Recents in Beach

header ads

सियासत कि बलि चढा सतीश चौपडा का निशुल्क रैन बसेरा

पिछले तीन महीने से लगातार सतीश चौपडा प्लेट फार्म न०४के सामने मन्दिर के साथ निशुल्क रैन बसेरा चला रहे हैं।उन्होंने यात्रीयों के ठहरने,खाने,चाय पानी कि व्यवस्था निशुल्क कर रखी है।और १५से अधिक खोये हुऐ इंसानों को उनके घरवालों से मिलाने या सी डब्लु सी की मदद से विस्थापित करने का कार्य किया जिसमें लडकीयाँ और बच्चे भी शामिल हैं।समय समय पर सरकार द्वारा चल रहे औपचारिक मात्र चल रहे रैन बसेरों का भ्रष्टाचार खुलासा भी किया और सरकार व प्रशासन से इन्हें दुरुस्त करने कि अपील भी की परन्तु कोई सुनवाई नही हुई बल्कि रेलवे पर दबाव बनाया कि इस रैन बसेरे का हटाया जाऐ।हरियाणा में इस वर्ष तमाम विभागों में भर्ती व परीक्षा हुई।बहुत तादात में भारत के विभान्न प्रदेशों से बच्चे फरीदाबाद पँहुचे।सब से अधिक बच्चे सतीश चौपडा के निशुल्क रैन बसेरे पर रूके।मानव सेवा के नाते उन्हें वो प यथा संभव सेवाऐं दी।
शियासती लोगों को मानव सेवा रास नही आई अब उन्होंने सी आर पी को आगे कर सुरक्षा के बहाने रैन बसेरे को २४घण्टे में हटाने का तुगलकी फरमान जारी कर दिया। वैसे कोई लिखित आदेश नही दिया पर मौखिक रुप से ए एस आई लम्बा सी आर पी रौब झाड कर चौबीस घण्टे में हटाने का निर्देश दे गये।
अब जनता फैसला करे कि तम्बु से बना रैन बसेरा जो ८वर्षो से लगातार हर शर्दीयों में चार महीने के लिए लगता है क्या वो गलत है पहले बाबा मुकेश गिरि लगाते थे।उन्हें देहावशान के बाद सतीश चौपडा ने सुचारु किया।आज २००से अधिक राजाई गद्दे व खाना बनाने का सामान लेकर अचानक कहाँ जाऐं।क्या उस व्यक्ति ने अपना परिवार छोड २४घण्टे मानव सेवा में बिताऐ तो पाप किया।बिना शादी किऐ घर बार छोड बिना किसी स्वार्थ जिसने ये प्रण किया हो कि वो पूर्ण रुप से मानव सेवा के लिए समर्पित है क्या वो रेलवे कि जमीन पर कब्जा करेगा।
DEMO PIC

From BABA RAMKEWAL FB WALL

Post a Comment

0 Comments