Recents in Beach

header ads

उजाला योजना के उपभोक्ताओं से भद्दा मजाक, तीन साल की वारंटी के एलईडी बल्ब तीन माह में ही हो रहे खराब

कंपनी पर वारंटी के बाद भी बल्ब न बदलने के आरोप


साक्षी वालिया, सतनाली:  

एक ओर सरकार व बिजली निगम द्वारा हर घर को रोशन करने व बिजली की बचत के लिए एलईडी बल्ब व ट्यूबलाईटों के प्रयोग को बढ़ावा देने के उदेश्य से उजाला योजना को लागू कर कंपनी के माध्यम से रियायती दरों पर एलईडी बल्ब व ट्यूबलाईटें उपलब्ध करवाई जा रही है वहीं दूसरी ओर कंपनी द्वारा उजाला योजना के उपभोक्ताओं को घटिया स्तर के एलईडी बल्ब उपलब्ध करवाकर उनके साथ भद्दा मजाक किया जा रहा है।

उपभोक्ताओं ने बताया कि बिजली विभाग द्वारा बिजली की खपत को कम कर बचत करने के उदेश्य से करीब दो से तीन वर्ष पूर्व बिजलीघरों में उपभोक्ताओं को एलईडी बल्ब, ट्यूबलाईट व एलईडी पंखें उपलब्ध करवाने के लिए एक कंपनी को ठेका दिया गया था। कंपनी द्वारा उपभोक्ताओं को बिजली के एलईडी बल्ब व अन्य उपकरण भी रियायती दरों पर उपलब्ध करवाने शुरू कर दिए गए परंतु ये उपकरण उनके लिए परेशानी का सबब बने हुए है।

गांव पथरवा के एक उपभोक्ता दयानंद पथरवा ने बताया कि उसने सतनाली में उक्त कंपनी की दुकान से गत 10 अगस्त को 6 एलईडी बल्ब 420 रूपयें में खरीदे थे तथा कंपनी द्वारा इसकी वारंटी 3 साल की दी गई थी। परंतु उक्त बल्ब तीन माह में ही फ्यूज हो गए। वह इन बल्बों को बदलवाने के लिए कंपनी की दुकान व बिजलीघर के चक्कर काट रहा है लेकिन बल्ब नहीं बदलें जा रहे। पूछने पर बताया जा रहा है कि आगे से बल्ब नहीं आए है, आने के बाद बदल दिए जाऐंगे।

ऐसे में उपभोक्ताओं के साथ एलईडी बल्बों की खरीद के नाम पर भद्दा मजाक किया जा रहा है। वहीं अनेक उपभोक्ताओं ने भी कंपनी द्वारा घटिया स्तर के एलईडी बल्ब सप्लाई करने का आरोप लगाया है। उपभोक्ताओं ने बिजली निगम व प्रशासन से मामलें में हस्तक्षेप करते हुए उनके खराब बल्ब वारंटी अनुसार बदलवाने की मांग की है ताकि उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना न करना पडे।




इस बारें में जब बिजली निगम के एसडीओ से संपर्क करने का प्रयास किया गया तो उन्होंने फोन नहीं उठाया। वहीं कंपनी की ओर से नियुक्त सतनाली ब्लाक प्रभारी गोपीराम ने बताया कि पिछले तीन माह से स्टाक उपलब्ध न होने के कारण उपभोक्ताओं के बल्ब नहीं बदले जा रहे। ज्यों ही एलईडी बल्बों का स्टाक कंपनी की ओर से उपलब्ध होगा तो उपभोक्ताओं के बल्ब बदल दिए जाऐंगे।

कैप्सन:- कंपनी के माध्यम से खरीदे गए एलईडी बल्ब के बिल को दिखाता उपभोक्ता।

Follow ajeybharat on



Post a Comment

0 Comments