Recents in Beach

header ads

बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अभियान के द्वारा लोगों की सोच में आया काफी परिवर्तन:के एम चैलई

लिंगानुपात में हुआ सुधार, करनाल को मिलेगा राष्टï्रीय बालिका दिवस के मौके पर राष्टï्रीय पुरस्कार - संयुक्त सचिव के एम चैलई
कालीदास रंगशाला में बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अभियान की चतुर्थ वर्षगांठ को मनाया उत्सव के रूप में, 26 जनवरी तक विशेष सप्ताह के तहत होगा कार्यक्रमों का आयोजन।

करनाल 21 जनवरी,
महिला एवं बाल विकास विभाग भारत सरकार के संयुक्त सचिव के एम चैलई ने कहा कि बेटी बचाओ - बेटी पढाओ अभियान के द्वारा लोगों की सोच में काफी परिवर्तन आया है। अब देश की बेटियां राष्टï्रीय स्तर पर ही नहीं अपितु अन्तर्राष्टï्रीय स्तर पर भी समूचे विश्व में अपना नाम रोशन कर रही हैं। चाहे वह राजनीतिक क्षेत्र हो, स्पोर्टस हो या सरकारी विभाग हो। गृहणी के रूप में भी वे अब पुरूषों के सम्मान कंदे से कंदा मिलाकर पढने और ख्वाब गढऩे के अवसर दे रही है। हरियाणा में इस दिशा में काफी सफलता मिली है। प्रदेश के सभी जिलों ने एक जन-आंदोलन का रूप ले लिया है, जिसके परिणामस्वरूप हरियाणा राष्टï्रीय स्तर पर 24 जनवरी को राष्टï्रीय बालिका दिवस के मौके पर भारत सरकार द्वारा पुरस्कृत किया जाएगा। 


संयुक्त सचिव चैलई सोमवार को स्थानीय कालीदास रंगशाला में महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अभियान की चतुर्थ वर्षगाठ समारोह में बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। इस समारोह के उपलक्ष्य में चलाए जाने वाले बेटी बचाओ-बेटी पढाओ साप्ताहिक अभियान का दीप प्रज्वलित करके विधिवत रूप से शुभारम्भ किया। मुख्यातिथि ने इससे पूर्व प्रर्दशनी का अवलोकन किया तथा जागरूकता रैली को झंडी दिखाकर रवाना किया। 


उन्होंने कहा कि यह हम सबके लिए अत्यन्त ही हर्ष का विषय है कि बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अभियान की शुरूआत हरियाणा से की गई थी। जिससे हरियाणा सरकार द्वारा किए गए प्रयास, बहुविभागीय सह मिलन, सामुदायिक सहयोग, जन जागरूकता एव विभिन्न सचंार के माध्यम से सफल होता, यह अभियान जन-जन की मन की बात बनता नजर आ रहा है। उन्होंने कहा कि लड़कियों के प्रति व्यक्तिगत मानसिकता बदलने, उन्हें नए अवसर, सम्मानता, शिक्षण, पोषण, कानूनी अधिकार, देखभाल, सम्मान देने, समाज में उनका जीवन स्तर उठाने तथा निर्णय क्षमता में बराबर की हिस्सेदारी को बढ़ावा देने के लिए गांव, समाज, समुदाय तथा हर तबके के लोगों में जागरूकता लाने के लिए हर साल की भांति इस साल भी राष्टï्रीय बालिका दिवस 24 जनवरी को दिल्ली में मनाया जाएगा, जिसमें हरियाणा राज्य को प्रशंसनीय कार्य के लिए सम्मानित किया जाएगा और इसी के साथ हरियाणा राज्य के तीन जिले करनाल को प्रभावी सामुदायिक सहभागिता कार्य में, कुरूक्षेत्र जिले को पीसी, पीएनडीटी के अन्तर्गत तथा झज्जर जिले को बालिका शिक्षा के क्षेत्र में पुरूस्कृत किया जाएगा। इस मौके पर उन्होंने हरियाणा के पुरस्कृत होने वाले सभी जिलो को बधाई दी और कहा कि आप सभी इसी तरह इस मुहिम को आगे जारी रखेंगे और उसे एक जन आंदोलन का रूप प्राप्त करने के लिए अपना सार्थक सहयोग देंगे। 

महिला एवं बाल विभाग हरियाणा की सयुंक्त सचिव रजनी पसरीचा ने कहा कि बेटी बचाओ-बेटी अभियान की चतुर्थ वर्षगांठ को एक सप्ताह के दौरान उत्सव के रूप में मनाया जाएगा। यह अभियान 21 जनवरी से शुरू होकर 26 जनवरी तक जारी रहेगा। जिसके तहत प्रदेश में विभिन्न गतिविधिया जैसे निबंध, कविता, पोस्टर, श्लोग्न, पैंटिग, रैली, शपथ समारोह, मीडिया के माध्यम से प्रचार-प्रसार, नुक्कड़ नाटक, सुकन्या समृद्घि योजना से जोडऩा, शिक्षा, स्वास्थ्य, महिला एवं बाल विकास विभाग के सहयोग से बेटी बचाओ-बेटी पढाओ योजना से संबंधी विषयों पर विस्तृत चर्चा एव सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित करने की योजना बनाई गई है ताकि बेटियों के प्रति लोगों की सोच में परिवर्तन लाया जा सके। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा बेटी बचाओ-बेटी अभियान का शुभारम्भ 22 जनवरी 2015 में पानीपत से किया गया, तभी से हरियाणा ने इस अभियान को जन आंदोलन बनाने का संकल्प लिया है। उसी के परिणामस्वरूप लिंगानुपात में काफी सुधार हुआ है।


इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी राजबाला ने उपस्थित जन समूह को बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अभियान की शपथ दिलाई और कार्यक्रम के अन्त में सभी का धन्यवाद किया। कार्यक्रम में सीएमजीजीए साक्षी श्रीवास्तव ने जिला में चल रहे बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अभियान की गतिविधियों पर प्रकाश डाला और कहा कि इस मिशन को निरंतर जारी रखे। इस मौके पर मार्किट कमेटी के क्षेत्रीय प्रशासन डा. सुशील मलिक, उप सिविल सर्जन डा. राजेश गोरिया, सीडीपीओ डा. राजबाला मोर, मधुपाठक, शिक्षा विभाग से सांईस विशेषज्ञ सुशील कुमार, सभी सुपरवाईजर, आंगनवाडी कार्यकर्ता, आशा तथा अन्य विभागों के अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित रहे। 


समारोह में ये हुए सम्मानित।मुख्यातिथि के एम चैलई ने बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अभियान की वर्षगांठ समारोह में 11 ऐसी माताओं को सम्मानित किया, जिनके घर जनवरी 2019 में बेटियों ने जन्म लिया, इनमें पुंडरक की मंजू, रीना व कविता तथा काछवा की राखी, पिंकी, मीनाक्षी, स्वीटी, दीपो, सुनीता, लक्ष्मी व पिंकी के नाम शामिल हैं। इसके अलावा खेलों उत्कृष्टï प्रदर्शन के लिए बालू की प्रभजोत तथा बेटियों को गोद लेने पर कुंजपुरा की सुमन, करनाल की पिंकी व आशा को सम्मानित किया तथा बाल विवाह की रोकथाम के लिए कोहंड की पूजा व रेशमा को स्मृति चिन्ह व प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में सांस्कृ तिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने पर एमडीडी बाल भवन, राजकीय कन्या स्कूल कूंजपुरा, राजकीय कन्या वरिष्टï माध्यमिक विद्यालय रेलवे रोड करनाल, आंगनवाडी वर्कर तथा सूचना जन सम्पर्क एवं भाषा विभाग के कलाकारों को भी सम्मानित किया गया।
बॉक्स:- पैंंटिग व श्लोग्न प्रतियोगिता में अव्वल स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को किया सम्मानित।


मुख्यातिथि ने पैंंटिग व श्लोग्न प्रतियोगिता में अव्वल स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को सम्मानित किया। पैंटिग प्रतियोगिता में राजकीय कन्या वरिष्टï माध्यमिक विद्यालय रेलवे रोड करनाल की छात्रा केसर ने प्रथम स्थान, इसी विद्यालय की छात्रा वर्षा ने द्वितीय स्थान तथा इसी विद्यालय की छात्रा प्रीति चौहान ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। इसी प्रकार श्लोग्न प्रतियोगिता में रा. क. वरिष्टï माध्यमिक विद्यालय प्रेमनगर की वैशाली ने प्रथम स्थान हासिल किया जबकि राजकीय कन्या वरिष्टï माध्यमिक विद्यालय रेलवे रोड की प्रियंका द्वितीय स्थान पर रही तथा रा. क. वरिष्टï माध्यमिक विद्यालय प्रेमनगर की नेहा तृतीय स्थान पर रही।

Post a Comment

0 Comments