Recents in Beach

header ads

तत्काल स्कीम के तहत 8 माह बाद भी नहीं मिला किसान को बिजली कनेक्शन, सीएम विंडो पर शिकायत

अधिकारियों के चक्कर काटकर थक चुका है किसान महेंद्र सिंह


रवि वालिया, सतनाली:

प्रदेश सरकार द्वारा किसानों को नए बिजली कनेक्शन तुरंत जारी करने के लिए लागू की गई तत्काल स्कीम दक्षिण हरियाणा बिजली


प्रसारण निगम के लापरवाह अधिकारियों की भेंट चढ़ती हुई नजर आ रही है। किसानों को स्कीम के तहत नए बिजली कनेक्शन जारी करने के लिए निर्धारित शुल्क जमा करवाने के बाद भी निगम कार्यालय के चक्कर काटने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। खंड़ के गांव सुरहती पिलानियां निवासी महेंद्र सिंह पुत्र लीलाराम ने इसकी शिकायत बिजली निगम के उच्चाधिकारियों सहित जिला उपायुक्त को भी दी किंतु कोई कार्रवाई नहीं होने पर उसे मजबूरी में सीएम विंडो पर शिकायत करनी पड़ी। किसान महेंद्र सिंह पुत्र लीलाराम ने बताया कि उसने बिजली निगम की तत्काल स्कीम के तहत गत 23 मार्च 2018 को


महेंद्रगढ़ कार्यालय में ट्यूबवैल के बिजली कनेक्शन के लिए आवेदन किया था तथा इसकी निर्धारित फीस 1 लाख 36 हजार 680 व एक लाख रूपयें अलग से कुल 236680 रूपयें निगम कार्यालय में जमा करवाए। उस समय बिजली निगम के अधिकारियों ने उसे तीन माह के अंदर बिजली कनेक्शन का आश्वासन दिया परंतु 8 माह से अधिक समय बीत जाने के बाद भी आज तक उसके ट्यूबवैल पर कनेक्शन नहीं हो पाया। इसके लिए वह निगम के एसडीओ व एक्सईएन तक गुहार लगा चुका है व कार्यालय के चक्कर काट काट कर थक चुका है परंतु कोई सुनवाई नहीं हो रही। जब उसने निगम के ठेकेदार से पूछा तो वह उससे लेबर चार्ज देने की मांग करता है तथा लेबर चार्ज न देने पर कनेक्शन न करने की धमकी दे रहा है जबकि वह पूरा शुल्क निगम को अदा कर चुका है। परेशान होकर उसने जिला उपायुक्त को शिकायत दी परंतु वहां भी कोई कार्रवाई नहीं हुई जिसके बाद उसे सीएम विंडो पर शिकायत करनी पड़ी है। महेंद्र सिंह ने बताया कि बिजली


कनेक्शन के अभाव में वह अपने ट्यूबवैल से फसलों की सिंचाई नहीं कर पाया तथा उसकी फसल भी बर्बाद हो गई। पीडि़त किसान ने मुख्यमंत्री से मांग की


है कि उसका ट्यूबवैल बिजली कनेक्शन जल्द से जल्द जारी किया जाए तथा देरी में दोषी अधिकारियों के विरूद् सख्त कार्रवाई की जाए। इस बारें में बिजली विभाग के एसडीओ से संपर्क करने का प्रयास किया गया तो उनका फोन स्विच आफ मिला।


कैप्सन:- शिकायत प्रति व खेत में डाले गए खंबे दिखाता किसान महेंद्र सिंह।

Post a Comment

0 Comments