अपने कार्यालय परिसर में सफाई व्यवस्था दुरूस्त करना सुनिश्चित करें अधिकारी:अंशज सिंह


लघु सचिवालय परिसर में सफाई व्यवस्था कायम रखने के लिए उपायुक्त ने दिए अधिकारियों को निर्देश

भिवानी, 22 नवंबर। 

उपायुक्त अंशज सिंह ने कहा है कि अपनी स्वयं व घर की स्वच्छता रखने के साथ-साथ वहां भी सफाई व्यवस्था दुरूस्त रखना उतना ही जरूरी हैं जहां हम कार्य करते है। अधिकारी अपने-अपने कार्यालयों व उनके आस-पास परिवेश में किसी भी प्रकार से गंदगी का आलम न बनने दें। सचिवालय को साफ व स्वच्छ बनाने में अपना पूरा योगदान दें।

उपायुक्त वीरवार को सफाई व्यवस्था को लेकर अपने कार्यालय में सभी विभागाध्यक्षों को निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि कार्यालयों के अंदर व बाहर गंदगी का आलम भी अधिकारियों व कर्मचारियों के कारण ही होता है। कार्यालयों के अधिकारी व कर्मचारी चाहें तो कार्यालय परिसर के आस-पास गंदगी नहीं हो सकती। 

उन्होंने कहा कि लघु सचिवालय परिसर में सफाई व्यवस्था दुरूस्त रखने की जिम्मेवारी अधिकारी वर्ग की बनती है। उन्होंने सभी विभागाध्यक्षों को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने कार्यालयों में डस्टबिन रखे, जिसमें कूड़ा डाला जा सके। उपायुक्त ने विशेष तौर पर लघु सचिवालय के प्रथम तल पर स्थापित कार्यालयों के विभागाध्यक्षों को निर्देश दिए कि वे कर्मचारियों को खिड़कियों से नीचे कूड़ा न फैकने दे। उन्होंने बताया कि सचिवालय परिसर में बड़े डस्टबिन भी रखवाए जाएंगे, जिनमें कार्यालयों के कूडा करकट को उसमें डाला जा सके। बड़े डस्टबिन से नगरपरिषद के कर्मचारियों द्वारा प्रतिदिन कूड़े का उठान करवाया जाएंगा।


लापरवाही बरतने पर होगा जबाब तलबउपायुक्त ने सख्त निर्देश देते हुए कहा कि यदि जरूरत पड़ी तो कार्यालयों के आस-पास सीसीटीवी कैमरे लगवाएं जाएंगे। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज के माध्यम से कचरा फैलाने वाले कार्यालय की जानकारी ली जाएगी और उनसे जबाब तलब किया जाएगा ताकि उनके खिलाफ कार्रवाई की जा सके। उपायुक्त ने कहा कि अधिकारी सफाई व्यवस्था को कायम रखने में कोताही न बरतें ताकि लघु सचिवालय परिसर को स्वच्छ व सुंदर रखा जा सके।

इस मौके पर एसडीएम सतीश कुमार, नगर परिषद चेयरमैन रण सिंह यादव, तहसीलदार राम निवास भांभू, डीआईओ पंकज बजाज, जिला न्यायवादी अनीता नूनीवाल, नगर परिषद सचिव राजेश महत्ता, जिला खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक अनिल कालड़ा, जिला संाख्यकीय अधिकारी शिवतेज सिंह सहित सचिवालय परिसर के विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष मौजूद थे।

Post a Comment

0 Comments