Recents in Beach

header ads

जिला स्तरीय एसी/एसटी अत्याचार निवारण सर्तकता एवं निगरानी कमेटी की समीक्षा बैठक आयोजित

भिवानी, 03 जनवरी। उपायुक्त अंशज सिंह की अध्यक्षता में वीरवार को उनके कार्यालय में जिला स्तरीय एसी/एसटी अत्याचार निवारण सर्तकता एवं निगरानी कमेटी की समीक्षा बैठक आयोजित हुई। बैठक में उपायुक्त ने पीडि़त व्यक्तियों को अतिशीघ्र आर्थिक सहायता व कानूनी कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

बैठक को संबोधित करते हुए उपायुक्त ने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए कि अनुसूचित जाति/जनजाति से संबंधित व्यक्तियों पर होने वाले अत्याचार के मामले में कार्रवाई करने में किसी प्रकार की देरी न की जाए। उन्होंने कहा कि आरोपियों पर सक्त कानूनी कार्रवाई की जाए ताकि दोषी व्यक्ति किसी भी ढ़ंग से बचने न पाए। 


बैठक में तहसील कल्याण अधिकारी अश्वनी कुमार ने बताया कि गैर अनुसूचित जाति के व्यक्तियों द्वारा अनुसूचित जाति के व्यक्तियों पर अत्याचार किए जाने पर सरकार द्वारा पीडि़त व्यक्तियों को आर्थिक सहायता दी जाती है। उन्होंने बताया कि अत्याचार के मामलों में चल-अचल संपत्ति का नुकसान, स्थाई या अस्थाई अपंगता, बलात्कार, हत्या और ट्यूवैल की हानि आदि शामिल है। उन्होंने बताया कि पीडि़त व्यक्तियों को 85 हजार रूपए से लेकर सवा आठ लाख रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।


पांच जनवरी को होगी सफाई कर्मियों के स्वास्थ्य की जांच 
उपायुक्त ने बैठक में सफाई व्यवस्था के कार्य के दौरान बरती जाने वाली विशेष सावधानियों व निर्देशों की भी समीक्षा की। उपायुक्त ने बैठक में उपस्थित सिविल सर्जन डॉ. आदित्य स्वरूप गुप्ता व उप सिविल सर्जन डॉ. कृष्ण कुमार को पांच जनवरी शनिवार को नागरिक अस्पताल में विशेष शिविर लगाकर सफाई कर्मियों के स्वास्थ्य की जांच करने के निर्देश दिए। इसके अलावा उन्होंने सफाई व्यवस्था के दौरान सफाई कर्मचारियों के पास सभी जरूरी उपकरण होने चाहिए ताकि किसी प्रकार का कोई हादसा न हो। बैठक में उप पुलिस अधीक्षक जगत सिंह मोर, सहायक जिला न्यायवादी आनंद दहिया, सदस्य रामनिवास, लक्ष्मण, संतराम, अशोक कुमार, मुकेश रहेजा, संजय दुआ सहित कमेटी के अनेक गैर सरकारी सदस्य भी मौजूद थे।

Post a Comment

0 Comments