चार नामी गैंग काबू

धनेश विद्यार्थी, रेवाड़ी। 

जिला पुलिस ने इस अवधि में चार नामी गैंग काबू
की, जिनमें गजनी गैंग, पंकज गैंग, मोनू गैंग व सबाब गैंग शामिल हैं।
कसौला पुलिस ने 28 मार्च को गजनी गैंग के धर्मेंद्र उर्फ गजनी, अभय उर्फ
काला व रविंद्र उर्फ रवि को काबू करके लूट और हत्या के प्रयास की दो
वारदातों का खुलासा किया। इनके कब्जे से पुलिस को देशी कट्टा व लोहे की
रॉड मिली। उधर सीआइए धारूहेड़ा द्वारा 8 अप्रैल को पंकज गैंग के सरगना
पंकज उर्फ गोलू, सोनू उर्फ पनवाड़ी, जीतू उर्फ तेली, रवि उर्फ जोनी, दीपक
उर्फ धुडिया व ऋषि को गिरफ्तार करके इनके कब्जे से एक पिस्तौल, लाठी,
रॉड, डंडे, मोबाइल, लैपटाप और दस हजार रूपए नकद बरामद किए। इन बदमाशों ने
रेवाड़ी व गुरुग्राम में 4 वारदातों को अंजाम दिया था। रोहडाई पुलिस ने 12
अप्रैल को मोनू गैंग के सरगना नरेंद्र उर्फ मोनू, पंकज उर्फ खोटा, हेमंत
उर्फ जयसूर्या व दीपक उर्फ धारा को गिरफ्तार किया, जिन्होंने लूट की चार
वारदातों को अंजाम दिया। इनके कब्जे से पुलिस को एक बाइक और 2 लाख 13
हजार 830 रुपए बरामद हुए। हाईवे पर लूट की वारदात करने वाले सबाब गैंग को
सीआइए रेवाड़ी ने बावल से डकैती की साजिश रचते हुए काबू किया, जिन्होंने
20 फरवरी को भी लूट की वारदात को अंजाम दिया। इनके कब्जे से पुलिस ने एक
कैंटर, दो देशी कट्टा, दो कारतूस, दो चाकू, एक इको कार, एक अल्टो कार व
एक लाख दस हजार रूपए नकद बरामद हुए। उधर खोल पुलिस ने 15 अप्रैल की रात
को गांव कंवाली के निकट से शराब ठेका लूट की साजिश रचने वाले गांव मंदौला
के विकास, बोहका निवासी सुरेंद्र, महेंद्रगढ़ के गांव मोहड़ी निवासी राजबीर
व गांव मांदी निवासी संदीप को गिरफ्तार किया था, जिनके कब्जे से पुलिस को
एक कार, देशी कट्टा, चाकू, गंडासा, धारदार हथियार बरामद हुए।

Post a Comment

0 Comments