2014 को पुलिस लाईन से मीरा मार्ग डोनापाला गोवा
यूनिवर्सिटी होते हुये गोवा मेडीकल कालेज तक सिर पर फुटबाल रख कर साढ़े
आठ घंटे में 46. 5 किलोमीटर दूरी तय कर यह रिकार्ड बनाया। आजाद सिंह ने
पाकिस्तान से युद्ध  की 43 वीं वर्षगांठ विजय दिवस पर उक्त उपलब्धि हासिल
की। इससे पहले 15.2 किलोमीटर चलने का रिकार्ड बांग्लादेश के अब्दुल हलीम
के नाम था। चार महीने प्रेक्टिस के दौरान महज दो-दो घंटे सोते टीवी देखकर
वह सपना पाल लिया था जिसने नींद नहीं आने दी। चार महीने जमकर प्रेक्टिस।
चौबीस घंटे में महज दो घंटे सोना और दस-बारह घंटे तक सिर पर फुटबॉल रखकर
चलना। आखिर कामयाबी मिल गई। 16 दिसंबर को आजादसिंह ने रिकॉर्ड बना दिया।
आजाद सिंह ने बताया कि उनका अगला लक्ष्य जयपुर में सिर पर बोतल रख कर 103
किलोमीटर की दूरी तय करने का है।

Post a Comment

0 Comments