Recents in Beach

header ads

सीविजिल ऐप के माध्यम से भेजी गई शिकायत को कंट्रोल रूम पांच मिनट में संबंधित क्षेत्र के उडऩदस्ते को भेजेगा:पंकज

नूंह 12 मार्च: जिला निर्वाचन अधिकारी श्री पंकज ने मंगलवार को संवाददाता सम्मलेन को संबोधित करते हुए बताया कि जिले के तीनों विधानसभा क्षेत्रों में 627 मतदान केन्द्र है तथा जिले में कुल पांच लाख 31 हजार 605 मतदाता है जिनमें दो लाख 44 हजार 466 महिला मतदाता तथा दो लाख 87 हजार 139 पुरुष मतदाता है। उन्होंने बताया कि 79- नूंह विधानसभा क्षेत्र में 191 मतदान केन्द्रों पर एक लाख 64 हजार 435 मतदाता है जिनमें 88 हजार 757 पुरुष, तथा 75 हजार 678 महिलाएं मतदाता है, 80 -फिरोजपुर-झिरका विधानसभा में 242 मतदान केन्द्र है, जिन पर दो लाख 478 मतदाता है जिनमें 01 लाख 8 हजार 195 पुरुष तथा 92 हजार 283 महिला मतदाता है, 81-पुन्हाना विधानसभा क्षेत्र में 194 मतदान केन्द्र है जिसमें एक लाख 66 हजार 692 मतदाता है जिनमें 90 हजार 187 पुरुष तथा 76 हजार 505 महिला मतदाता है।

उन्होने बताया कि नूंह विधानसभा क्षेत्र में 180 मतदान केन्द्र ग्रामीण क्षेत्र में तथा 11 शहरी क्षेत्रों में है, फिरोजपुर-झिरका विधानसभा क्षेत्र में 222 मतदान केन्द्र ग्रामीण क्षेत्र में तथा 20 शहरी क्षेत्र में है तथा पुन्हाना विधानसभा क्षेत्र में 178 मतदान केन्द्र ग्रामीण क्षेत्र में तथा 16 शहरी क्षेत्र में है। उन्होंने बताया कि नूंह विधानसभा क्षेत्र में 313 सर्विस वोटर, फिरोजपुर-झिरका में 80 तथा पुन्हाना विधानसभा क्षेत्र में 118 सर्विस वोटर सहित जिलें में कुल 511 सर्विस वोटर है। उन्होंने बताया कि तीनों विधानसभा क्षेत्रों में कुल 86 मतदान केन्द्र संवेदनशील तथा 122 मतदान केन्द्र अतिसंवेदनशील के रुप में पहचान की हुई है जो भविष्य में कम या ज्यादा भी हो सकते है। 

उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव 2014 के समय जिले में 458 मतदान केन्द्र तथा 4 लाख 75 हजार 781 मतदाता थे।
उन्होंने बताया कि उडऩदस्ते वाली टीमें सीवीजिल ऐप के माध्यम से आने वाली शिकायतों की जांच करेंगे। सीवीजिल एक मोबाईल ऐप है, जिसके माध्यम से कोई भी व्यक्ति आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की फोटो व विडियो सीधा कंट्रोल रूम में भेज सकता है। भेजी गई शिकायत पर आगामी 100 मिनटों में जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा उचित कार्रवाई की जाएगी। सीवीजिल ऐप पर आने वाली शिकायतों का निपटान 100 मिनट में इस प्रकार होगा।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि सीविजिल ऐप के माध्यम से भेजी गई शिकायत को कंट्रोल रूम पांच मिनट में संबंधित क्षेत्र के उडऩदस्ते को भेजेगा, उसके बाद संबंधित क्षेत्र का उडऩदस्ता आगामी 15 मिनट में शिकायत किए गए स्थान पर जाकर जांच करेगा तथा 30 मिनट में शिकायत की विडियोग्राफी व फोटोग्राफी सहित जांच करके इसी ऐप के माध्यम से कंट्रोल रूम को अपनी रिपोर्ट देगा। उसके बाद संबंधित रिटर्निंग अधिकारी आगामी 50 मिनट में आगामी कार्रवाई पूरी करेंगे। इस प्रकार 100 मिनट में इस ऐप के माध्यम से आने वाली शिकायत का समाधान किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि चुनाव आदर्श आचार संहिता 10 मार्च लागू हो चुकी है इसलिए सभी राजनैतिक पार्टी व व्यक्ति आदर्श आचार संहिता की पालान करें। उन्होंने कहा कि कोई भी राजनैतिक पार्टी किसी भी सरकारी या अर्धसरकारी सम्पति पर पोस्टर, बैनर इत्यादि न लगाए तथा किसी की नीजि सम्पति पर पोस्टर, बैनर लगाने से पूर्व मालिक की लिखित में अनुमति लेकर ही पोस्टर बैनर लगाए। उन्होंने कहा कि कोई भी राजनैतिक दल ऐसा भाषण न दे जिस से किसी दुसरे की भावना को ठेस पहुचें और किसी धर्म या जाति पर कटास हो। उन्होंने यह भी बताया पोस्टर या बैनर पर मुद्रक व प्रकाशक का नाम होना अनिवार्य है। उन्होनें बताया कि कोई भी व्यक्ति उम्मीदवार या पार्टी की सहमति के बिना प्रचार सामग्री नही छपवा सकता। उन्होंने बताया कि सम्पति विरुपण का भी पूरा ध्यान रखना है, यदि कोई व्यक्ति या पार्टी इसका उल्लघन करेगा तो उसके खिलाफ सम्पति विरुपण अधिनियम के तहत कार्यवाही होगी। उन्होंने कहा कि कोई भी आम आदमी किसी भी उम्मीदवार या पार्टी की अनुमति के बिना 10 रुपए से अधिक का खर्च नही कर सकता। उन्होंने बताया कि मतदान केन्द्र पर सभी मूल भूत सुविधाएं उपलब्ध करावाने के लिए सभी व्यापक तैयारियां चल रही है। उन्होंने इस मौके पर लोकतंत्र के महा उत्सव के लिए शुभ कमनाएं देते हुए कहा कि 2019 का लोकसभा चुनाव पूर्ण शांति के साथ सम्मपन हो, उसके लिए सभी व्यापक तैयारियां पूरी की जा रही है। 

Post a Comment

0 Comments