Recents in Beach

header ads

उड़ान में ग्रामीण महिलाओं व युवाओं ने दमखम दिखाया ,बुर्जुग रेस में मिल्खा सिंह दौड़े सबसे तेज

आंगनवाड़ी वर्कर ने अध्यापिकाओं को हरा जीती रस्साकस्सी प्रतियोगिता
मुख्यअतिथि विधायिका रेणुका बिश्नोई ने किया ढंढूर को एनिमिया फ्री बनाने का ऐलान



हिसार। ग्रामीण प्रतिभाताओंं को मंच प्रदान करने के मकसद से राह क्लब हिसार, ग्राम पंचायत ढंढूर व युवा क्लबों के तत्वावधान में आयोजित दो दिवसीय उड़ान नामक खेलकूद प्रतियोगिता के तहत ढढूंर के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में आयोजित खेल मुकाबलों के पहले दिन 6 गांवों की 500 से अधिक महिलाओं व युवाओं ने अपना दमखम दिखाया। जिसमें रस्साकस्सी के मुकाबलों में जहां आंगनवाड़ी वर्कर व आशा वक्र्स की संयुक्त्त टीम ने अध्यापिकाओं की टीम को हराया, वहीं युवाओं के रस्साकस्सी मुकाबलों गांव की टीम ने ही पहला व दूसरा स्थान प्राप्त किया। इस दो दिवसीय इस खेल प्रतियोगिता का शुभारंभ हांसी विधायिका रेणूका बिश्रोई ने किया, जबकि खेल उत्सव की अध्यक्षता राह ग्रुप के ईवेंट कॉर्डिनेटर श्रवण कुमार व सरपंच मनोज शर्मा ने संयुक्त रुप से की। स्वतंत्रता सैनानियों के गांव ढंढूर में आयोजित खेल मुकाबलों मेंं क्षेत्र की पांच सौ से अधिक छात्राओं व महिलाओं ने अपना दमखम दिखाया। जिसमें रस्साकस्सी के मुकाबलों में जहां आंगनवाड़ी वक्र्स व आशा वक्र्स की संयुक्त टीम ने अध्यापिकाओं की टीम को हराया, वहीं बुर्जुगों की दौड़ में गांव के मिल्खा सिंह (हिम्मत सिंह) ने रिकार्ड समय में दौड़ पूरी कर सबको रोमांचित कर दिया, सतबीर ने दूसरा तो रामचन्द्र ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। 

यह जानकारी देते हुए राह ग्रुप फाउंडेशन की महिला सशक्त्तिकरण परियोजना अधिकारी डा. ज्ञानवती बिश्रोई व राष्ट्रीय सलाहकार सुदेश चहल ने बताया कि राह क्लब हिसार की ओर से आयोजित उड़ान कार्यक्रम के तहत महिलाओं के लिए मटका दौड़, साधारण दौड़, रस्साकस्सी व दूसरे प्रकार के मुकाबलों का आयोजन किया गया। जिसमें मटका दौड़ में बलविन्द्र कोर ने प्रथम तो बाला देवी ने द्वितिय स्थान प्राप्त किया। इसी प्रकार लड़कियों की नींबू रेस में रानी ने प्रथम, अर्जना ने द्वितिय व ज्योति ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। महिलाओं की सौ मीटर दौड़ में कांता ने पहला रोशनी ने दूसरा व परमेश्वरी देवी ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। महिला बोरी रेस में कृृष्णा ने प्रथम, राधिका ने दूसरा तो जसनप्रीत ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। महिला रस्साकस्सी में रिना की टीम प्रथम तो राजरानी टीम दूसरे स्थान पर रही। लडक़ों की मेढक़ दौड़ में राहुल ने प्रथम, अनुज ने दूसरा तो अनीष ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। लडक़ों की गोला फेंक में प्रतियोगिता में मनोज ने सबसे दूर गोला फेंका तो वीरकर्ण, अनिल ने दमखम दिखाया। लडक़ों की बोरी रेस में विशाल ने प्रथम, सुमित पुत्र सतबीर ने दूसरा व सुमित पुत्र सुरेश ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। पुरुषों के रस्साकस्सी के मुकाबलों में शहीद भगत यादगार समिति की टीम प्रथम रही तो तो रमेश गु्रप की टीम ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। लडक़ों की दौड़ में (17 से 25 वर्ष) मनीष ने प्रथम, रविन्द्र ने दूसरा व वीरकर्ण ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। सामान्य पुरुष दौड़ में राजू ने प्रथम, राजीव ने दूसरा तो अनिल ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। 


ढंढूर को एनिमिया मुक्त गांव:-
इस दौरान अपने संबोधन में विधायिका रेणूका बिश्नोई ने गांव ढूढंर को एनिमिया मुक्त गांव बनाने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि उन्होंने कहा कि गांव की 32 फीसदी से अधिक बेटियों व महिलाओं में खून की कमी है। जिसके चलते वे खेल व शिक्षा में अपनी क्षमता के अनुरुप प्रदर्शन नहीं कर पाती। इस दौरान उन्होंने राह ग्रुप की विशेष एनिमिया फ्री गांव अभियान से जुड़ इस इस गांव को एनिमिया मुक्त बनाने आह्वान करते हुए स्वास्थ्य कर्मियों, आगंनवाड़ी सदस्यों व आशा वर्करों से इस अभियान में तेजी लाने की बात कहीं। 


50 फीसदी को मिला पहली बार मौका :-
राह क्लब हिसार व ग्राम पंचायत ढंढूर की ओर से आयोजित उड़ान नामक ग्रामीण इस खेल प्रतियोगिता के दौरान 50 फीसदी से अधिक ग्रामीण महिलाएं ऐसी थी, जिन्हें उनके जीवनकाल में पहली बार किसी बड़ी खेल प्रतियोगिता में भाग लेने का अवसर मिला है। गांव ढंढूर की सुमन, चिकनवास की पूजा, बीड़ की बिमला के अनुसार टी.वी. पर दूसरों को खेलते हुए देखते थे तो उनका भी मन करता था कि वे भी किसी खेल में हिस्सा लेकर अपना दमखम दिखाएं। मगर उन्हें जीवन में कभी मौका ही नहीं मिला। उनका दावा था कि अगली बार वे बेहत्तर तैयारी के साथ आएगी व अपने बच्चों को भी सभी प्रकार की खेल प्रतियोगिताओं में भाग लेेने के लिए भी प्रेरित करेगी। 
 

Post a Comment

0 Comments