Recents in Beach

header ads

यह जो कंधे पर है, यह तुम्हारा लोकतंत्र है :ठाकरे

करन निम्बार्क, फिल्म विश्लेषक, मुंबई

जितना सशक्त व्यक्तित्व उतने सशक्त संवाद हैं हिन्दी चलचित्र “ठाकरे” के । दिग्गज अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने बहुत ही सुन्दरता और लगन से निभाया है स्वर्गीय श्री बालासाहेब ठाकरे का पात्र । फिल्म में सुदीप के छायांकन की जितनी प्रशंसा की जाए कम है । निर्देशक अभिजीत ने फिल्म का प्रारम्भिक दृश्य और अन्य कुछ दृश्यों को बहुत ही रोचक और अद्भुत रूप से फिल्माया है । इस फिल्म की विशेष बात यह है कि इसमें किसी भी प्रकार के सत्य को छिपाया नहीं गया । 

अब तक भारतीय जनता ने बालासाहेब के विषय में मात्र पढ़ा या कहीं से सुना था परंतु इस चलचित्र को देखने के बाद उनका दृष्टिकोण स्पष्ट रूप से समझ आ गया होगा । डर पसर सकता है लेकिन प्रेम ही है, कर्म ही है जो असंख्य लोगों के दिलों में जगह बना सकता है । मेरे लिए इस फिल्म का दूसरा मुख्य आकर्षण है, कला निर्देशन और इस हेतु नितिन और रजत विशेष अभिनन्दन के योग्य हैं । 

किसी भी विशाल व्यक्तित्व को मात्र दो-ढ़ाई घंटों में पर्दे पर दिखाना आसान नहीं है और इसी कारण उनके जीवन से जुडे बहुत से प्रसंग और लोगों के विषय में फिल्माना संभव नहीं हुआ होगा । फिल्म विश्लेषक करन निम्बार्क इस शानदार चलचित्र के लिए इस फिल्म से जुड़े प्रत्येक सदस्य को बधाई देते हैं और पूरी रचनात्मकता के लिए पाँच में से चार (****/*****) सितारे देते हैं ।    


Post a Comment

0 Comments