Recents in Beach

header ads

रक्तदान अनमोल दान, इसका नहीं है कोई विकल्प : प्रो. कुहाड़

-हकेंवि में चौथे रक्तदान शिविर का हुआ आयोजन
- विद्यार्थियों, शिक्षकों, कर्मचारियों व स्थानीय लोगों में दिखा भारी उत्साह
महेंद्रगढ़ :विनीत पंसारी
हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेंवि) की एनएसएस व यूथ रेडक्रॉस इकाई द्वारा विश्वविद्यालय में बुधवार 28 नवम्बर को चौथे रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। इंडियन रेडक्रॉस सोसायटी, नई दिल्ली के सहयोग से आयोजित रक्तदान शिविर का उद्घाटन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आर.सी. कुहाड़ ने किया। इस मौके पर कुलपति प्रो. आर.सी. कुहाड़ ने रक्तदाताओं का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि मानव रक्त एक ऐसी चीज है जो मानव के शरीर के अलावा कहीं नहीं सकती। अतः इतनी दुर्लभ चीज का दान सबसे अनमोल दान है। अतिथियों को सम्मान चिह्न देकर सम्मानित करते हुए उन्होंने कहा कि इस शिविर का सफल आयोजन सभी की भागीदारी से ही संभव हो पाया है।


कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आर.सी. कुहाड़ ने कहा कि इस तरह के रक्तदान शिविर उन लोगों के लिए जीवनदान का काम करते हैं जिन्हे आपात स्थिति में आसानी से रक्त नहीं मिल पाता है। रक्तदाताओं का उत्साहवर्धन करते हुए उन्होंने कहा कि युवाओं को इस तरह के पुनीत कार्यों में बढ़चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए। रक्तदान एक ऐसा नेक कार्य है जिससे मानवता का रिश्ता मजबूत होता है। हमें समय-समय पर स्वैच्छिक कल्याण हेतु रक्तदान करना चाहिए। इस शिविर में हिस्सा लेने वाले रक्तदाताओं की कुलपति ने सराहना की और कहा कि उनका यह योगदान समाज के लिए बेहद उपयोगी है।
कार्यक्रम के अतिथि सह-आचार्य डॉ. आदित्य सक्सेना ने कहा कि स्वस्थ मनुष्य को जीवन में ज्यादा से ज्यादा रक्तदान करके परोपकार की भावना का निर्वहन करना चाहिए। रक्तदान शिविर में प्रमुख समाजसेवी श्रीमती मंजु कौशिक, महेंद्र नायक, महर्षि दयानन्द विश्वविद्यालय रोहतक से प्रो. राधेश्याम व प्रो. आशीष दहिया विशिष्ठ अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के छात्र कल्याण अधिष्ठाता प्रो. राजेश कुमार मलिक ने रक्तदान करने पहुँचे विद्यार्थियों, शिक्षकों, शिक्षणेत्तर सदस्यों के साथ स्थानीय लोगों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि रक्तदान मानवता के लिए बेहद जरूरी है और इसके माध्यम से किसी का जीवन बचाया जा सकता है
इसलिए हमें समय-समय पर रक्तदान करते रहना चाहिए। रक्तदान शिविर के संयोजक डॉ. दिनेश चहल ने बताया कि रक्तदान शिविर में विश्वविद्यालय    विद्यार्थियों, शिक्षकों, शिक्षणेत्तर सदस्यों के साथ स्थानीय लोगों ने काफी उत्साह दिखाया। उन्होंने टाईगर क्लब, नारनौल का सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने बताया कि चौथे रक्तदान शिविर में करीब 450 लोगों ने अपना पंजीकरण कराया, जिनके माध्यम से लगभग 200 यूनिट रक्त एकत्रित किया गया। सभी रक्तदाताओं को रक्तदान के पश्चात टाईगर क्लब, नारनौल के राकेश यादव के सहयोग से जलपान उपलब्ध कराया गया। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार रामदत्त, प्रो. नवल किशोर, शैक्षणिक अधिष्ठाता प्रो. बीर सिंह, स्वामी दयानंद सरस्वती पीठ के चेयर प्रोफेसर रणवीर सिंह, कला, मानविकी एवं सामाजिक विज्ञान पीठ की अधिष्ठाता प्रो. सारिका शर्मा, शोध अधिष्ठाता प्रो. संजीव कुमार, शिक्षा पीठ के अधिष्ठाता डॉ. प्रमोद कुमार, प्रो. अमर सिंह, प्रो. नीरजा धनखड, एनएसएस की महिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ. रेनु यादव, डॉ. आनंद शर्मा सहित शिक्षकगण, अधिकारी, शिक्षेणत्तर सदस्य, विद्यार्थी उपस्थित थे।          

Post a Comment

0 Comments