Recents in Beach

header ads

राह क्लब पलवल से जुडऩे का सुनहरा अवसर:नरेश सेलपाड़


यदि आप रखते हैं, समाजसेवा करने का इरादा। आपके दिल में है, देश व समाज के लिए कुछ कर गुजरने का जज्बा, तो हो जाईये तैयार राह क्लब पलवल से जुडऩे के लिए। राह क्लब के माध्यम से आपको मिलेगा ऐसा प्लेटफार्म जहां आप अपनी आवाज न केवल प्रशासन तक पहुंचा सकेंगे, बल्कि समाज का वास्तविक विकास भी करवा सकें गे। तकनीकी शिक्षा के प्रचार-प्रसार, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं, लड़कियों को सेल्फ डिफेंस ट्रेंनिंग, ब्लॉक स्तर पर प्रतिभा सम्मान समारोह, टीचर ट्रेनिंग, कॅरियर काउंसलिंग, रक्तदान, पौधारोपण, नारी सशक्तिकरण, स्वरोजगार को बढ़ावा देने, भारतीय संस्कृति के प्रचार-प्रसार, विद्यार्थियों को रोजगार-परक प्रतियोगी परीक्षाओं के प्रति जागरुक करने सहित 46 से अधिक प्रकल्पों के साथ राह क्लब के माध्यम से आपकों अपने व्यक्तित्व के विकास के साथ-साथ समाज में मिलेगी अलग पहचान। दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार व हरियाणा सहित पूरे देश के चयनित शहरों में कार्यरत दूसरे क्लबों की तरह ही दिल्ली में प्रस्तावित अलग-अलग यूनिटों का गठन किया जा रहा है। इसलिए राह क्लब पलपल से जुडऩे के लिए अविलंब संपर्क करे।
-----------
श्री नरेश सेलपाड़ राष्ट्रीय चेयरमैन : 9896999911
श्री नवल सिंह ईवेंट कॉर्डिनेटर राह संस्था : 9729699115
श्री कमल हांडा, हरियाणा प्रभारी राह क्लब: 9254056789
श्री संतोष शर्मा, वरिष्ठ पत्रकार व पलवल प्रभारी: 9612105417
------------
क्रंमाक : क्लबों के लिए पद संख्या इस प्रकार रहेगी।
------------
1. अध्यक्ष : एक
2. उपाध्यक्ष : दो
3. महिला अध्यक्ष : एक
4. महिला उपाध्यक्ष : एक
5. महासचिव : एक
6. सह-सचिव : दो
7. कोषाध्यक्ष : एक
8. सह-कोषाध्यक्ष : एक
9. पर्यावरण संयोजक : एक
10. संस्कृति संरक्षक : एक
11. मीडिया कॉर्डिनेटर : एक
12. ईवेंट कॉर्डिनेटर : एक
13. रक्तदान संयोजक: एक
14. योग प्रभारी: एक
15. स्कील ट्रेनिंग प्रोग्राम कॉर्डिनेटर: एक
16. संरक्षक : दो
17. सलाहकार : दो
18. आमंत्रित सदस्य : 10 से 30 तक
19. कार्यकारिणी सदस्य :10 से 30 तक
-------------
-: किस क्षेत्र में काम करता है राह क्लब :-
देश के प्रमुख सात राज्यों में समाजसेवा के क्षेत्र में तेजी से अग्रसर राह क्लब स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से स्वरोजगार को बढ़ावा देने, विद्यार्थियों में प्रतियोगी परीक्षाओं के प्रति जागरुकता लाने, तकनीकी शिक्षा का बढ़ावा देने, खेल व खिलाडिय़ों को मान सम्मान देकर खेलों को बढ़ावा देने, युवाओं के लिए मोटिवेशनल सेमीनार आयोजित करने, कॅरियर काउंसलिंग, टीचिंग स्कील ट्रेनिंग प्रोग्रामों के माध्यम से शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने, लड़कियों को सेल्फ डिफेंस प्रशिक्षण प्रदान करने, गरीब व जरुरतमंदों की मदद करने के अलावा दूध संग्रहण क्षेत्र की ईकाई गठित करके युवाओं व महिलाओं को स्व-रोजगार उपलब्ध करवाने, बुटिक एवं ब्यूटी पार्लर ट्रेनिंग कार्यक्रमों के माध्यम से प्रशिक्षण दिलवाकर महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने, टॉपर स्टूडेंट को नि:शुल्क एजुकेशन टूर करवाने, स्वच्छता को बढ़ावा देने, पौधारोपण के माध्यम से प्रकृति संरक्षण, हरियाणवीं संस्कृति को बढ़ावा देने, मजदूर जॉब कार्ड, नि:शुल्क कानूनी सहायता, मतदाता अधिकार, पशु बीमा, बुढ़ापा पैंशन, विधवा पैंशन, लाडली सहित विभिन्न पैंशनों, विद्यार्थियों के लिए सरकारी मदद लेने, उच्च शिक्षा के लिए ऋण लेने, बैंकों से खाता खुलवाने, लोन लेने, किसान कार्ड बनवाने, शादी का पंजीकरण करवाने, जमीन/मकान की रजिस्ट्री करवाने, मुफ्त कानूनी सहायता देने, जाति प्रमाण/रिहायशी प्रमाण पत्र बनवाने, आईएएस व एचसीएस बनने की प्रक्रिया बताने सहित कुल 46 से अधिक प्रकल्पों पर काम कर रहा है। हरियाणा, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, बिहार व देश के अन्य चयनित स्थानों पर 27 जनवरी 2011 से कार्यरत राह क्लब मुख्य रुप से लिंगानुपात की स्थिति सुधारने के साथ-साथ सरकारी योजनाओं के पात्र लोगों को बुढ़ापा पैंशन, विधवा पैंशन, कुटीर उद्योगों की स्थापना, मुफ्त कानूनी सहायता दिलवाने, जाति प्रमाण/रिहायशी प्रमाण पत्र बनवाने, समाज कल्याण विभाग, जिला कल्याण विभाग, रेड क्रास सोसायटी, महिला एंव बाल विकास विभाग, स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग, खेल एवं युवा विकास कार्यक्रम सहित दूसरे विभागों से जुड़ी योजनाओं का लाभ दिलवाने के लिए काम कर रहा है।
--------------
-: हरियाणा में 100 क्लबों का लक्ष्य:-
हरियाणा प्रदेश में वर्तमान में गुरुग्राम, करनाल, अम्बाला, हिसार, फतेहाबाद, दादरी, रोहतक, कलानौर, सिरसा, बहल, टोहाना, जाखल, भूना, हांसी, बरवाला, उकलाना, हांसी, नारनौंद, कैथल, कलायत, जींद, नरवाना सहित कुल 51 स्थानों पर राह क्लबों का गठन हो चुका है, और अगस्त 2019 तक प्रदेश में 100 क्लबों का गठन किया जाना प्रस्तावित है। वर्तमान में समाज के दक्ष, शिक्षित, होनहार व समाज के अगुवा लोगों की मदद से प्रदेश स्तर के बाद इन सभी राज्यों में ब्लॉक व जिला स्तर से लेकर प्रत्येक जरुरतमंद तक पहु़ंचने के लिए अपना दायरा बढ़ा रहा है। इसी मकसद से देश के सात राज्यों में राह क्लबों का गठन किया जा रहा है।

Post a Comment

0 Comments