Recents in Beach

header ads

ई-वेस्ट प्रबंधन केंद्र की स्थापना हेतु ई-वेस्ट संग्रहण पात्र उपलब्ध कराया गया



महेन्द्रगढ़ : प्रमोद बेवल

हरियाणा केन्द्रीय विश्वविद्यालय महेंद्रगढ़ के दीन दयाल उपाध्याय कौशल केंद्र के तहत संचालित औद्योगिक अपशिष्ट प्रबंधन (इंडस्ट्रीयल वेस्ट मैनेजमेंट) विभाग में ई-वेस्ट प्रबंधन केंद्र की स्थापना हेतु ई-वेस्ट संग्रहण पात्र उपलब्ध कराया गया है ।

विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.आरसी कुहाड़ के अनुसार विश्वविद्यालय के औद्योगिक अपशिष्ट प्रबंधन विभाग का यह प्रयास निश्चित ही वैज्ञानिक दृष्टिकोण से ई-वेस्ट प्रबंधन की दिशा में सहयोगी साबित होगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में ई-वेस्ट के सफलतापूवर्क निपटान की तकनीक से आमजन अनभिज्ञ हैं ऐसे में यह कचरा पर्यावरण के समक्ष एक नई चुनौती के रूप में उभर रहा है। प्रोफेसर कुहाड़ के अनुसार हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय इस दिशा में ग्रुरुग्राम स्थित देशवाल ई-वेस्ट मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड के सहयोग से एक केंद्र की शुरुआत करने की योजना है जिसके अंतर्गत औद्योगिक अपशिष्ट प्रबंधन विभाग में एक संग्रहण पात्र स्थापित कर दिया गया है। विश्वविद्यालय से जुडे़ व स्थानीय क्षेत्रों के आमजन अपने ई-वेस्ट को इस विभाग में जमा करा सकते हैं ।



प्रोफेसर कुहाड़ ने बताया कि तकनीकी पक्षों पर नजर डालें तो मौजूदा समय में कुल उपलब्ध ई-वेस्ट का बहुत कम हिस्सा ही पुनःचक्रण प्रक्रिया से गुजर रहा है। यही वजह है कि ई-वेस्ट भी अब पर्यावरण के समक्ष एक नई चुनौती के रूप में उभरा है जिससे निपटने के लिए हम सभी को मिलकर प्रयास करने की आवश्यकता है।

दीनदयाल उपाध्याय कौशल केंद्र के उप-निदेशक डा. पवन कुमार मौर्य ने बताया कि विभाग ने विद्यार्थियों के कौशल विकास हेतु ग्रुरुग्राम की देशवाल ई-वेस्ट मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड के साथ समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं और विश्वविद्यालय में इसी कंपनी के सहयोग से एक ई-वेस्ट संग्रहण केंद्र शुरू करने की भी योजना है। इस योजना के अंतर्गत ही विभाग में संग्रहण पात्र स्थापित किया गया है ।

विभाग के प्रभारी डा. अनूप यादव के अनुसार उनका विभाग ई-वेस्ट प्रबंधन तथा उससे होने वाली समस्याओं के निदान हेतु विश्वविद्यालय के विद्यार्थी विशेषज्ञों के सहयोग से स्थानीय गांवों व कस्बों में ई-वेस्ट एकत्रित करने की दिशा में प्रयास करेगा। आमजन भी स्वेच्छा से विश्वविद्यालय आकर ई-वेस्ट संग्रहण में सहयोग कर सकता है। इस प्रयास से लोगों को जोडने के लिए देशवाल ई-वेस्ट मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड के माध्यम से ई-वेस्ट निस्तारण का प्रमाणपत्र व प्रोत्साहन हेतु उपहार प्रदान करने की योजना है ।

ई-वेस्ट में इलेक्ट्रिकल व इलेक्ट्रोनिक के ये आइटम शामिल है। घरों में प्रयोग होने वाले सामान्य विद्युत-चालित यंत्र जो खराब हो गए हैं तथा आपके प्रयोग में नहीं आ रहे हैं जैसे ट्यूब लाइट, सीएफएल, स्विच मोबाइल चार्जर, लैपटॉप, कम्प्यूटर, मोबाइल, बैटरी, वायर, पंखें, एयर कंडीशनर, ईयर फोन आदि ।

Post a Comment

0 Comments