ऋषि पाल को विश्वविद्यालय द्वारा बेहतरीन प्रदर्शन करने पर एप्रिशिएट अवार्ड से सम्मानित किया

महेन्द्रगढ़ : प्रमोद बेवल

राजस्थान के नागौर जिले में आयोजित नेशनल साइंस टेक्नोफेयर में हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय महेंद्रगढ़ के विद्यार्थियों ने बेहतरीन प्रदर्शन कर विश्वविद्यालय का नाम रोशन किया ।

विश्वविद्यालय के नवप्रवर्तन, कौशलएवं उद्यमिता विकास केंद्र (सीआईएसईडी) के माध्यम से इस आयोजन में विश्वविद्यालय के छह विद्यार्थी शामिल हुए थे। फेयर में देश के विभिन्न 16 राज्यों से करीब 3000 विद्यार्थियों ने भाग लिया। फेयर में कॉलेज स्तर की श्रेणी में वर्किंग स्मार्ट व्हील चेयर एवं हाथ से बिजली बनाने के मॉडल के माध्यम से बी.वॉक के विद्यार्थी धनराज और प्रीति लांबा प्रथम स्थान मिला और उन्होंने अपनी इस सफलता के अंतर्गत स्वर्ण पदक अपने नाम किया ।

इसी तरह आयोजन की अन्य प्रतियोगिताओं में भी (हकेंवि) के विद्यार्थियों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया और बी.वॉक के अमित यादव ने टॉक शो में प्रथम स्थान एवं डिबेट में द्वितीय स्थान प्राप्त किया। इसी तरह छात्रा शिल्पा सिंह ने भी वाद-विवाद प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त किया और धीरज ने साइंस मॉडल मेकिंग में प्रथम स्थान प्राप्त किया।

विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर आर.सी. कुहाड ने विद्यार्थियों के इस प्रदर्शन के लिए उन्हें बधाई दी और उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना भी की। उन्होंने कहा कि पढ़ाई के साथ-साथ विद्यार्थियों की रूचि इस तरह की गतिविधियों में भी बनी रहनी चाहिए। यही वो माध्यम है जिनके परिणामस्वरूप विद्यार्थियों का सर्वांगीण विकास संभव हैं।

सीआईएसईडी के प्रमुख प्रोफेसर नवल किशोर व नवप्रवर्तक ऋषिपाल ने बताया कि यह आयोजन भारत सरकार के विज्ञान प्रसार नेटवर्क (वीआईपीएनईटी) एवं भविष्य नवप्रवर्तन प्रतिष्ठान के सामूहिक प्रयासों से आयोजित हुआ। इसमें विभिन्न संस्थानों के लिए आयोजित कार्यक्रम को मुख्य रूप से जे.जे.रावल (आईपीएस) मुंबई, भारत के नेशनल रिसर्च सेंटर के डायरेक्टर श्री सीएम नौटियाल एवं श्री किशन सहाय, डीआईजी राजस्थान ने मुख्य रूप से विद्यार्थियों को संबोधित किया। विश्वविद्यालय के कुलसचिव राम दत्त शर्मा ने विद्यार्थियों को शुभकामनाएं दी। 

विश्वविद्यालय के छात्र कल्याण अधिष्ठाता संजीव कुमार ने कहा कि इस प्रकार के कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए विश्वविद्यालय हर समय तैयार हैं और विद्यार्थियों की हरसंभव सहायता विश्वविद्यालय द्वारा की जाएगी। सेंटर के इनोवेटर ऋषि पाल को आयोजन के दौरान विश्वविद्यालय द्वारा बेहतरीन प्रदर्शन करने पर एप्रिशिएट अवार्ड से सम्मानित किया।

Post a Comment

0 Comments