समस्याओं का त्वरित एवं पारदर्शी निराकरण सुनिश्चित करें अधिकारी- कलेक्टर श्री जटिया

नैझर में जन समस्या निवारण शिविर सम्पन्न
मण्डला शासन की कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा करने के उद्देश्य से घुघरी विकासखण्ड के नैझर में जन समस्या निवारण शिविर का आयोजन किया गया। कलेक्टर जगदीश चन्द्र जटिया ने ग्रामीणों की समस्याओं को सुनते हुये उनके निराकरण की पहल की। इस अवसर पर विधायक नारायण पट्टा, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुजान सिंह रावत, एसडीएम घुघरी श्रीमति रीता डेहरिया सहित अन्य जनप्रतिनिधि तथा सभी विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित रहे।
ग्रामीणों से चर्चा करते हुये कलेक्टर जगदीश चन्द्र जटिया ने कहा कि जन सामान्य की समस्याओं के त्वरित एवं पारदर्शी निराकरण के उद्देश्य से इन शिविरों का आयोजन किया जा रहा हैै। 
प्रयास किया जा रहा है कि लोगों की समस्याओं का समुचित निराकरण उनके ग्राम में ही किया जाये। उन्होंने जय किसान फसल ऋण माफी योजना की जानकारी देते हुये कहा कि योजना का लाभ लेने के लिये बैंक खाते से आधार का लिंक होना अनिवार्य नहीं है। जिनके खातों से आधार लिंक नहीं है वे भी आधार कार्ड की प्रति संलग्न करते हुये योजना का लाभ ले सकते हैं। पंचायत सचिव, रोजगार सहायक एवं पटवारियों को आदेशित किया गया है कि वे कर्जमाफी के फार्म भरने में किसानों की सहायता करें। कलेक्टर श्री जटिया ने शासकीय कर्मचारियों से कहा कि वे अपने दायित्वों का समुचित निर्वहन करते हुये पात्र हितग्राहियों को समय सीमा में योजनाओं का लाभ मुहैया करायें। 
किसी भी स्तर पर प्रकरण लम्बित नहीं रहना चाहिये। इस अवसर पर स्कूली बच्चों को साईकिल, वर्मी किट, ट्रायस्किल, लाड़ली लक्ष्मी योजना के प्रमाण पत्र, उज्जवला योजना के गैस कनेक्शन एवं संबल योजना के स्वीकृति आदेश सहित अन्य हितलाभों का वितरण किया गया। इस अवसर पर विभागीय अधिकारियों द्वारा मंच से विभागीय योजनाओं की जानकारी दी गई। शिविर का संचालन उप संचालक सामाजिक न्याय अनिल कोचर ने किया।
हितलाभों की प्रक्रिया को सरल बनाने का प्रयास - विधायक नारायण पट्टाइस अवसर पर विधायक बिछिया नारायण पट्टा ने कहा शिविरों के द्वारा हितलाभों की प्रक्रिया को सरल बनाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जय किसान कर्ज माफी योजना द्वारा मण्डला जिले में 100 करोड़ रूपये से अधिक के कर्ज माफ किये जा रहे हैं। सरकार का यह कदम किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने में मील का पत्थर साबित होगा। श्री पट्टा ने मुख्यमंत्री कन्यादान योजना का जिक्र करते हुये कहा कि सरकार ने इस योजना की राशि बढ़ाने के साथ ही योजना को पारदर्शी भी बनाया है। अब परिवार के लोग अपनी पंसद की सामग्री खरीदने के लिये स्वतंत्र होंगे।

270 आवेदनों में 121 मौके पर ही निराकृतनैझर में आयोजित इस शिविर में विभिन्न विभागों से संबंधित 270 आवेदन प्राप्त हुये जिनमें से 121 आवेदनों का मौके पर ही निराकरण किया गया। प्रत्येक आवेदनों के निराकरण की जानकारी संबंधित अधिकारी द्वारा मंच से दी गई। शेष बचे आवेदनों के निराकरण की समीक्षा 15 फरवरी को आयोजित होने वाले फॉलोअप शिविर में की जायेगी।


Post a Comment

0 Comments