Recents in Beach

header ads

विजय कुमार की शहादत पर समूचे राष्ट्र को गर्व है: मंत्री रामबिलास शर्मा

तोशाम(भिवानी)।दक्षिणी कश्मीर के शोपिया जिले में मंगलवार को आतंकवादियों से मुठभेड़ में शहीद हुए विजय कुमार की अंतिम यात्रा में बुधवार को बड़ी संख्या में लोग जुटे। भारत माता की जय और विजय कुमार अमर रहे के जयकारों तथा पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारों के साथ शहीद विजय कुमार का पार्थिव शरीर सागवान गांव मोटरसाइकिलों के काफिले के साथ लाया गया। शहीद की अंतिम यात्रा में पहुंचा हर शख्स गुस्से से भरा था। शहीद को भारतीय सेना और हरियाणा पुलिस ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। सैनिक सम्मान के साथ सागवान में शहीद का अंतिम संस्कार किया गया। शहीद के पुत्र मोनू ने मुखाग्नि दी। 


बुधवार सुबह लगभग सवा दस बजे शहीद का पार्थिव शरीर पैतृक गांव सागवान पंहुचा। पार्थिव शरीर भिवानी से रवाना हुआ, बड़ी संख्या में मोटरसाइकिलों व कारों का काफिला शहीद की अंतिम यात्रा में आगे-आगे चला। भिवानी से काफिले के साथ पार्थिव शरीर गांव लाया गया। युवा तिरंगा लहराते हुए शहीद विजय कुमार अमर रहे, भारत माता के जयकारे लगाते रहे। युवाओं ने लगातार पाकिस्तान मुर्दाबाद के भी नारे लगाए। काफिले में साउंड पर देशभक्ति के गीत भी बजते रहे। एंबुलेंस की जिस गाड़ी में शहीद का पार्थिव शरीर रखा गया था। उसे फूलों से सजाया गया था। शहीद का पार्थिव शरीर जैसे ही सागवान पहुंचा तो वहां भारी संख्या में मौजूद हर किसी की आंखें नम हो गई। 
2001 में सेना की थी जॉइन


विजय कुमार (&7) भिवानी के गांव सागवान के रहने वाले थे। उन्होंने 12वीं तक पढ़ाई के बाद 2001 में बैंगलौर में 6 पैरा रैजिमेंट जॉइन की। विजय कुमार की शादी 17 नवंबर 2002 को राजस्थान के रामपुरा बेरी की रहने वाली सुमन से हुई थी। शहीद विजय कुमार के परिवार में पत्नी सुमन, पुत्र मोनू, दो बेटियां निशा व तन्नू के अलावा पिता जयदयाल, माता सुनहेरी देवी, भाई सतपाल हैं। सोमवार को ही विजय कुमार की सुमन से फोन पर बात हुई थी। लेकिन मंगलवार को शहादत की खबर आ गई।

शहीद विजय कुमार के घर पंहुचे शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने कहा कि विजय कुमार की शहादत पर समूचे राष्ट्र को गर्व है। शहीद हमारे देश की धरोहर हैं जिनको कभी बुलाया नहीं जा सकता। शहीद विजय कुमार ने बड़ी वीरता के साथ चार आतंकवादियों को ढेर मार गिराने में अहम भूमिका निभाई ऐसे सपूत के माता-पिता को मैं नमन करता हूं। शिक्षा मंत्री ने कहा कि प्रदेश की सरकार शहीद विजय कुमार के परिजनों के साथ है। 


सांसद धर्मबीर सिंह ने कहा कि शहीद विजय कुमार की शहादत पर पूरा देश गर्व करता है। उन्होंने बड़ी बहादुरी के साथ आतंकवादियों का मुकाबला किया जिसमें चार आतंकवादी मार गिराए। गांव सागवान के इस लाल पर गर्व है। सांसद ने इस मौके पर पाकिस्तान पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि हमारा पडौसी देश आतंकवाद की शरण स्थली है। पाकिस्तान अपना अधिकतर बजट इस पर खर्च करता है। 


इस मौके पर हिसार छावनी से कर्नल अमन ओबराय (कमाडेंट 15 आर्म्ड रैजिंमेंट), लेफ्टिनेंट कर्नल एमए खान (1& आर्म्ड रैजिमेंट), दो जेसीओ व 1& जवान गार्ड ऑफ ऑनर देने के लिए पंहुचे। शोपिया (कश्मीर) से कर्नल एसएस बिष्ट (सेना मेडल), कर्नल राजेश शर्मा के अलावा विभिन्न ऑफिसर व जवान, जिला सैनिक बोर्ड की तरफ वेलफेयर ऑफिसर औम कुमार, एसडीएम रविंद्र कुमार, डीएसपी कुलदीप बैनिवाल, एसएचओ जयसिंह, तहसीलदार सुभाषचंद्र, बीडीपीओ सुभाषचंद शर्मा शहीद विजय कुमार की अंतिम यात्रा में शामिल हुए। इनके अलावा सांसद धर्मबीर सिंह, पूर्व सांसद श्रुति चौधरी, कमल सिंह प्रधान, रविंद्र बापौड़ा, टोनी बराला, वासुदेव शर्मा, अनूप बागनवाला, सरपंच सुरेश कुमार, जिला पार्षद भूपेंद्र, जिला पार्षद प्रतिनिधि मुकेश आदि भारी तादाद में लोग शहीद की अंतिम यात्रा में शामिल हुए।



Post a Comment

0 Comments