Recents in Beach

header ads

आयुक्त दीप्ति उमाशंकर ने उकलाना में परिवर्तन योजना के तहत हो रहे कार्यों का निरीक्षण किया


उकलाना:
अंबाला मंडल की आयुक्त तथा सैनिक व अर्धसैनिक कल्याण विभाग की प्रधान सचिव आईएएस दीप्ति उमाशंकर ने आज खंड में संचालित परिवर्तन योजना के तहत विभिन्न विभागों द्वारा किए जा रहे कार्यों का निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों को परिवर्तन योजना के विभिन्न मानकों के अनुरूप कार्य करवाते हुए खंड को विकसित करने के संबंध में व्यापक दिशा-निर्देश दिए। इस अवसर पर उपायुक्त अशोक कुमार मीणा, अतिरिक्त उपायुक्त अमरजीत सिंह मान व बरवाला एसडीएम पृथ्वी सिंह भी मौजूद थे।


आयुक्त दीप्ति उमाशंकर ने उकलाना की पीएचसी का निरीक्षण करते हुए यहां सार्वभौमिक टीकाकरण, स्टाफ की उपलब्धता, बायोमीट्रिक उपस्थिति, प्रथम रेफरल इकाई की स्थिति तथा प्रत्येक डिलीवरी हेतु चार आधारभूत सेवाओं की स्थिति का निरीक्षण किया। उन्होंने पीएचसी के ऑपरेशन थिएटर व डिलीवरी कक्ष का भी निरीक्षण किया और अस्पताल का रिकॉर्ड भी देखा। 

सिविल सर्जन डॉ. दयानंद ने आयुक्त दीप्ति उमाशंकर को बताया कि इस पीएचसी के तहत आने वाले क्षेत्र में पिछले एक साल के दौरान एक भी जज्चा की मृत्यु नहीं हुई। जांच के दौरान पीएचसी के टीकाकरण का रिकॉर्ड सही पाया गया। इसके अलावा यहां का शिशु मृत्यु दर भी राज्य व देश के औसत से कम पाया गया जिस पर आयुक्त ने अस्पताल स्टाफ की कार्यप्रणाली की सराहना की। इस दौरान श्रीमती उमाशंकर ने अस्पताल में कार्यरत स्टाफ कर्मियों की संख्या के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कुछ स्थानीय महिलाओं से मुलाकात की और उनकी समस्याओं व जरूरतों के बारे में पूछा। स्थानीय महिलाओं ने अस्पताल में टेक्निशियन, रेडियोग्राफर व सर्जन की नियुक्ति करने की मांग की। 


आयुक्त दीप्ति उमाशंकर ने थाने का भी दौरा किया और क्षेत्र में अपराध, चोरियों, महिला विरूद्ध अपराध, मर्डर, दुष्कर्म, छेड़छाड़, वर्ष 2017 व 2018 में दर्ज की गई शिकायतों, अति वांछित अपराधी, घोषित अपराधी, भगोड़े, बेल-जंपर आदि की गिरफ्तारी व चरित्र सत्यापन के आवेदनों पर की गई कार्रवाई के संबंध में विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि दुर्घटनाओं पर कमी लाने के लिए शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए और दुर्घटनाओं में कमी लाने की दिशा में गंभीर प्रयास किए जाएं। उन्होंने जिला में सड़क दुर्घटनाओं की संख्या में 40 प्रतिशत तक कमी लाने की दिशा में किए गए जिला प्रशासन के गंभीर प्रयासों की सराहना भी की। 


इसके पश्चात आयुक्त दीप्ति उमाशंकर ने गांव प्रभुवाला स्थित खेल स्टेडियम का दौरा किया। यहां उन्होंने खिलाडि़यों से मुलाकात की और उन्हें मिलने वाली खेल सुविधाओं की जानकारी ली। उन्होंने स्टेडियम में आधारभूत सुविधाओं का निरीक्षण किया और खिलाडि़यों की जरूरत की वस्तुएं उपलब्ध करवाने की हिदायतें खेल अधिकारियों को दीं। आयुक्त ने गांव प्रभुवाला में शिवशंकर, जयंत भाटिया व परमिंद्र भाटिया के बागवानी फार्म का भी दौरा किया और यहां फलों के उत्पादन की जानकारी ली। उन्होंने यहां के एपल बेर व स्ट्राबेरी भी खाई और इनकी मिठास की मुक्तकंठ से सराहना की। 


बागवानी करने वाले किसान शिवशंकर ने आयुक्त दीप्ति उमाशंकर को बताया कि वे पांच साल से बागवानी कर रहे हैं जिसके लिए उन्हें बागवानी विभाग की सभी योजनाओं का लाभ मिल रहा है। उन्होंने बताया कि बागवानी से पहले परंपरागत खेती में उन्हें प्रति एकड़ 30 से 40 हजार रुपये सालाना आमदनी होती थी लेकिन आज बागवानी के कारण प्रति एकड़ वे 1 लाख से 4 लाख रुपये तक सालाना कमाई कर रहे हैं। इस पर दीप्ति उमाशंकर ने उन्हें दूसरे किसानों को भी बागवानी के लिए प्रेरित करने को कहा।


इस अवसर पर सिविल सर्जन डॉ. दयानंद, डीएसपी जयपाल सिंह, डीडीपीओ अश्वीर सिंह, जनसंपर्क विभाग के उपनिदेशक डॉ. साहिब राम गोदारा, डॉ. तरुण, जिला खेल अधिकारी गंगादत्त यादव, बीडीपीओ संदीप भारद्वाज सहित अन्य विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।

Post a Comment

0 Comments