खेसारी लाल यादव ने दिखाई दरियादिली मुजफ्फरपुर में इंसेफ्लाइटिस पीडितों को हर रोज देंगे 100 क्विंटल ग्‍लूकोज

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में हर रोज चमकी बुखार (इंसेफ्लाइटिस) से मरने वालों बच्‍चों की संख्‍या कम नहीं रही है, जिस पर पूरे देश की नजर है। लेकिन इसी बीच भोजपुरी सिनेमा के सुपर स्‍टार खेसारीलाल यादव इस परेशानी में फंसे मुजफ्फरपुर के लोगों की सहायता के लिए आगे आये हैं। खेसारीलाल यादव ने मुजफ्फरपुर में इंसेफ्लाइटिस पीडितों को हर रोज 100 क्विंटल ग्‍लूकोज देने की बात कही है। इससे पहले आज उन्‍होंने मुजफ्फरपुर में एसकेएमसीएच अस्‍पताल में जाकर स्थिति का जायजा लिया। इस दौरान उन्‍होंने डॉक्‍टरों से भी बात की।

अस्‍पताल से निकलने के बाद रूंधे गले खेसारीलाल यादव ने कहा कि अपने आंखों के सामने बच्‍चों को तड़प – तड़प कर मरते देखना, किसी भी मां बाप के लिए कितना कष्‍टकारी होगा, ये वही समझ सकते हैं। मुझसे अस्‍पताल में भर्ती बच्‍चों की पीड़ा देखी नहीं गई। सच में स्थित बेहद भयावह है। इस बीमारी से जो बच्‍चे अब तक मर चुके हैं, हम उनके परिजनों के लिए दुख में दुखी हैं और उनके लिए हमारी गहरी संवेदनाएं हैं। और जो बच्‍चे अभी इस बीमारी से लड़ रहे हैं, उनकी सहायता के लिए 100 क्विंटल ग्‍लूकोज की व्‍यवस्‍था हमारे ओर से होगी। हम इंसानियत के नाते अन्‍य लोगों से भी अपील करते हैं कि वे भी इन बच्‍चों की मदद के लिए सामने आये। सरकारी व्‍यवस्‍था मासूमों का जान बचाने में विफल है। इसलिए हमें आगे आकर इनके लिए कुछ करना चाहिए।


बता दें कि सिनेमा और गूगल प्‍लेटफॉर्म पर स्‍टारडम का रूतबा रखने वाले खेसारीलाल यादव इंसानियत और अपने सामाजिक दायित्‍वों को भी बखूबी निभाते नजर आ जाते हैं। यही वजह है कि बा‍ढ़ या कोई अन्‍य आपदा जैसे स्थितियों में वे आम लोगों के मदद को आगे आते दिखे हैं। पिछले साल उन्‍होंने गुजरात में कुछ बिहारी बच्‍चों को गोद भी लिया था, जिसके जीवनयापन और शिक्षा का व्‍यवस्‍था खेसारीलाल यादव ने किया था।


Post a Comment

0 Comments