रामबीर का एक हत्यारा काबू 30 अक्तूबर को होटल पर मारी गई थी गोली

धनेश विद्यार्थी, रेवाड़ी। दिल्ली-जयपुर हाईवे पर गांव खरखड़ा स्थित ढाबे पर 30 अक्तूबर की रात ढाबे मालिक को अंधाधुंध गोली चलाकर मौत की नींद सुलाने के मामले में धारूहेड़ा पुलिस ने एक अन्य आरोपी को काबू किया। पुलिस ने इसे अदालत में पेश करके रिमांड पर ले लिया। यह आरोपी इस वक्त तिहाड़ जेल में बंद था। इसकी पहचान दिल्ली स्थित जेजे कालोनी-इंद्रपुरी निवासी अशोक उर्फ बाबा के तौर पर हुई। इस वारदात के मुख्य आरोपी को सीआइए धारूहेड़ा पुलिस ने 15 नंवबर की रात भिवाड़ी मोड पर गिरफ्तार कर लिया था। 

















बता दें कि गांव खरखड़ा निवासी रामबीर हाईवे पर ढाबा चलता है। रामबीर से नरेश का बार-बार रंगदारी मांगने को लेकर विवाद हो रहा था। नरेश ने रामबीर को जान से मारने की धमकी दे रखी थी। 30 अक्तूबर की रात वह रोजाना की तरह अपने ढाबे पर काम कर रहा था। करीब 9 बजे तक खरखड़ा निवासी नरेश अपने साथी अशोक उर्फ बाबा के साथ बाइक से ढाबे पर आया और उसने आवाज देकर रामबीर को बाहर बुलाया। बाहर आते ही बाबा व नरेश ने रामबीर पर अंधाधुंध गोलियां चला दी, जिसके उसकी मौत हो गई। सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और मृतक के शव को कब्जे में लेकर केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी। 15 नंवबर की रात को पुलिस को सूचना मिली तब सीआइए टीम ने हत्यारोपी नरेश को अलवर बाइपास पर दबोच लिया था। हाल में एक अन्य आरोपी के तिहाड जेल में बंद होने की जानकारी जब पुलिस को मिली तो पुलिस इसे प्रोडेक्शन वारंट पर लेकर आई और अदालत में पेश कर दिया। 

Post a Comment

0 Comments