Recents in Beach

header ads

मुझे बहुत बुरा लगता है जब किसी मरीज से पैसा लेता हूँ:डॉक्टर सुभाष शल्य

मुझे बहुत बुरा लगता है जब किसी मरीज से पैसा लेता हूँ।
बेचारे दर्द से कराहते हुए आते हैं और फिर उनसे पैसे की मांग।
बहुत बार ऐसा भी होता है कि मरीज के पास पैसे कम होते हैं।
मुझे बिल्कुल अच्छा नहीं लगता कि पैसा स्वlस्थ्य के बीच मे आए।
लेकिन जब मैं बाहर जाता हूँ सlमान खरीदने तो मुझसे बाकियों के जैसा ही GST लगा कर सlमान दिया जाता है।
किसी ऑफिस में जाता हूँ तो मुझसे भी बाकियों बल्कि उनसे ज्यादा ही घूस ली जाती है।
जब मैं बैंक के पास जाता हूँ अस्पताल के लिए कर्ज लेने को तो पहले मुझसे ITR मांगा जाता है और फिर उसके अनुसार मिलने वाले कर्ज़ की राशि बताई जाती है जो कि मेरे मेरी जरूरत के आधा भी नहीं होता।
बैंक जब कर्ज़ देता है तो उसका ब्याज सबसे ज्यादा होता है जबकि लोगों को कार खरीदने के लिए भी उससे आधे कर्ज़ पर लोन मिल जाता है।
जब मैं कॉन्फ्रेंस में जाता हूँ ताकि लेटेस्ट जानकारी पा सकूं तो मेरे यात्रा का किराया बाकियों के बराबर होता है और होटल के रूम का भाड़ा भी दूसरों के बराबर।
जब कभी कुछ अच्छा खाने का मन करता है तो रेस्टॉरेंट का बिल भी बाकियों के बराबर होता है।
और सबसे ज्यादा तो तब खलता है जब सरकार इनकम टैक्स भी बाकियों के बराबर लेती है।
इन सब बातों को जब मैं सोचता हूँ तब अपने फीस को फ्री करके फिर फ्री को काट देता हूँ।
इम सब जरूरतों को पूरा करने के लिए मेरे पास कमाने का एक मात्र जरिया मेरा डॉक्टरी ही तो है।
आप अपने दुकान , स्कूल , जहाज , ट्रैन , गाड़ी , रेस्टॉरेंट , होटल , बैंक
, टैक्स कहीं भी मुझे डॉक्टर होने का रियायत नहीं देते लेकिन मुझसे हर जगह मेरे डॉक्टर होने के कारण रियायत जरूर खोजते हैं।
मेरा भी परिवार है
मेरी भी जरूरतें है
मुझे भी भूख लगती है
इन सब को कहाँ से और कैसे पूरा करूँ ?
आटा , सब्ज़ी , दाल , चावल , दूध , रसोई का सामान , पहनने के कपडे , पेट्रोल , बिजली - पानी का बिल , मकान का किराया ----- डॉक्टर को मिलने वाली खुशी/इज़्ज़त से बाजार में से क्या - क्या खरीदा जा सकता है ?
कृपया अगली बार मुझे बड़े - बड़े समाज सेवा पर लेक्चर देने के पहले इन बिन्दुओं का जवाब दे देंगे।
सेवा तो आप भी कर सकते हैं
एक्स्ट्रा पैसा दे कर जो कि अगले किसी गरीब की चिकित्सा के बिल में मिलाया जा सके।
सेवा सिर्फ मैं ही करूँ ये कहाँ लिखा है ?
सेवा आप भी तो कर सकते हैं।
तो कीजिये शुरुवात
अगली बार जब आप किसी डॉक्टर के पास जाएं तो अपने अलावा एक और मरीज़ का फीस दें।
कोई डॉक्टर आपके स्कूल , दुकान , रेस्टॉरेंट , होटल , आफिस में आये तो उसको रियायत दे कर।

डॉक्टर सुभाष शल्य
9810124433 

Post a Comment

0 Comments