Recents in Beach

header ads

एकलव्य इण्टर कालेज का रजत जयंती कार्यक्रम भव्यता के साथ सम्पन्न

रिपोर्ट :- मुकेश कुमार ऋषि वर्मा 

आजमगढ़ | एकलव्य शिक्षा एवं सेवा न्यास द्वारा संचालित एकलव्य इंटर कॉलेज ने अपना रजत जयंती कार्यक्रम बड़ी भव्यता के साथ मनाया | इस शुभ अवसर पर खेलकूद प्रतियोगिता व सामान्य ज्ञान परीक्षा का आयोजन किया गया | जिसमें अलग - अलग जनपदों के छात्र - छात्राओं ने भाग लिया | साथ ही रंगोली, नृत्य, गायन, नाटक मंचन सहित तमाम सांस्कृतिक कार्यक्रमों की मनमोहक प्रस्तुतियाँ विद्यार्थिओं ने दी | विजेता छात्र / छात्राओं को नगद धनराशि सहित मैडल व ट्रॉफी प्रदान कर उन्हें कॉलेज प्रशासन ने सम्मानित किया | वहीं शिक्षकों, साहित्यकारों, कलाकारों व समाजसेवी प्रबुद्धजनों को स्मृतिचिह्न व सम्मान पत्र प्रदान किये गये |


कार्यक्रम आयोजक रामसूरत बिंद (एकलव्य इण्टर कॉलेज - संस्थापक व प्रबंधक) ने अपने संक्षिप्त उद् बोधन में कहा कि, उन्हें शिक्षा से बहुत गहरा लगाव शुरू से ही रहा है, वे 23 जनवरी 1994 से कॉलेज की स्थापना करके गरीब छात्र - छात्राओं के लिए निशुल्क शिक्षा की पूर्ण व्यवस्था अपने कॉलेज के माध्यम से करते आ रहे हैं | 


उक्त कार्यक्रम में मुख्य अतिथि रहे मुकेश कुमार ऋषि वर्मा ( अध्यक्ष - बृजलोक अकादमी), अतिविशिष्ट अतिथि एस. डी. ओमी (संगीतकार), विशिष्ट अतिथि चन्दन साहनी (लेखक) | मंच संचालन बुधिराम बिंद ने किया, कार्यक्रम की अध्यक्षता अवधेश कुमार ने की, कार्यक्रम सहयोगी रहे सुरेंद्र कुमार बिन्द, कमलेश बिंद, वेदप्रकाश, प्रभावती देवी, वर्षा बिंद व प्रतीक्षा बिंद |

कार्यक्रम में उपस्थित महानुभाव -सतीश गौड, विनोद प्रजापती, चन्द्रभान बिंद, महेन्द्र बिंद, सहादुर यादव, हरिवंश कुमार, रविन्द्र कुमार आदि |कार्यक्रम के अंत में सुस्वादु भोजन की पूर्ण व्यवस्था सभी के लिए की गई 



Post a Comment

2 Comments

Ramsurat Bind said…
एकलव्य शिक्षा एवं सेवा न्यास राजापुर सिकरौर आजमगढ़ उत्तर प्रदेश के अंतर्गत चल रहे एकलव्य इण्टर कालेज में आयोजित हुए रजत जयंती कार्यक्रम को आपने अपने समाचार पत्र में जगह दिया । बहुत बहुत धन्यवाद आपका ।
Ramsurat Bind said…
एकलव्य शिक्षा एवं सेवा न्यास राजापुर सिकरौर आजमगढ़ उत्तर प्रदेश के अंतर्गत चल रहे एकलव्य इण्टर कॉलेज के रजत जयंती कार्यक्रम को अपने समाचार पत्र में जगह देने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद श्रीमान संपादक ऊ ।