Recents in Beach

header ads

प्राथमिक उपचार किसी का भी जीवन बचा सकता है : रामाशीष मंडल

हिसार, 6 फरवरी।दुर्घटना, जख्म, फ्रेक्चर, बुखार, अंग कटना या छीलना एवं जलने जैसी घटनाएं जीवन में घटती रहती हैं। ऐसी स्थिति में प्रभावित व्यक्ति को डाक्टर, एम्बुलेंस आने एवं डाक्टर के पास पहुंचाने से पहले जीवन सुरक्षा के लिए जो उपचार दिया जाता है उसे ही फस्ट एड एवं प्राथमिक उपचार का नाम दिया गया है। हर व्यक्ति को प्राथमिक उपचार बारे जागरूक होना चाहिए ताकि जरूरत पडऩे पर वह किसी अन्य की मदद कर सके। 

यह बात हरियाणा राज्य रेड क्रॉस शाखा के कार्यक्रम अधिकारी रामाशीष मंडल ने आज जाट वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय हिसार में भारतीय रेड क्रॉस सोसायटी की जिला इकाई द्वारा आयोजित पांच दिवसीय जेआरसी विद्यार्थियों के स्टडी कैंप एवं प्रशिक्षण शिवर में उपस्थित को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि इंडियन रेड क्रॉस सोसायटी जेआरसी स्टडी एवं प्रशिक्षण शिविरों में विभिन्न विद्यालयों के विद्यार्थियों एवं अध्यापकों को जूनियर रेड क्रॉस काउंसलर एवं अध्यापक काउंसलर के रूप तैयार करती है। ये सभी काउंसलर प्रशिक्षण उपरांत अन्य लोगों को रेड क्रास द्वारा चलाई जा रही विभिन्न नोबल काज गतिविधियों से जोड़ेगें एवं उन्हें प्राथमिक उपचार बारे प्रशिक्षित भी करेंगे। 

श्री मंडल ने कहा कि रेड क्रॉस सोसायटी द्वारा प्राथमिक चिक्तिसा सहायता में प्रशिक्षित व्यक्ति समान्य अवस्थाओं के साथ-साथ प्राकृतिक एवं मानवीय उत्पन्न आपदाओं में होने वाले नुकसान को काफी हद तक कम कर देते हैं। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को प्राथमिक चिकित्सा सहायता प्रशिक्षण प्राप्त करना चाहिए क्योंकि हर इंसान के जीवन में घर या बाहर इस तरह की घटनाओं की संभावनाएं बनी रहती हैं। यदि व्यक्ति प्राथमिक उपचार जानता है तो वह तुरंत प्रभाव से इस तरह के नुकसान को काफी हद तक रोक सकता है। इस अवसर पर उन्होंने रेड क्रॉस के इतिहास एवं रेड क्रॉस सिम्बलबं तथा स्कूलों में चलाई जाने वाली जेआरसी गतिविधियों बारे विस्तार से जानकारी दी। 


इस जेआरसी स्टूडेंट एवं ट्रेंनिग कैंप में पूनम दहिया ने आपदा प्रबंधन पर तथा समान्य अस्तपताल के मनोचिक्तिसक डा०पूनम दहिया ने समाज में फैल रहे नशे एवं उससे से होने वाले नुकसान की जानकारी दी वहीं सुनीता यादव डीसीपीओ ने महिला सशक्तिकरण, बच्चों के अधिकार, कम आयु के बच्चों से दुकानों एवं होटलों आदि पर काम करवाना गैर कानूनी है, बारे विस्तार से जानकारी दी। प्रशिक्षण शिविर में जिला प्रशिक्षण अधिकारी रेड क्रॉस सुरेंद्र श्योराण एवं सुनीता रानी प्रवक्ता राजकीय वरिष्ठï माध्यमिक मंगाली ने प्राथमिक उपचार बारे डेमो के माध्यम से जानकारी दी। इस शिविर में जिला के 21 विद्यालयों के 105 विद्यार्थी एवं अध्यापक भाग ले रहे हैं।


Post a Comment

0 Comments