Recents in Beach

header ads

ईवीएम, पोलिंग पार्टी व वीवीपैट से संबंधित ट्रेनिंग दी

भिवानी, 6 फरवरी। उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अंशज सिंह के मार्गदर्शन में बुधवार को स्थानीय पंचायत भवन में निर्वाचन विभाग द्वारा आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर दादरी व भिवानी जिले के कनिष्ठ अभियंताओं की कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला की अध्यक्षता हांसी के एसडीएम राजीव अहलावत ने की।

एसडीएम श्री अहलावत ने कार्यशाला में उपस्थित कनष्ठि अभियंताओं को बतौर मास्टर ट्रेनर ईवीएम, पोलिंग पार्टी व वीवीपैट से संबंधित ट्रेनिंग दी। उन्होंने कहा कि इस बार चुनाव में प्रत्येक पोलिंग पार्टी को तीन मशीने दी जाएगी, जिसमें एक बैल्ट यूनिट, कंट्रोल यूनिट व एक नई मशीन वीवीपैट होगी। वीवीपैट के माध्यम से प्रत्येक मतदाता को उसके द्वारा डाली गई वोट का पूरा रिकार्ड मिलेगा। प्रत्येक वीवीपैट में 1500 वोट तक का रोल होगा। वोट डलने के बाद प्रत्येक मतदाता को वीवीपैट से एक पर्ची मिलेगी, जिसमें उसके द्वारा डाले गए मत का पूरा ब्यौरा होगा। उन्होंने कहा कि पोलिंग पार्टी वीवीपैट को ले जाते समय मशीन में लगाए गए रोल को लॉक करके ले जाए ताकि वो हिले ना। एसडीएम ने बताया कि चुनाव आयोग के निर्देशानुसार अगर कोई पोलिंग पार्टी के कर्मचारी दूसरे लोकसभा क्षेत्र से है तो उन्हें मतदान के लिए पोस्टल बैलेट पेपर दिया जाएगा अन्यथा उसी लोकसभा क्षेत्र का कर्मचारी उसी बूथ पर अपना मतदान कर सकता है। इसी प्रकार चुनाव आयोग के निर्देशानुसार सेना के जवानों व अन्य अर्ध सैनिक बलों में कार्यरत कर्मचारियों द्वारा दिए गए घोषणा पत्र के आधार पर निर्धारित किए गए व्यक्ति से ही प्रोक्सी वोट डलवाए। प्रोक्सी वोट डालने वाले व्यक्ति के बायें हाथ की बीच वाली उंगली पर स्याही लगाई जाएगी तथा अन्य मतदाताओं को बायें हाथ की पहली उंगली पर स्याही लगाई जाएगी। 

एसडीएम श्री अहलावत ने कहा कि चुनाव आयोग के निर्देशानुसार प्रत्येक पोलिंग पार्टी द्वारा निर्धारित समय पर ही मॉक पोल करवाया जाए। अगर किसी पार्टी का बूथ ऐजेंट समय पर नहीं पहुंचता है तो उसका इंतजार करना जरूरी नहीं है। इस बार चुनाव में प्रत्येक बूथ पर जाने वाली पोलिंग पार्टी में एक पीठासीन अधिकारी के अलावा तीन पोलिंग अधिकारी सहित डी ग्रुप का एक कर्मचारी भी शामिल होगा। मॉक पोल करवाने के बाद पीठासीन अधिकारी मतदान शुरू करने से पहले कंट्रोल रूम में यह सूचना देगा कि मॉक पोल होने के बाद मशीन खाली है तथा मतदान प्रक्रिया शुरू की जा रही है। चुनाव आयोग द्वारा निर्धारित जिस पहचान पत्र के आधार पर मतदाता वोट डालता है उसका ब्यौरा पोलिंग पार्टी उनको दिए गए फार्म 17ए में जरूर दर्ज करें। इसके अलावा अगर कोई बूथ ऐजेंट किसी व्यक्ति द्वारा फर्जी वोट डालने की आपत्ति दर्ज करता है तो उसके लिए दो रूपये की फीस निर्धारित की गई है,जिसकी पर्ची काटी जाएगी। अगर उस व्यक्ति की आपत्ति सही पाई जाती है तो वो दो रूपये शिकायत कत्र्ता को वापिस दे दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि पोलिंग बूथ के अंदर कोई भी व्यक्ति फोटोग्र्राफी नहीं कर सकता तथा डयूटी स्टाफ के अलावा वोट डालने वाले व्यक्ति ही बूथ में प्रवेश करेगा। इसके अलावा कोई भी व्यक्ति बूथ के अंदर अपना मोबाईल नहीं ले जा सकता। एसडीएम ने कहा कि सभी पोलिंग पार्टियां मतदान के समय अपने बूथ पर पहुंचते ही यह जरूर जांच ले की चुनाव आयोग द्वारा निर्धारित कमरे में ही मतदान होना चाहिए। उन्होंने बताया कि अतिसंवेदनशील व संवेदनशील बूथों पर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता प्रबंध किए जाएंगे। 

कार्यशाला के दौरान चुनाव तहसीलदार जयवीर सिवाच ने बताया कि जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त द्वारा लोकसभा चुनाव के लिए 1950 टोल फ्री नंबर शुरू किया गया है, जिस पर जिले का कोई भी व्यक्ति लोकसभा चुनाव संबंधित व अपने बीएलओ, वोट एवं बूथ से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी ले सकता है। इस अवसर पर भिवानी के कानूनगो सतीश कुमार, दादरी के कानूनगो सतीश, बाढड़ा विधानसभा क्षेत्र के मास्टर ट्रेनर शमशेर सिंह व लिपिक अनिल कुमार सहित अनेक अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments