Recents in Beach

header ads

क्राइम ब्रांच के तेज़ तर्रार उप निरीक्षक राजकुमार ने पकड़ा मासूम से दुष्कर्म करके हत्या के आरोपी को

रेखा वैष्णव :गुरुग्राम 

दिनांक 12-11-2018 को थाना सैक्टर-65 गुरुग्राम के एरिया में लगभग 3 वर्षीय बच्ची का नग्न अवस्था में शव मिला था। यह शव सैक्टर-66 मे एक कमरे मे मिला था जिसमे कोई नहीं रह्ता था तथा बिलकुल सुनसान था। सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस मौका पर पहुंची तो बच्ची की पहचान के प्रयास शुरू किए। उसी दिन थाना में एक व्यक्ति ने शिकायत दी थी कि उसकी 3 वर्षीय लड़की कल अर्थात दिनांक 11-11-2018 से लापता है। यह परिवार घटना स्थल से कुछ दूर पर झुग्गी मे रहता है। बच्ची के माता पिता मजदूरी का काम करते हैं तथा काफी दिनों से यही पर रह रहे थे।


थाना की पुलिस के अतिरिक्त सभी उच्च अधिकारी भी मौके पर गए तथा FSL टीम, क्राइम टीम, फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट टीम के अतिरिक्त क्राइम ब्रांच के अधिकारी भी मौका पर पहुंच गए थे। मामले की गंभीरता को देखते हुए तथा त्वरित व प्रभावी कार्यवाही करने के उद्देश्य से श्री के0के0 राव, IPS पुलिस आयुक्त गुरुग्राम ने तेजतर्रार अधिकारी श्री सुमित कुमार DCP Crime की अगुवाई में एक SIT का गठन किया जिसमें गुरुग्राम की क्राइम इकाइयों के तेजतर्रार पुलिस अधिकारी व कर्मचारी लगाए गए थे। 

इन्वेस्टिगेशन टीम द्वारा जांच करने पर ज्ञात हुआ कि दिनांक 11-11-2018 को यह लड़की पड़ोस में रहने वाली अपनी 2 सहेलियों के साथ खेल रही थी तो वहीं पास की झुग्गी में रहने वाला सुनील नाम का लड़का दिन में इस लड़की को कुछ चीज दिलाने का लालच देकर अपने साथ ले गया था और तभी से वह गायब थी। पुलिस टीम ने सुनील के बारे सभी आवश्यक जानकारी ली तो पता चला कि वह आवारा किस्म का लड़का है तथा मजदूरी करता है तथा कई कई दिन गायब भी रहता है। मृतक बच्ची का पोस्टमार्टम कराया गया तो उसके साथ बर्बर तरीके से बलात्कार होने की भी पुष्टि मेडिकल बोर्ड द्वारा की गई थी। गुरुग्राम पुलिस ने इस मामले को बहुत ही गंभीरता से लिया था तथा मुलजिम की गिरफ्तारी पर व इसकी सूचना देने वाले को 2 लाख रूपये इनाम की भी घोषणा की गई थी। 
SIT द्वारा कई टीमें बनाकर आरोपी की तलाश शुरू की गई। आरोपी मूल रूप से झांसी के पास जिला महोबा के एक गांव का रहने वाला था इसलिए क्राइम ब्रांच की कई टीमों को ग्वालियर, झांसी, महोबा आदि स्थानों पर उसी दिन रवाना कर दिया था तथा उसी दिन से ये टीमें वहीं डेरा जमाए हुई थी तथा आरोपी की तलाश में लगी हुई थी। आरोपी के बारे यह भी पता चला था कि यह भंडारे व मंदिर गुरुद्वारा आदि में फ्री में खाना खाने का आदि है तथा कहीं भी सो जाता है। यह कोई मोबाइल फोन भी नहीं रखता है और ना ही घरवालों से संपर्क करता है जिसके कारण इसे ढूंढना और भी कठिन हो गया था।
क्राइम ब्रांच सेक्टर-39 के प्रभारी SI राजकुमार की टीम को आज एक जानकारी मिली कि यह आरोपी गांव मगरपुर थाना सकरार जिला झांसी (उत्तर प्रदेश) में है तो टीम ने बड़ी मेहनत व सावधानी से वहां रेड की तथा आज दिन में लगभग 2 बजे इसको काबू किया। पुलिस टीम इस आरोपी को लेकर गुरुग्राम के लिए चल दी है तथा संभावना है ये देर रात तक यहां पहुंच जाएंगे।
घटना के दिन से ही गुरुग्राम पुलिस ने इस आरोपी को पकड़ने में दिन रात एक कर दिया था तथा तलाशी अभियान जारी था।
●पिछली 10 रातों से CP साहब व DCP Crime साहब खुद रात-रात भर जागकर इलाके में घूमकर खुद इस तलाशी अभियान को देख रहे थे। तलाशी अभियान के दौरान सभी थानों, क्राइम स्टाफ, PCR/Riders व नाकों पर तैनात सभी कर्मचारियों को लगा दिया था।
● इस दौरान पुलिस ने 2000 से अधिक लोगों को अलग अलग कंस्ट्रक्शन साइट्स व झुग्गी झोपडियों में पर्सनली चेक किया गया था।
●आरोपी भंडारे आदि में फ्री में खाना खाने का आदि है इसलिए गुरुग्राम में अलग अलग स्थानों में चल रहे सभी भंडारों को सिविल ड्रेस में तैनात पुलिस कर्मियों ने चेक किया था। यहां यह भी उल्लेखनीय है कि गुरुग्राम पुलिस द्वारा अलग अलग जगह भंडारो का भी आयोजन किया गया ताकि यह पकड़ में आ सके।
● इस आरोपी को पकड़ना गुरुग्राम पुलिस के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बन गया था इसलिए इसको पकड़ने के लिए गुरुग्राम पुलिस द्वारा अपने देशव्यापी इंटेलिजेंस सिस्टम का प्रयोग किया गया था।

Post a Comment

1 Comments