'बेटी बचाओ' अभियान वाले हरियाणा में महिलाओ के विरुद्ध होने वाले अपराध में 22 केस दर्ज़ होते है:हरिंदर ढींगरा

रेखा वैष्णव:गुरुग्राम :

मनोहर राज में बड़े महिलाओं के प्रति अपराध ,फ्लॉप हुआ बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान, जी हाँ ये हम नहीं RTI के जरिये गुरुग्राम के एक्टिविस्ट हरिंदर ढींगरा द्वारा एकत्र की गयी जानकारी है बता रही है  ,जिसके अनुसार 2013 -17 तक पिछले पांच सालो में महिलाओ के खिलाफ अपराधों में 30 % की बढ़ोत्तरी हुई है ,वंही दूसरी तरफ अपहरण और वाहन चोरी की वारदात भी बढ़ 45 % और 25 % तक बढ़ गयी हैं

हरियाणा पुलिस के द्वारा दिए गए डेटा में बताया गया है की 7,796  केस  दर्ज़ हुए महिलाओ के प्रति अपराध में और 2014 में यहाँ आंकड़ा बढ़कर 8,139 और 2017 में 10,110 पर पहुँच गया

किडनेपिंग के मामले भी मनोहर सरकार में बढे है जो की 3,129 दर्ज़ हुए 2013 में और बढ़ते हुए 4,540 2017 में दर्ज़ हुए है,दहेज़ हत्या के केस भी 7.9 % की रफ़्तार से 265 दहेज़ हत्या के केस दर्ज़ हुए थे 2013 में और 244 केस दर्ज़ हुए है 2017 में .

वाहन चोरी की वारदात भी 21.5 प्रतिशत के साथ बढ़ी है जो की  13,356 केस दर्ज़ हुए थे 2013 में और 16.234 केस दर्ज़ हुए है 2017 में हरिंदर ढींगरा ने अजेयभारत न्यूज़ पोर्टल से हुई बातचीत में बताया की "हरियाणा में खट्टर सरकार महिलाओं की सुरक्षा को लेकर गंभीर नहीं है. सरकार कैसे गंभीर होगी? जब उनकी सरकार के ही मंत्री का बेटा खुलेआम महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार करेगा, तो राज्य की जनता में कहां कानून का खौफ रहेगा." उन्होंने आगे कहा, "हरियाणा महिलाओं की सुरक्षा में फिसड्डी साबित हुआ है, यहां लैंगिक असामनता देश में सबसे अधिक है. महिलाओं के प्रति बढ़ रहे अपराध की वजह ही प्रशासन की नाकामी है."

मनोहर सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है ना भ्रस्टाचार कम हुआ ना अपराध कम हुआ और ना ही चुनाव से पहले जो वायदे किये थे भाजपा ने वो पुरे हुए ,शायद प्रदेश की सबसे असफल सरकार है मनोहर लाल सरकार



Post a Comment

0 Comments