Recents in Beach

header ads

इस राज्य में लड़की वाले दहेज में द‍ेते हैं 21 जहरीले सांप, नहीं तो दुल्हन रह जाती है कुंवारी, जानें वजह


रायपुर। अभी तक शादी के दहेज में घर-गृहस्थी का सामान देते हुए तो आपने सुना होगा लेकिन देश का एक एसा राज्य है जहां जहरीले सांप भी दहेज में द‍िए जाते हैं। वो भी एक दो नही बल्क‍ि पूरे 21 सांप । अगर लडकी के घर वाले जहरीले सांप नहीं दे पाते तो लड़किया कुंवारी ही रह जाती हैं। शादी की ये अनोखी प्रथा छत्तीसगढ़ के महासमुंद ज‍िले में तुमगांव की बस्‍ती में रहने वाले सपेरा जाति में है।

दुल्हन के लिए इंतजार करना पड़ा दो साल

दरअसल, सपेरा जाति के लोगों के लि‍ये रोजगार से लेकर कुल जमापूंजी भी यही जहरीले सांप हैं। इन्‍हीं जहरीले सांपों को दिखाकर जो पैसा इन्‍हें मि‍लता है उससे इनके परि‍वार का भरण पोषण होता है। यही वजह है क‍ि यहां के दूधमुंहे बच्‍चे भी इन जहरीले सांपों से कुछ ऐसे घुले-मि‍ले हैं, मानो जैसे ये जहरीले सांप भी इनके परि‍वार के सदस्‍य हों। यहां शादी के लिये तैयार दूल्हे कैलाश को दुल्हन के लिये दो साल इंतजार भी करना पड़ा था, वजह थी कि दुल्हन पक्ष के पास दहेज में देने के लिए 21 जहरीले सांप नहीं थे। इसके बिना शादी नहीं होती है।
यहां दहेज में द‍ेते हैं 21 जहरीले सांप, नहीं तो लड़की रहती है कुंवारी

सांप मरने पर पूरे परिवार को कराना पड़ता है मुंडन

कैलाश ने बताया क‍ि दहेज में मिले कुछ सांपों को दिखाने के लिए अपने पास  रखते हैं, बाकी सांप को धन समझकर परिवार के लोगों को बांट  देते हैं। सांपों से ही इनकी जीव‍िका और घर चलता है। इनकी जाति में सांपो को सुरक्षित रखने के लिए कड़ा नियम भी है। अगर सांप इनके पिटारे में मर जाता  है तो पूरे परिवार के लोगों को मुंडन कराना पड़ता है।
यहां दहेज में द‍ेते हैं 21 जहरीले सांप, नहीं तो लड़की रहती है कुंवारी
साथ ही कुनबे के सभी लोगों को भोज करना पड़ता है। चालीस परिवारों की कुल जमापूंजी यही जहरीले सांप हैं। आसपास के क्षेत्रो से पकड़े सांपों को ये कुछ महीने अपने पास रख कर, सांपों का खेल तमाशा दि‍खाकर इससे पैसा कमाते हैं, फि‍र सांपों को  जंगल में छोड़ देते हैं। सांप से ही इनका परिवार का भरण पोषण होता है ये इनका पारंपरि‍क कारोबार है।

Post a Comment

0 Comments