Recents in Beach

header ads

20 हजार रुपए की रिश्वत लेते ए.एस.आई. सत्यवान रंगे हाथों गिरफ्तार

महेन्द्रगढ़/विनीत पंसारी

विजिलेंस की टीम ने सोमवार को महेन्द्रगढ़ थाना में तैनात ए.एस.आई. को 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा। इस मामले में विजिलेंस की टीम ए.एस.आई. को नारनौल स्थित जिला मुख्यालय में लेकर आई जहां मामले की जांच की गई तथा एस.आई. के खिलाफ रिश्वत लेने का मामला दर्ज किया गया। मामला महेन्द्रगढ़ के पास के गांव देवास से जुड़ा हुआ है। मामले की जानकारी देते हुए विजिलेंस विभाग के निरीक्षक कुलवंत सिंह ने बताया कि गत नवम्बर में जिला के रेवाड़ी के गांव लादुवास निवासी बिल्लू यादव पुत्र रामौतार की माता संतरा तथा उसकी बड़ी बहन कोशल्या बिल्लू की दूसरी बहन केला पत्नी बिरेन्द्र वासी देवास के घर गए थे। वहां पर केला देवी तथा उसके पति बिरेन्द्र के बीच किसी बात को लेकर विवाद चल रहा था। विवाद ज्यादा होने पर वहां वहां रिश्तेदारों व बिरेन्द्र के बीच झगड़ा हो गया था। जिसकी शिकायत बिरेन्द्र ने थाना महेन्द्रगढ़ में की थी। इस शिकायत में बिरेन्द्र ने आठ लोगों के नाम लिखवाए थे। बाद में उक्त मामला सुलझ गया तथा बिरेन्द्र ने राजीनामा करते हुए पुलिस थाना महेन्द्रगढ़ में ब्यान हल्फिया दे दिया था।

 इस मामले की जांच की जिम्मेवारी ए.एस.आई. सत्यवान के पास थी। इस मामले में शामिल 8 लोगों में से चार लोगों की जमानत न्यायालय से हो गई थी। शेष चार का नाम ब्यान हल्फिया के आधार पर निकालने के लिए केला का भाई तथा गांव लादुवास निवासी बिल्लू यादव पुत्र रामौतार ए.एस.आई. सत्यवान के पास गया। इन नामों को निकालने के लिए सत्यवान ने बिल्लू से पहले तो 40 हजार रुपए की रिश्वत मांगी। लेकिन बाद में वह 20 हजार तक आ गया। सत्यवान ने बताया कि वे ब्यान हल्फिया के आधार पर उक्त चार आरोपियों के खिलाफ तभी कार्रवाई रोकेंगे जब उसे 20 हजार रुपए दिए जाएंगे। इसके लिए बिल्लू ने अपने साथी गांव लादुवास के सरपंच सुभाष चंद को साथ लेकर आज महेन्द्रगढ़ स्थित थाने में पहुंचा। इससे पहले सुबह बिल्लू ने इसकी जानकारी विजिलेंस के अधिकारियों को कर दी थी। एक योजना के तहत कार्रवाई को अमलीजामा पहनाने के लिए जिला प्रशासन ने डी.डी.पी.ओ. कुलदीप यादव को नोडल अधिकारी नियुक्त किया। उसके साथ अन्य अधिकारियों में विजिलेंस निरीक्षक कुलवंत सिंह, एस.आई. जयचंद, ए.एस.आई. प्रकाश चंद, एच.सी. अमित कुमार तथा चालक उदयवीर सिंह आदि शामिल थे।

आज दोपहर बाद लगभग साढ़े तीन बजे जब ए.एस.आई. सत्यवान महेन्द्रगढ़ थाना में अपनी ड्यूटी पर था तभी बिल्लू वहां पहुंचा तथा सत्यवान उसे थाने की पहली मंजिल पर एक कमरे में बुलाकर उससे 20 हजार रुपए ले लिए तथा आश्वासन दिया कि अब उनके चारों लोगों नाम निकाल दिया जाएगा। पैसे देने के बाद बिल्लू का इशारा मिलते ही विजिलेंस की टीम तथा नोडल अधिकारी थाने की पहली मंजिल पर पहुंच गए तथा सत्यवान को रंगे हाथों पकड़कर उससे 20 हजार रुपए बरामद कर लिए। विजिलेंस ने आरोपी को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है। आरोपी को कल न्यायालय में पेश किया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments