Recents in Beach

header ads

अब तक गलत तरीके से पी रहे थे आप कुल्हड़ वाली चाय, जानिए कैसे आता है असली स्वाद

चाय, गर्मा गर्म चाय!

हाय! ये आवाज़ सुकून लाती है. हालांकि ये सिर्फ़ रेलवे स्टेशन या किसी बस स्टॉप पर ही ​सुनाई देती है, पर चाय तो हर जगह मिलती है न दोस्त. भारतीयों की रग-रग में देश प्रेम के साथ कुछ घुलता है, तो वो चाय. किसी दोस्त के साथ चाय पर घंटों गप्पे लड़ाना, तो कभी इसी के सहारे रात भर ​इम्तिहान की तैयारी करना. आज चाय पर चर्चा और खर्चा शायद ही किसी को भारी लगता हो. 

Source- Quora
इस चाय का मज़ा दोगुना हो जाता जब होठों से इसे कुल्हड़ के सहारे लगाया जाए. वो सौंधापन, वो खुशबू दिन बना देती है. वैसे अगर आप भी कुल्हड़ की चाय के शौकीन हैं, और आज तक आपने वो कुल्हड़ नहीं चबाई, तो अफ़सोस आपने आज तक चाय का असली मज़ा नहीं लिया.

Source- Pinimg
चाय के साथ कुल्हड़ खाना हमने उत्तर प्रदेश से सीखा है. हालांकि ये कोई व्यंजन नहीं है, जिसे हम पूरी तरह यूपी से जोड़ दें, लेकिन ये स्वाद इतना फीका भी नहीं है कि हम इसे नज़र अंदाज़ कर दें.

Source- Flickr
 कुल्हड़ में होंठ लगाते ही वो मिट्टी का स्वाद ज़ुबान के साथ दिल में उतर जाता है. ऐसे में चाय के साथ कुल्हड़ चबाना ग़ज़ब ही स्वाद देता है. वैसे अगर आप ब्लैक टी, ग्रीन टी, काहवा चाय या किसी और चाय की तुलना इससे कर रहे हैं, तो ​रुकिए जनाब! इस स्वाद का कोई मुकाबला नहीं है.
अगर आप भी चाय प्रेमी हैं, तो शेयर और कमेंट तो बनता है न दोस्त!

Post a Comment

0 Comments