Recents in Beach

header ads

क्या वास्तु दोष बना, रमन सरकार कर हारने का कारण ?: वास्तुविद देव नारायण शर्मा


क्या वास्तु दोष बना, रमन सरकार कर हारने का कारण

वास्तुविद देव नारायण शर्मा, रायपुर (छत्तीसगढ़)..

" क्या वास्तुदोष की वजह से हुई बीजेपी की छत्तीसगढ़ में हार "

छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के बाद से चार चुनाव हुए उसमे से तीन चुनाव में लगातार बीजेपी ने शानदार जीत दर्ज की ।

मूलतः छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस का गढ़ माना जाता रहा है ,लेकिन बीजेपी का लगातार जीत दर्ज करने के कुछ तो कारण होंगे ।

2018 के चुनाव में कांग्रेस ने राज्य बनने के बाद पहली बार दो तिहाई बहुमत से जीत दर्ज की ।

कांग्रेस का पुराना भवन :-

कांग्रेस का पुराना भवन वास्तु दोष से भरा हुवा है ।

कांग्रेस के पुराने भवन में अध्यक्ष का बैठक ईशान कोण में और मुख्य प्रवेश द्वार नैऋत्य कोण में है ।

ईशान कोण में शौचालय भी बना हुवा है ।

नैऋत्य कोण का द्वार हमेशा अनुशासन हीनता देता है ।

बीजेपी का पुराना भवन :- पूर्णतः वास्तु शास्त्र के अनुकूल है ।
इसी भवन से बीजेपी ने तीन बार सरकार बनाई ।

अजित जोगी की सरकार बनी थी जब म.प्र. और छत्तीसगढ़ एक थे ।

बुनियादी परिवर्तन :-

जब विपरीत परिस्थिति आने को रहता है तो जातक पुराने भवन को छोड़कर बड़े और विशाल भवन में प्रवेश करता है ।

ठीक यही स्थिति छत्तीसगढ़ में हुई ।
बीजेपी ने जैसे ही अपने नए भवन में प्रवेश किया तब से बीजेपी की उल्टी गिनती शरू हो गयी ।

बीजेपी का नया भवन पूरी तरह से वास्तु दोषों से भरा हुवा है ।

बीजेपी के नया भवन दक्षिण दिशा का है जिसमें कांगेस के पुराने भवन के समान नैऋत्य कोण में मुख्य द्वार बना हुवा है ।

नैऋत्य कोण का द्वार से अनहोनी होती है ।
मुखिया का राजपाट चला जाता है ।

इसके विपरीत जैसे ही कांग्रेस ने शंकर नगर स्थित पूर्णतः वास्तु अनुरूप भवन में प्रवेश किया वैसे ही कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में नया जोश और उत्साह देखने को मिला ।
तीन राज्यों में बीजेपी की सरकार थी पर बुरी तरह चुनाव में पराजय का सामना केवल और केवल छत्तीसगढ़ में हुवी ।

चुनावों ने तीन बातों का प्रभाव पड़ता है --

आपका कर्म
आपका भाग्य
आपका वास्तु

जिसका वास्तु अच्छा रहेगा वो अपनी बढ़त जरूर बनाएगा ।

अगर बीजेपी को लोकसभा चुनाव से पहले अपनी वापसी करनी है तो अपने नए भवन में ताला लगाकर पुराने भवन से पार्टी का संचालन करना चाहिए ।

बीजेपी के नए भवन में वास्तु दोष..

नए भवन में नैऋत्य कोण में द्वार बना था जिसे वास्तु दोष की वजह से बंद करना पड़ा ।

नैऋत्य कोण के द्वार के ठीक सामने आने जाने का रास्ता बनाया गया है जिसमे एक विशाल पेड़ है जो वृक्ष वेध कर रहा है ।

दक्षिण दिशा में आग्नेय कोण में ही एक और द्वार बना है जो अत्यंत घातक है ।

उत्तर दिशा में निर्माण किया हुवा है जबकि दक्षिण दिशा खाली है ।
दक्षिण दिशा का स्वामी यम अर्थात मृत्यु का देवता होता है ।
दक्षिण दिशा का खाली होने मृत्यु तुल्य कष्ट देता है ।
चुनाव में बुरी तरह हारना मृत्यु तुल्य कष्ट ही है ।

दक्षिण दिशा में ज्यादा खुली जगह होने के दोष को दूर करने के लिए दक्षिण में नया निर्माण किया जा रहा है ।
पर दक्षिण दिशा में बेसमेंट भी बनाया जा रहा है ।

क्या किसी वास्तु सलाहकार ने बीजेपी को गलत सलाह देकर निपटाया यह भी शहर में चर्चा का विषय है ।

कांग्रेस के सूत्र तो यहाँ तक कहते हैं कि जब बीजेपी के नए भवन का निर्माण किया जा रहा था तब हैदराबाद के एक वास्तु सलाहकार को कांग्रेस के लोगों ने निर्माण कार्य देख रहे बीजेपी के नेता से मिलवाया था ।
उस वास्तु सलाहकार को बीजेपी को गलत वास्तु सलाह देने के लिए कांग्रेस के लोगों ने पैसे दिए थे ।
कहते है प्यार और युध्द में सब कुछ जायज है ।

चुनाव जीतने के लिए कुछ भी किया जा सकता है ।

लेकिन भारत के इतिहास में यह पहली बार हुवा कि विरोधी पार्टी को चुनाव में हराने के लिए वास्तु
शास्त्र का उपयोग किया गया ।
कांग्रेस का नया भवन वास्तु अनुरूप है :-

कांग्रेस के नए भवन में अध्यक्ष का बैठक नैऋत्य कोण में लाभदायक है ।

मुख्य प्रवेश द्वार उत्तर मध्य में लाभदायक है ।

भूखण्ड के तिरछे पन को दूर करने के लिए भूखण्ड को कई हिस्से में बांटा गया है ।

लिफ्ट और सीढ़ी की जगह भी वास्तु अनुरूप है ।

Post a Comment

0 Comments