27 जनवरी को विवाह बंधन में बधेंगे हार्दिक पटेल,समारोह के लिए जिस मंदिर को चुना वहां जाने की इजाजत नहीं

गुजरात के युवा नेता हार्दिक पटेल 27 जनवरी को शादी करने वाले हैं। परिवार यह शादी उज्हा के उमिया धाम में करना चाहता है, जहां कडवा पाटीदारों के शासनकाल की देवी उमिया का मंदिर है। लेकिन कोर्ट द्वारा हार्दिक के गांव में प्रवेश पर रोक की वजह से ऐसा मुमकिन नहीं है


गुजरात के पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के नेता हार्दिक पटेल अपनी साथी के साथ शादी के बंधन में बंधने जा रहे हैं। खबरों के मुताबिक हार्दिक पटेल आगामी 27 जनवरी को गुजरात के सुरेंद्रनगर जिले में एक साधारण समारोह में शादी करने जा रहे हैं। खबरों के मुताबिक हार्दिक पटेल पिछले कुछ समय से साथी रहीं किंजल पटेल से शादी करने जा रहे हैं, जिनका परिवार वीरमगाम का रहने वाला है, लेकिन बाद में सूरत आकर बस गया था। हार्दिक पटेल भी मूल रूप से चंदन नगरी गांव के हैं, जो अहमदाबाद जिले के वीरमगाम में ही आता है।

हालांकि शादी को लेकर हार्दिक पटेल ने फिलहाल पुष्टी नहीं की है। लेकिन खबरों के अनुसार उनके पिता भारत पटेल और उनके एक करीबी पाटीदार नेता के विवाह की पुष्टि की है। उनके पिता भारत पटेल ने विवाह की पुष्टि करते हुए कहा है कि दोनों 27 जनवरी को सुरेंद्रनगर जिले के दिगसर गांव में विवाह करने जा रहे हैं। पिता के अनुसार परिवार का इरादा दोनों का विवाह उज्हा के उमिया धाम में करने का था, जहां कडवा पाटीदारों के शासनकाल की देवी उमिया का मंदिर है।
लेकिन कोर्ट द्वारा हार्दिक के गांव में प्रवेश पर प्रतिबंध के कारण ऐसा मुमकिन नहीं है। हार्दिक के पिता के मुताबिक जिस लड़की से हार्दिक का विवाह होने जा रहा है वह पारिख-पटेल समुदाय की है। मिली जानकारी के मुताबिक हार्दिक का दो दिवसीय विवाह समारोह बेहद सादा रखा गया है। विवाह में दोनों परिवारों की तरफ से केवल 50-50 लोगों को ही बुलाए जाने की खबर है।
गौरतलब है कि हार्दिक पटेल ने हाल ही में कोलकाता में ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस की ओर से आयोजित विपक्ष की रैली को संबोधित करते हुए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर खूब निशाना साधा था। अपने भाषण में हार्दिक ने कहा था कि नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ने ‘गोरों’ के खिलाफ लड़ने की अपील की थी और हम ‘चोरों’ के खिलाफ लड़ रहे हैं।

Post a Comment

0 Comments