Recents in Beach

header ads

जो रुद्राक्ष धारण कर करता है वह स्वयं शिवमय हो जाता है


रुद्राक्ष के विषय में उसके गुणों को देखकर उनके महत्व को परिभाषित किया जाता है. रुद्राक्ष को आध्यात्मिक रुप में अधिक उपयोग में लाया जाता है.  इसके अतिरिक्त रुद्राक्ष औषधि रुप में भी उपयोग में लाया जाता है इसके अनेक लाभदायक प्रभावों के कारण विभिन्न प्रकार से फ़ायदेमंद होता है.

रुद्राक्ष को शिवाक्ष, भावाक्ष,फलाक्ष, हराक्ष, नीलकंठ,तृणमेर तथा शिवप्रिय, भी कहते हैं, आयुर्वेदिक ग्रंथों में रुद्राक्ष के अनेक गुणों का उल्लेख किया गया है. यह रुद्राक्ष एक दिव्य औषधि भी है रुद्राक्ष की जड़, छाल ,फल, बीज और फूल सभी दैविय एवं औषधीय गुणों से भरपूर हैं.  शिव पुराण में कहा गया है कि जो रुद्राक्ष धारण कर करता है वह स्वयं शिवमय हो जाता है.

ज्ञान एवं बुद्धि की प्राप्ति हेतु रुद्राक्ष | 
ज्ञान एवं विद्या हेतु रुद्राक्ष बहुत लाभकारी होता है. इसे धारण करने से तीव्र बुद्धि होती है व स्मरण शक्ति में वृद्धि होती है, जो भी शिक्षा प्राप्त करने में कमजोर हों उन्हें रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए तीन मुखी, छ: मुखी रुद्राक्ष एवं गणेश रुद्राक्ष धारण, करने से विद्या एवं ज्ञान की प्राप्ति होती है. यह रुद्राक्ष रचनात्मक कार्यों में भी लाभदायक है.

रुद्राक्ष ग्रहों की शांति हेतु | 
राहु, शनि, केतु, मंगल जैसे क्रूर ग्रहों की शांति हेतु इस रुद्राक्ष को धारण किया जा सकता है. रुद्राक्ष इन क्रूर ग्रहों के दुष्प्रभाव से होने वाले रोगों व संकटों का शमन करके मनुष्य का जीवन सुख एवं शांतिमय बनाता है. अकाल मृत्यु एवं दुर्घटनाओं से बचाव के लिए भी रुद्राक्ष बहुत उपयोगी है यह जीवन के संघर्षों से मुक्ति दिलाता है.

रुद्राक्ष पारिवारिक शांति हेतु | 
परिवार में शांति एवं सौहार्द हेतु रुद्राक्ष बहुत लाभकारी होता है. यह रिशतों में मिठास घोलता है तथा कुटुंब को सुख एवं समृद्धि प्रदान करता है. दो मुखी रुद्राक्ष धारण करने से झगड़ों से मुक्ति मिलती है, और पति-पत्नी, पिता-पुत्र, भाई-बहनों, मित्रों आदि के साथ के मतभेदों को दूर करता है, समाज में सम्मान प्रदान करता है.

विवाह संबंधी समस्याओं के निवारण हेतु रुद्राक्ष 
विवाह में किसी प्रकार की देरी या विवान हो पाना जैसी संमस्याओं में रुद्राक्ष चमत्कारी लाभप्रदान करता है. विवाह नहीं हो पा रहा है या विवाह के बाद दांपत्य जीवन में तनाव व कलह उत्पन्न हो रखी हो, तो इन समस्याओं को दूर करने के लिए गौरी शंकर रुद्राक्ष या दो मुखी रुद्राक्ष को धारण किया जा सकता है.

स्वास्थ्य व लम्बी आयु हेतु रुद्राक्ष |
बिमारियों एवं रोग मुक्ति के लिए भी रुद्राक्ष अत्यंत फायदेमंद होता है यह मानसिक चिंताओं तनाव से मुक्ति दिलाने में सहायक है चौदह मुखी या आठ मुखी रुद्राक्ष धारण करने से अकाल मृत्यु का भय तथा रोग नाश होता है.

व्यापार एवं कार्य में लाभ हेतु |
रुद्राक्ष का उपयोग करने से आपको अपने कार्यों में सफलता प्राप्त होती है तथा आपका व्यवसाय फलता फूलता है. चौदह मुखी, ग्यारह मुखी तथा लक्ष्मी रुद्राक्ष धारण करने से आप अपने कारोबार में अच्छा कर सकते हैं इसे धारण करने से धन की वृद्धि होती है मान-सम्मान प्रतिष्ठा बढती है. सकन्ध पुराण और लिंग पुराण में कहा गया है कि रुद्राक्ष से आत्मविश्वास और मनोबल में वृद्धि होती है. रोजगार, व्यवसाय, व्यापार में अपार सफलता प्राप्त होती है. रुद्राक्ष सुख समृद्धि प्रदान करता है, साथ ही साथ पाप का नाश करता है.

बुरी नजर, जादू-टोने एवं तंत्र-मंत्र से सुरक्षा हेतु रुद्राक्ष |
आप पर बुरे ग्रहों का प्रभाव या तंत्र मंत्र अथवा जादू-टोनों का प्रभाव हो तो भी रुद्राक्ष आपके लिए बहुमूल्य साबित होता है. बुरी नजर के दोषों तथा भूत प्रेत और विषैले जानवरों से भय को दूर करने में बहुत सहायक होता है.

राजनीती में सफलता हेतु रुद्राक्ष
शासन-प्रशासन में तथा राजनीति में अपने को स्थापित करने के लिए बारह मुखी रुद्राक्ष उपयोगी होता है. अपनी पकड़ मजबूत करने एवं अपने क्षेत्र में मुकाम हासिल करने के लिए रुद्राक्ष धारण करना उपयोगी होता है. व्यक्ति कीर्ति एवं यश प्राप्त करता है. रुद्राक्ष वाणी को ओज प्रदान करता है तथा वाकपटुता हासिल होती है.

कोर्ट कचहरी तथा मुक़द्दमों से मुक्ति दिलाता रुद्राकक्ष
कोर्ट कचहरी के मामलों में फँसे लोगों के लिए रुद्राक्ष अचूक उपाय है. सात मुखी अथवा ग्यारह मुखी रुद्राक्ष धारण करने से इन सभी मुसीबतों से मुक्ति मिलती है.

रुद्राक्ष शनि दोष निवारण हेतु
जो व्यक्ति शनि की साढेसाती, शनि की ढैया या शनि की महादशा से प्रभावित हैं उनके लिए रुद्राक्ष एक बेहद उपयोगी रत्न है.

रुद्राक्ष अपने समस्त रुपों में बहुत फ़ायदेमंद होता है यह वातावरण को पवित्र करके चारों ओर शुभदायक फल प्रदान करता है. इसके शुभ कारक रुप मे हम रुद्राक्ष को विभिन्न प्रकार से उपयोग में ला सकते हैं।

Post a Comment

0 Comments