जिला उपायुक्त के खुले दरबार मे उठाने के बाद भी नही हुआ ग्रामीणों की समस्या का समाधान

सुरेहती मोडियाना व बास सतनाली के कच्चे रास्ते पर कई माह से जमा है गंदा पानी व कीचड़, राहगीरों को हो रही परेशानी


सतनाली : साक्षी वालिया:

एक ओर सरकार व प्रशासन ग्रामीण विकास के दावे कर रहे है वहीं दूसरी ओर ग्रामीण क्षेत्रों में गंदे पानी की निकासी व कच्चे रास्ते सरकार के दावों की पोल खोल रहे है। खंड के गांव सुरेहती मोडियाना से बास सतनाली की ओर जाने वाले कच्चे रास्ते पर गंदा पानी भराव होने व कीचड़ के कारण आवागमन के समय राहगीरों व स्कूली विद्यार्थियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

ग्रामीण इस समस्या को लेकर अनेक बार ग्राम पंचायत व प्रशासन के समक्ष गुहार लगा चुके  है परंतु कोई समाधान नही हुआ। इससे परेशान होकर ग्रामीणों ने जिला उपायुक्त के खुले दरबार मे गत 10 सितंबर को भी मामला उठाते हुए जिला उपायुक्त डॉ गरिमा मित्तल को समस्या से अवगत करवाया परन्तु जिला उपायुक्त ने समस्या के समाधान के लिए खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए लेकिन अढ़ाई महीने बीत जाने के बाद भी समस्या जस की तस बनी हुई है।



ग्रामीणों कृष्ण कुमार, रामानन्द, अमर सिंह, रणसिंह, सूबेदार धर्मपाल, दलीप सिंह, धर्मदत्त, कर्मपाल आदि ने बताया कि गांव सुरेहती मोडियाना से बास सतनाली की ओर जाने के लिए कच्चे रास्ते से प्रतिदिन सैकड़ो वाहनों व लोगो का आवागमन होता है। प्रतिदिन इसी रास्ते से स्कूली विद्यार्थी भी इस रास्ते को पार कर स्कूल तक पहुंचते है। इस रास्ते पर गन्दा पानी व कीचड़ जमा होने के कारण उन्हें यहां से गुजरते समय भारी परेशानी उठानी पड़ती है।

ग्रामीणों की माने तो वे इस समस्या को अनेक बार सरपंच व प्रशासन के समक्ष उठा चुके है तथा जिला उपायुक्त को भी अवगत करवा चुके है। इसके बावजूद भी ग्रामीणों की इस सार्वजनिक समस्या का समाधान करने के प्रति प्रशासन गंभीर नही है। ग्रामीणों ने प्रशासन से इस मुख्य रास्ते को पक्का करवाने की मांग करते हुए कहा कि जल्द से जल्द उनकी समस्या का समाधान करवाया जाए।


इस बारे में सरपंच प्रतिनिधि महेंद्र सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि इस रास्ते को पक्का करवाने का प्रस्ताव पंचायत विभाग को भेजा गया है, स्वीकृति मिलने के बाद इसे पक्का करवाया जाएगा।


वहीं खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी झाबर सिंह ने बताया कि आगामी 6 दिसम्बर को इस रास्ते की पैमाइश करवाई जाएगी तथा रास्ते पर जो अवैध कब्जे है उन्हें प्रशासन व पुलिस की मदद से हटवाकर 33 फुट चौड़े रास्ते को पक्का करवाया जाएगा। इस रास्ते पर अवैध कब्जे 14 नवंबर को हटाए जाने थे परंतु पुलिस की गैर मौजूदगी के कारण नही हटाये जा सके

Follow ajeybharat on


Post a Comment

0 Comments