एक दिन में एक किसान से अधिकतम 25 क्विंटल सरसों खरीदी जाएगी: गुप्ता

एसीएस गुप्ता ने की सरसों खरीद की समीक्षा
एक दिन में एक किसान से अधिकतम 25 क्विंटल सरसों खरीदी जाएगी: गुप्ता



धनेश विद्यार्थी, रेवाड़ी।
बुधवार को कस्बा धारूहेड़ा स्थित सरकारी विश्राम गृह में अतिरिक्त मुख्य सचिव टीसी गुप्ता ने जिला रेवाड़ी में सरकारी तौर पर होने वाली सरसों-खरीद की तैयारियों एवं प्रबंधों का जायजा लिया। बैठक में गुप्ता ने उपायुक्त अशोक शर्मा की मौजूदगी में अधिकारियों को ये निर्देश दिए गए कि सरसों का एक भी बैग भी कच्ची जमीन पर ना रखा जाए ताकि इसके लिए अधिकारी उडन कैरेट व प्लास्टिक कैरेट की व्यवस्था समय रहते कर लिए जाने के निर्देश दिए।


बैठक में डीसी अशोक शर्मा, एसडीएम कोसली अमरदीप जैन, एसडीएम बावल रविन्द्र, डीएफएसओ जययादव, उप निदेशक कृषि राजेश कुमार, हैफेड के डीएम नीरज त्यागी, मार्किट कमेटी रेवाडी व बावल के सचिव नरेंद्र यादव, कोसली मार्किट कमेटी के सचिव आदित्य यादव, एफसीआई के डिपो मैनेजर कमल सिंह, तहसीलदार मनमोहन समेत अन्य खरीद एजेंसियों के अधिकारी मौजूद रहे।
इस बैठक में एसीएस गुप्ता ने कहा कि पिछले सीजन में जिला रेवाड़ी में सरकार की ओर से निर्धारित न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कुल 42 हजार 853 मीट्रिक टन सरसों की खरीद की गई मगर इस बार अढ़ाई गुणा खरीद होने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि सरकारी अनुमान के अनुसार चालू सीजन में एक लाख मीट्रिक टन सरसों की खरीद हो सकती है और इसके लिए भंडारण एवं उठान की समुचित व्यवस्था हैफेड और हरियाणा राज्य भंडारण निगम को करनी है। अगर कहीं जगह कम है तो किराए पर गोदाम की व्यवस्था की जाए। गुप्ता ने कहा कि इस बार राज्य सरकार का 6 लाख मीट्रिक टन सरसो खरीद का लक्ष्य है। शुरूआत में हैफेड अढ़ाई लाख मीट्रिक टन जबकि खाद्य एवं आपूर्ति विभाग 70 हजार मीट्रिक टन सरसों खरीदेगा। यह लक्ष्य पूरा होने के बाद हैफेड व खाद्य विभाग मिलकर सरसों खरीदेंगे।

उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से निर्धारित न्यूनतम समर्थन मूल्य 4200 रूपए प्रति क्विंटल तथा 6.5 क्विंटल प्रति एकड के निर्धारित सरकारी नियम अनुसार एक दिन में एक किसान से अधिकतम 25 क्ंिवटल सरसों खरीदी जाएगी। खरीद होने के बाद संबंधित किसान को खरीद सरसों का मूल्य आॅन लाइन उसके बैंक खाते में किया जाएगा। बैठक में उपायुक्त अशोक शर्मा ने एसीएस टीसी गुप्ता को बताया कि जिला रेवाड़ी में 35 हजार 500 किसानों ने मेरी फसल-मेरा ब्यौरा के तहत पंजीकरण कराया तथा सरसों-खरीद के लिए पटवारी के माध्यम से किसानों की पहचान सुनिश्चित करा ली गई है तथा किसानों को इस बार कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी। इसके अलावा किसानों की समस्याएं हल करने के लिए मंडियों में शिकायत निवारण समिति गठित की जाए। जिला रेवाड़ी में बिठवाना, कोसली व बावल की अनाज मंडी में की जाएगी। 28 मार्च से यह काम शुरू हो जाएगा, जिसके लिए सभी खरीद एजेंसियां और गांव अनुसार खरीद का दिन भी निर्धारित कर दिए गए हैं।

Post a Comment

0 Comments