Recents in Beach

header ads

यूरिक एसिड ने शरीर को जकड़ रखा है ?:डा. सुभाष शल्य

रेखा वैष्णव :दिल्ली :
शरीर में यूरिक एसिड बढऩे की समस्या बड़ी तेजी से बढ़ रही है। आयु बढऩे के साथ-साथ यूरिक एसिड व गाउट व आर्थराइटिस समस्या का होना तेजी से आंका गया है। लाइफ स्टाइल, खान-पान, दिनचर्या के बदलाव से भोजन पाचन प्रक्रिया के दौरान बनने वाले ग्लूकोज प्रोटीन से सीधे यूरिक एसिड में बदलने की प्रक्रिया को यूरिक एसिड बनना कहते हैं। 
भोजन पाचन की प्रक्रिया दौरान प्रोटीन से ऐमिनो एसिड और प्यूरीन न्यूक्लिओटाइडो से यूरिक एसिड बनता है। जो भोजन खाया जाता है, उसमें पौष्टिकता संतुलन की कमी से रक्त में असंतुलन प्रक्रिया है जिससे प्यूरीन टूटने से यूरिक एसिड बनता है। यूरिक एसिड एक तरह से हड्डियों, जोड़ों व अंगों के बीच जमने वाले एसिड क्रिस्टल हैं। इससे चलने फिरने में चुभन व जकडऩ से दर्द होता है। यूरिक एसिड को शरीर में जमने वाले कार्बन, हाइड्रोजन, आक्सीजन, नाइट्रोजन का समायोजक माना जाता है।
यूरिक एसिड का समय पर नियत्रंण करना अति जरूरी है। यूरिक एसिड बढऩे पर समय पर उपचार न करने से जोड़ों - गांठों का दर्द, गठिया रोग, किडनी स्टोन, डायबिटीज, रक्त विकार होने की संभावनाएं ज्यादा बढ़ जाती हैं। रक्त में यूरिक एसिड की मात्रा को नियत्रंण करना अति जरूरी है।


यूरिक एसिड के लक्षण:
पैरों-जोड़ों में दर्द होना। पैर , एडिय़ों में दर्द रहना। गांठों में सूजन। जोड़ों में सुबह, शाम तेज दर्द होना। एक स्थान पर देर तक बैठने पर उठने में पैरों एडिय़ों में असहनीय दर्द। फिर दर्द सामान्य हो जाना। पैरों, जोड़ों, उगलियों, गांठों में सूजन होना। शर्करा लेवल बढऩा। इस तरह की कोई भी समस्या होने पर तुरन्त यूरिक एसिड की जांच करवायें।
यूरिक एसिड नियत्रंण करने के तरीके:
यूरिक एसिड बढऩे पर हाई फाइबर युक्त आहार खायें जिसमें पालक, ब्रोकली, ओट्स, दलिया, इसबगोल भूसी फायदेमंद हैं।
आंवला रस और एलोवेरा रस मिश्रण कर सुबह शाम खाने से 10 मिनट पहले पीने से यूरिक एसिड कम करने में सक्षम है।
टमाटर और अंगूर का जूस यूरिक एसिड तेजी से कम करने में सक्षम है। - तीनों वक्त खाना खाने के 5 मिनट बाद 1 चम्मच अलसी के बीज को बारीक चबाकर खाने से भोजन पाचन क्रिया में यूरिक एसिड नहीं बनता।
1 चम्मच शहद और 1 चम्मच अश्वगन्धा पाउडर को 1 कप गर्म दूध के साथ घोल कर पीने से यूरिक एसिड नियत्रंण में आता है।
यूरिक एसिड बढऩे के दौरान जैतून तेल का इस्तेमाल खाना बनाने में करें। जैतून तेल में विटामिन-ई एवं मिनरल्स मौजूद हैं जोकि यूरिक एसिड नियत्रंण करने में सहायक हैं।
यूरिक एसिड बढऩे पर खाने से 15 मिनट पहले अखरोट खाने से पाचन क्रिया शर्करा को ऐमिनो एसिड नियत्रंण करती है। जोकि प्रोटीन को यूरिक एसिड में बदलने से रोकने में सहायक है।
विटामिन सी युक्त चीजें खाने में सेवन करें। विटामिन सी यूरिक एसिड को मूत्र के रास्ते विसर्ज करने में सहायक है।
रोज 2-3 चेरी का सेवन यूरिक एसिड नियत्रंण में रखने में सक्षम है। चेरी गांठों में एसिड क्रिस्टल नहीं जमने देती।
सलाद में आधा नींबू निचोड़ कर खायें। दिन में 3 बार 2 गिलास पानी में 1 नींबू निचोड़ कर पीने से यूरिक एसिड मूत्र के माध्यम से निकलने में सक्षम है। चीनी, शहद न मिलायें।
तेजी से यूरिक एसिड घटाने के लिए रोज सुबह शाम 45-45 मिनट तेज पैदल चलकर पसीना बहायें। तेज पैदल चलने से एसिड क्रिस्टल जोड़ों गांठों पर जमने से रोकता है। साथ में रक्त संचार को तीव्र कर रक्त संचार सुचारू करने में सक्षम है। पैदल चलने से शरीर में होने वाले सैंकड़ों बीमारियों से आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है। तेज पैदल चलना एसिड को शीघ्र नियत्रंण करने में सक्षम पाया गया है।
बाहर का खाना पूर्ण रूप से बन्द कर दें। घर पर बना सात्विक ताजा भोजन खायें। खाने में ताजे फल, हरी सब्जियां, सलाद, फाइबर युक्त संतुलित पौष्टिक आहर लें।
रोज योग, आसन, व्यायाम करें। योग आसन और व्यायाम यूरिक एसिड को घटाने में मददगार हैं। साथ में योग-आसन-व्यायाम करने से मोटापा वजन नियत्रंण में रहेगा।
ज्यादा सूजन व दर्द में आराम के लिए गर्म पानी में सूती कपड़ा भिगो कर सेंक करें। - यूरिक एसिड समस्या शुरू होने पर तुरन्त जांच उपचार करवायें। यूरिक एसिड ज्यादा दिनों तक रहने से अन्य रोग आसानी से घर बना लेते हैं।

यूरिक एसिड बढऩे पर खान-पान:-
यूरिक एसिड बढऩे पर मीट मछली का सेवन तुरन्त बंद कर दें। नानवेज खाने से यूरिक एसिड तेजी से बढ़ता है। औषधि व दवाइयां असर कम करती हैं।
यूरिक एसिड बढऩे पर अण्डे का सेवन पूर्ण रूप से बंद कर दें। अण्डा रिच प्रोटीन वसा से भरपूर है जोकि यूरिक एसिड को बढ़ाता है।
बेकरी से बनी खाद्य सामग्री बंद कर दें। बेकरी फूड में प्रिजर्वेटिव मिला होता है जैसेकि पेस्ट्री, केक, पैनकेक, बंन्न, क्रीम और बिस्कुट इत्यादि।
यूरिक एसिड बढऩे पर तुरन्त जंकफूड, फास्ट फूड, ठंडा सोडा पेय, तली-भुनी चीजें बन्द कर दें। जंकफूड, फास्टफूड, सोडा ठंडा पेय पाचन क्रिया को और भी बिगाड़ती है जिससे एसिड तेजी से बढ़ता है।
चावल, आलू, तीखे मिर्चीले, चटपटे, तले पकवानों का पूरी तरह से खाना बन्द कर दें। ये चीजें यूरिक एसिड बढ़ाने में सहायक हैं।
डिब्बा बंद हर तरह की सामग्री खाना पूरी तरह से बंद कर दें। डिब्बा बंद खाने पीने की चीजों में भण्डारण के वक्त केमिकल रसायन मिलाया जाता है। हजारों तरह के बन्द डिब्बों और पैकेट की खाद्य सामग्री यूरिक एसिड तेजी से बढ़ाने में सहायक है।
अल्कोहल का सेवन पूर्ण रूप से बन्द कर दें। बीयर व शराब यूरिक एसिड को तेजी से बढ़ाती है। शोध में पाया गया है कि जो लोग लगातार बीयर व शराब नशीली चीजों का सेवन करते हैं, 7० प्रतिशत उनको सबसे ज्यादा यूरिक एसिड की समस्या होती है। यूरिक एसिड बढऩे पर तुरन्त बीयर, शराब पीना बन्द कर दें। बीयर व शराब स्वस्थ व्यक्ति को भी रोगी बना देती है। बीयर, शराब नशीली चीजें स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं।
यूरिक एसिड के स्तर को कम करने में सहायता मिलती है। इसके साथ प्रतिदिन चार - पांच लिटर पानी नित्य पीने से बहुत अच्छा असर आता है।
डा. सुभाष शल्य-9810124433



Post a Comment

0 Comments