Recents in Beach

header ads

पशु छप्पर में लगी आग, जान पर खेलकर हंसराज ने पशुओं को बचाया


- पीडि़त किसान व हंसराज को आर्थिक सहायता व सम्मानित करने की मांग


साक्षी वालिया, सतनाली:

खंड के गांव जड़वा में एक किसान के पशुओं के छप्पर में अज्ञात कारणों से आग लग गई। इस दौरान गांव के बस अड्डे पर बैठे लोगों ने जब छप्पर से धुआं उठते देखा तो उन्होंने छप्पर में बंधे पशुओं को बचाने का प्रयास किया तथा पशुओं को खोलने के दौरान गांव का ही हंसराज व उसका पुत्र आग में झुलस गए। उन्हें कस्बे के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में लाया गया जहां से उन्हें महेंद्रगढ़ उप नागरिक हस्पताल के लिए रैफर कर दिया गया। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। गांव जड़वा निवासी सुभाष पुत्र रणजीत सिंह ने बताया कि उसने अपने घर के पास पशुओं के बांधने के लिए छप्पर बना रखा है।

उसके छप्पर में एक भैंस व कटड़ी बंधी हुई थी तथा अज्ञात कारणों से छप्पर में आग लग गई। आग लगने पर छप्पर से लपटें उठते देख व पशुओं की कराह सुनकर गांव के बस अड्डे पर बैठे हंसराज व उसका पुत्र तथा अन्य लोग बचाव के लिए दौड़े तथा उन्हें भी फोन पर सूचना दी। इस दौरान हंसराज पुत्र भागीरथ ने अपनी जान की परवाह न करते हुए आग से उसके पशुओं को बचा लिया तथा छप्पर से बाहर निकाला। परंतु पशुओं को बचाने के प्रयास में हंसराज खुद आग की लपटों में घिर गया तथा बुरी तरह से झुलस गया।

आग के कारण छप्पर भी जलकर राख हो गया। आग से झुलसे भैंस व कटड़े के ईलाज के लिए पशु चिकित्सक को सूचित किया गया और पुलिस में घटना की जानकारी दी। घायल हंसराज को भी सतनाली के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में लाया गया जहां से उसकी गंभीर हालत के चलते उसे महेंद्रगढ़ उप नागरिक हस्पताल रैफर कर दिया गया। ग्रामीणों ने बताया कि सुभाष गरीब परिवार से है और भैंस का दूध बेचकर तथा मजदूरी करके अपने परिवार का गुजारा करता है। उन्होंने बताया कि आगजनी की


घटना से उन्हें आर्थिक नुकसान हुआ है साथ ही उनकी भैंस तथा कटड़ा बुरी तरह से झुलस गए है। इसके अलावा गांव के हंसराज ने अपनी जान की परवाह न करते हुए पशुओं को आगजनी से बचाया है। उन्होंने प्रशासन से मांग की है कि सुभाष को नुकसाान की भरपाई के लिए आर्थिक सहायता दी जाए व हंसराज को भी आर्थिक सहायता प्रदान करते हुए बहादुरी के कार्य के लिए सम्मानित किया जाए। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई जिस पर पुलिस ने मौके का निरीक्षण कर आग के कारणों की जांच शुरू कर दी है।

Post a Comment

0 Comments