सोशल मीडिया पर लाइक व कमेंट के लिए अपरिचितों को ना बनाए मित्र : अक्षय बाजपेई

नेहरू युवा केंद्र में सोशल मीडिया के सार्थक उपयोग पर संवाद

शुभम चौहान भोपाल : नेहरू युवा केंद्र भोपाल द्वारा कार्यालय में सोशल मीडिया के सार्थक उपयोग पर परिचर्चा आयोजित की गई जिसमें सायबर मामलों के एक्सपर्ट श्री अक्षय वाजपेई,जिला युवा समन्वयक डॉ सुरेंद्र शुक्ला एवं नीतादीप वाजपेई ने युवाओं से सायबर अपराध के विषयों पर चर्चा की।श्री अक्षय बाजपेई ने कहा कि आजकल सोशल मीडिया पर युवा लाइक व कमेंट बटोरने के लिए आपरिचितों को भी मित्र बनाते हैं।फिर धीरे- धीरे इसी तरह साइबर हरासमेंट के केस बढ़ते जाते हैं।कई मामलों में लड़कियां सोशल मीडिया पर अपनी लाइव लोकेसन अपडेट करती है जिससे अधिकांश आसपास के परिचित लोग ही साइबर अपराधों को अंजाम देते हैं। पूर्व में झारखंड में एक मॉल से 3 बच्चों को  किडनैप कर इसी तरह की घटना को अंजाम दिया जा चुका है। सिक्योरिटी फीचर्स से हमें  जागरूक रहना चाहिए और हर 45 दिन में फेसबुक,जीमेल, ट्वीटर,इंस्टाग्राम आदि का पासवर्ड चेंज करते रहना चाहिए।टिक- टॉक एप्लीकेशन के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि मद्रास हाई कोर्ट के द्वारा सुरक्षा कारणों को लेकर इसे बंद कर दिया गया था,यदि किसी के मोबाइल में पुराना वर्जन डाउनलोड हो तो उसे अनइस्टॉल कर दें।


नीतादीप वाजपेई ने कहा कि सोशल मीडिया पर हम जो भी अपलोड करते हैं उसमें कहीं ना कहीं हमारा व्यक्तित्व परिलक्षित होता है इसलिए हर पोस्ट सोच समझकर अपलोड करना चाहिए।डॉ.सुरेंद्र शुक्ला ने कहा कि सोशल साइट्स का उपयोग करते हुए समाज से सीधे जुड़े रहे।जिससे हम मानसिक तनाव का शिकार होने से बच सकते हैं। परिचर्चा का संचालन शुभम चौहान ने किया तथा इस अवसर पर लेखापाल श्री प्रदीप देशमुख,कार्यक्रम समन्वयक देवेन्द्र वर्मा,संजय नागर एवं वालेंटियर्स हर्षा हासवानी,राहुल तिवारी आशुतोष मालवीय सहित युवा उपस्थित रहे तथा उन्होंने सवाल- जवाब किए।

आतंकवाद विरोधी दिवस पर परिचर्चा आज

नेहरू युवा केंद्र संगठन मप्र द्वारा कार्यालय में 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस पर परिचर्चा एवं राज्य निदेशक श्री त्रिलोकीनाथ मिश्रा युवाओं को शपथ  दिलाएंगे।आयोजन किया जाएगा।देश में युवाओं को आतंकवाद और हिंसा के मार्ग से दूर रखने के उद्देश्य से 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया जाता है।



Post a Comment

0 Comments