Recents in Beach

header ads

PK फिल्म के विरोध में हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल :बजरंग दास गर्ग

हिसार – पीके फिल्म के विरोध में विश्व हिन्दू परिषद, बजरंग दल व अनेकों धार्मीक व समाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों की एक अवश्यक बैठक हुई। इस बैठक में हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रान्तीय अध्यक्ष बजरंग दास गर्ग, विश्व हिन्दू परिषद के जिला मंत्री रविन्द्र गोयल, प्रदेश मीडिय़ा प्रचार प्रमुख विजय शर्मा, जिला संयोजक कपिल वत्स, जिला सहमंत्री संदीप बंसल, जिला मंत्री अनिल गोयल, संध प्रदेश कार्यकारणी सदस्य जगमोहन भारती, पीजीएसडी स्कूल के प्रधान नारायण दास बंसल, व्यापार मंडल के प्रदेश महामंत्री भीम सैन बवेजा, प्रदेश सचिव जगदीश तायल, अनाज मंडी प्रधान पवन गर्ग, लोहा व्यापार मंडल प्रधान रमेश लोहीयंा, सजक प्रधान सत्यपाल अग्रवाल, प्यारे लाल मंगाली वाला, डा. सुुभाष शर्मा, सब्जी मंडी रोड प्रधान भीम मक्कड़, बजरंग असरावा वाले, अनाज मंडी पूर्व सैक्टरी सुभाष बाबा, व्यापार मंडल युवा प्रधान अमन शर्मा, कार्यकारणी सदस्य अंकुर गोस्वामी, संजय बंसल आदि प्रतिनिधि मौजूद थे। इस बैठक में 13 सदस्य की कमेटी बनाई गई बजरंग  दास गर्ग, नारायण दास बंसल, रमेश लोहीयां, पवन गर्ग, अरविन्द्र गोयल, अनिल गोयल प्यारे लाल गोयल, संजय सूरा, नरेश सिंगल, सुरेश गुज्जर, अनिल कुंडू, कपील वत्स, सत्यपाल अग्रवाल।
प्रान्तीय अध्यक्ष बजरंग दास गर्ग ने उपस्थित प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि सैन्सर बोर्ड से मांग की है कि पीके फिल्म के बाबत जो पूरे देश के अन्दर आज हिन्दू धर्म के लिए विवादित मुद्दा बना हुआ है। पीके फिल्म पर रोक लगाई जाए या उसमें विवादित सीन को हटाया जाए। क्योंकि इस फिल्म में हिन्दू धर्म की भावनाओं को ठेस पहुचने का काम किया है। जिसे बर्दास्त नहीं किया जा सकता। प्रान्तीय अध्यक्ष बजरंग दास गर्ग ने यह भी कहा कि भारत हिन्दू देश है इस देश के हर नागरिकों की भावना हिन्दू धर्म से जुड़ी हुई है और हर देश का नागरिक देवी-देवताओं की पूजा करता है।
गर्ग ने केंद्र व राज्य सरकार से इस फिल्म पर रोक लगाने की मांग की है और फिल्म सैन्सर बोर्ड से मांग की है कि कोई भी फिल्म जिसमें किसी भी धर्म के खिलाफ विवादित सीन हो उस फिल्म को जब तक पास नहीं किया जाए तब तक उस फिल्म से वह विवादित सीन निर्माता हटा ना दे फिल्म का झूठे प्रचार करने के लिए फिल्म निर्माण जान बूझ कर धार्मिक भावनाओं को भडकाने के लिए फिल्मों में विवादित सीन डाल देते है ताकी बिना एड़ के फ्री में प्रचार फिल्म का हो जाए जो उचित नहीं है फिल्म निर्माता को भी ऐसी सीन नहीं डालने चाहिए। जिससे किसी भी धर्म की भावनाओं को ठेस पहुचे।

Post a Comment

0 Comments