Recents in Beach

header ads

वीवीपैट की पर्चियों की भी होगी गिनती: जिला निर्वाचन अधिकारी


180 सरकारी कर्मचारियों को दिया अहम प्रशिक्षण
धनेश विद्यार्थी, रेवाड़ी। 17 वीं लोकसभा के लिए 12 मई को कराए गए मतदान
के लिए 23 मई को जिला मुख्यालय पर रेवाड़ी और बावल विधानसभा क्षेत्रों के
मतों की गिनती राजकीय महिला महाविद्यालय में जबकि कोसली विधान सभा
क्षेत्र में डाले गए जैन वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में होगी। इन मतगणना
केंद्रों में गुरूग्राम और रोहतक लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए डाले गए
मत गिने जाएंगे। राज्य चुनाव आयोग के आदेश पर जिला प्रशासन ने इस संबंध
में जरूरी कदम उठाए हैं। सोमवार को जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त
अशोक कुमार ने कहा कि इस चुनावी कार्य में ईवीएम की कंट्रोल यूनिट के
मतों की गणना कराई जाएगी। बाद में विधानसभा अनुसार 5-5 वीवीपैट मशीनों का
रेंडमली चयन करके उनकी पर्चियों को गिना जाएगा। उन्होंने कहा कि मतगणना
कार्य के लिए 180 सरकारी कर्मचारियों को अहम प्रशिक्षण दिया गया है।
उन्होंने लोकतंत्र के इस महत्वपूर्ण कार्य को पूर्ण कराने में सहयोग करने
वाले और मतदान के लिए चुनावी डयूटी निभाने वाले अधिकारियों एवं
कर्मचारियों का आभार जताया।

मतगणना केंद्रों पर कुल 14 मेज लगेंगी, जहां एक मतगणना सुपरवाइजर, एक
काउंटिंग असिस्टेंट एक माइक्रो ऑब्जर्वर तैनात रहेगा। मतगणना के लिए
प्रशिक्षित कर्मचारी 23 मई को सुबह 6 बजे उनके निर्धारित मतगणना केंद्र
पर रिपोर्ट करेंगे। कोई भी कर्मचारी इस काम के लिए जारी पहचान पत्र के
बिना ड्यूटी पर नहीं आएगा। इसके अलावा बिना वैध पहचान पत्र के किसी अन्य
व्यक्ति को मतगणना केंद्र में प्रवेश करने नहीं दिया जाएगा। जिला
निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक ईवीएम में दर्ज मतों की गणना के बाद
विधानसभा आधार पर 5-5 मतदान केंद्रों के लिए आवंटित वीवीपैट मशीनों की
पर्चियों की गिनती होगी। वीवीपैट का चयन रेंडमली आधार पर किया जाएगा।
वीवीपैट की पर्चियां टेबल नंबर 1 पर बने कैबिन में गिनी जाएगी। मतगणना
कर्मचारियों की हर गतिविधि वीडियो में रिकाॅर्ड होगी। मतगणना कर्मचारी
कंट्रोल यूनिट के कुल वोट का मिलान, मतदान के दिन पीठासीन अधिकारी द्वारा
भरे गए फार्म 17 सी में दर्ज करें। मतगणना हॉल में पैन, पेंसिल, मोबाइल
फोन, चाबी-छल्ला, चाकू या बीड़ी-माचिस अथवा कोई भी इलेक्ट्रोनिक्स उपकरण
या अन्य चीजें लाने पर पाबंदी लागू रहेगी। इनको मतगणना केंद्र में प्रवेश
के वक्त बाहर ही रखवा लिया जाएगा। मतगणना कर्मियों के लिए जरूरी चीजें
केंद्र के अंदर ही उपलब्ध करा दी जाएगी। शर्मा ने आज वीवीपैट पर्चियों की
गिनती के लिए बनवाए गए कैबिन को देखा और जरूरी निर्देश दिए। इन केंद्रों
के निरीक्षण करते वक्त उपायुक्त के साथ पुलिस अधीक्षक राहुल शर्मा, एआरओ
बावल एडीसी प्रदीप दहिया, एआरओ एसडीएम रेवाडी अल्का चैधरी, एआरओ
एसडीएम कोसली अमरदीप जैन, डीएसपी अनिल कुमार, हंसराज, जयसिंह, तहसीलदार
मनमोहन, जेवेन्द्र विजय सिंह, चुनाव नायब तहसलीदार दलीप सिंह, चुनाव
कानूगो सुनील डांगी भी थे।



Post a Comment

0 Comments