Recents in Beach

header ads

लापरवाह तथा विकास कार्यों का गलत एस्टीमेट बनाने वाले ग्राम सचिवों व जेई पर होगी कार्रवाई: एडीसी


विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त डॉ. मनोज कुमार ने दिए सख्त निर्देश


भिवानी, 19 नवंबर। अतिरिक्त उपायुक्त डॉ. मनोज कुमार ने कहा कि विकास कार्यों का गलत एस्टीमेट बनाने वाले लापरवाह ग्राम सचिव, जेई व संबंधित कर्मचारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने ग्राम सचिव व जेई को निर्देश दिए कि वे किसी भी प्रकार के दबाव में आकर ऐसी किसी भी गली के निर्माण का एस्टीमेट न बनाए जो पहले से ही बनी व दुरूस्त हालत में हो। उन्होंने पंचायत विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को उपयोगिता प्रमाण पत्र भी बिना किसी विलंब के समय पर देने के निर्देश दिए। 


अतिरिक्त उपायुक्त डॉ. कुमार सोमवार को पंचायत भवन में पंचायत विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने ग्राम सचिव व जेई को निर्देश दिए कि वे गांवों में नॉट फिजिबल कार्यों की कारण सहित सूची बनाकर उनके कार्यालय में भेजे ताकि उनकी जगह पर अन्य कार्यों पर पैसा खर्च किया जा सके। इसके साथ ही उन्होंने पूरे हो चुके निर्माण कार्यों की भी सूची शीघ्र भेजने को कहा। अतिरिक्त उपायुक्त ने महात्मा गांधी ग्रामीण बस्ती योजना के तहत बस्तियों में करवाई गए गली निर्माण व पेयजल आदि सुविधा मुहैया करवाने की भी रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा। 
विकास कार्यों का किया जाएगा निरीक्षण


अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि वे स्वयं गांवों में जाकर निर्माण कार्यों का निरीक्षण करेंगे। निरीक्षण के दौरान किसी भी प्रकार की कोताही मिली तो संबंधित अधिकारी-कर्मचारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने पंचायत विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों को निर्देश दिए कि वे ऐसी जगह पर निर्माण का एस्टीमेट न बनाए जहां पर अवैध कब्जा या कोर्ट केस लबिंत हो ताकि निर्माण कार्य में किसी प्रकार की देरी ना हो। उन्होंने निर्देश दिए कि ग्राम सचिव व जेई के पास ऐसी सूची अपडेट रहनी चाहिए, जिसमें यह पता चले कि कौनसा कार्य निर्माणधीन है और किस कार्य पर निर्माण शुरू नहीं हुआ है। 
30 नवंबर तक सभी नालों की सफाई के निर्देश 


अतिरिक्त उपायुक्त ने सभी ग्राम सचिवों को निर्देश दिए कि वे 30 नवंबर तक गांवों में पानी के लिए बने नालों की सफाई करवाना सुनिश्चित करे। उन्होंने कहा कि गांवों में सड़कों व गलियों में नालों का गंदा पानी ठहरना नहीं चाहिए, इसके लिए जरूरत की जगहों पर गड्डे बनाए जाएं ताकि उनमें पानी जमा हो सके। उन्होंने विधायक आदर्श ग्राम योजना में शामिल गांव जाटू लोहारी के ग्राम सचिव को सफाई व्यवस्था दुरूस्त करने के सख्त निर्देश दिए। उन्होंने निर्देश दिए कि किसी भी गांवों में स्कूल, आंगनवाड़ी केन्द्र, पंचायत घर व ग्राम सचिवालयों में गंदगी का आलम नहीं रहना चाहिए। अतिरिक्त उपायुक्त ने 15 दिसंबर तक गांवों में तालाबों की गाद निकलवाने के निर्देश दिए ताकि बारिश के दौरान जलभराव की स्थिति न बने। इसके लिए उन्होंने 25 नवंबर तक साफ किए जाने वाले तालाबों की सूची बनाकर देने को कहा। उन्होंने गांवों में गौरव पट्ट और विकास पट्ट भी अतिशीघ्र तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने गांवों में पंचायतों के सहयोग से नंदीशालाओं का निर्माण करवाकर बेसहारा नंदियों का आसरा बनवाने के लिए निर्देश दिए। 


इस मौके पर जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी राम सिंह ने भी जरूरी निर्देश दिए। इस दौरान सभी खंड विकास एवं पंचायत अधिकारियों के अलावा, ग्राम सचिव व जेई मौजूद थे।

Post a Comment

0 Comments