झज्जर व बहादुरगढ़ में स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए होगी रात को सफाई : सोनल गोयल

सीएम श्री मनोहर लाल ने वीडियो कांफ्रेंस से जानी स्वच्छता, बिजली बिल निपटान योजना 2018, पीएम उज्जवला, शिवधाम नवीनीकरण व सडक़ सुरक्षा उपायों की प्रगति 


डीसी सोनल गोयल ने योजनाओं की प्रगति का रखा सिलसिलेवार विवरण, जिला में अधिकारियों को दिए निर्धारित समसयसीमा में काम करने के निर्देश 


झज्जर, 21 नवंबर। 

उपायुक्त सोनल गोयल ने कहा कि झज्जर व बहादुरगढ़ शहरों में स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए रात के समय सफाई (मैकेनाइज्ड नाइट स्वीपींग) कार्य आरंभ कराया जाएगा। बहादुरगढ़ शहर में इस कार्य के लिए 12 सडक़ों की पहचान कर ली गई और टेंडर प्रक्रिया आरंभ की जा चुकी है। वहीं झज्जर शहर में इसी सप्ताह से अंत तक यह कार्य आरंभ होगा। उपायुक्त ने 
यह जानकारी हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल को बुधवार की सांय वीडियो कांफ्रेंस के जरिए दी।



मुख्यमंत्री श्री मनोहर लालचण्डीगढ़ से वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से राज्य के सभी जिलों में शहरी क्षेत्रों में स्वच्छता, बिजली बिल निपटान योजना 2018, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, शिवधाम नवीनीकरण योजना तथा सर्दी के मौसम में धुंध के दौरान सडक़ों पर हादसों की रोकथाम के लिए उठाए जाने वाले उपायों की जानकारी ले रहे थे। वीडियो कांफ्रेस के दौरान हरियाणा की शहरी विकास मंत्री कविता जैन तथा सहकारिता राज्य मंत्री मनीष ग्रोवर सहित वरिष्ठ अधिकारीगण भी मौजूद रहे।

श्रीमती सोनल गोयल ने बताया कि झज्जर जिला में बिजली बिल निपटान योजना 2018 के तहत जिला के 3800 उपभोक्ताओं को लाभ पहुंचाया है। इस योजना के तहत बिजली वितरण निगम को 2.93 करोड़ रुपए के बकाया बिल भी प्राप्त हुए है। इसी तरह प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का लक्ष्य जिला में प्राप्त कर लिया गया है। आगामी 30 नवंबर तक यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि जिला में कोई भी परिवार ऐसा न बचे जिसके पास एलपीजी कनेक्शन न हो।

शिवधाम नवीनीकरण योजना के प्रगति की जानकारी देते हुए उपायुक्त ने बताया कि झज्जर जिला की 250 ग्राम पंचायतों में 385 शमशान घाट है। एचआरडीएफ, डी प्लान, सीएसआर व अन्य मदों में अब तक 11 करोड़ रुपए की लागत से आधे से अधिक काम हो चुका है। शीघ्र ही सीएसआर के माध्यम से 104 शमशान घाटों में शिवधान नवीनीकरण योजना के तहत होने वाले सभी चार कार्यों को पूरा कर लिया जाएगा।

उपायुक्त ने सडक़ हादसों की रोकथाम के लिए एहतियाती उपायों की जानकारी देते हुए कहा कि झज्जर जिला में सडक़ सुरक्षा कमेटी की निरंतर मीटिंग की जा रही है। जिला में आगामी 15 दिसंबर तक सडक़ों पर मार्किंग के लिए सफेद पट्टी, संकेत चिन्ह व वाहनों पर रिफ्लेक्टर लगाने आदि कार्य पूरा कर लिए जाएंगे। वीडियो कांफ्रेंस के उपरांत उपायुक्त ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को संबंधित कार्यों को लेकर आगामी कार्यवाही करने के निर्देश भी दिए।

Follow ajeybharat on

www.facebook.com

Post a Comment

0 Comments